पवन पुत्र हनुमान संजीवन बूटी ले आओ भजन लिरिक्स | Pawan Putra Hanuman Sanjivan Buti Le Aao Bhajan Lyrics

103

पवन पुत्र हनुमान संजीवन बूटी ले आओ भजन लिरिक्स

पवन पुत्र हनुमान संजीवन बूटी ले आओ भजन लिरिक्स, Pawan Putra Hanuman Sanjivan Buti Le Aao Bhajan Lyrics

।। दोहा ।।
हनुमत तेरी धाक से, धूजे लंका कोट।
पायक हो श्री राम के, पेरे लाल लंगोट।


~ संजीवन बूटी ले आओ ~

हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ।
संजीवन बूटी ले आओ ,
लक्मण के प्राण बचाओ।


मेघनाथ की बरछी से ,
मेरा भाई भू पर सोया।
मेरा धीरज छूटा जाए ,
होश हवाश है खोया।
मत देर करो हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


वैध को पूछ के आओ तुम ,
बूटी का पता लगाओ।
कौन से पर्वत पे है बूटी ,
पवन पुत्र तुम जाओ।
मेरा उर में धर के ध्यान ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


तेरी माता अंजनी से तुम ,
मेरा हाल सुनाओ।
लेकर के संजीवन बूटी ,
बेगा बेगा आओ।
ढलती जाती है शाम ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


सूरज उगने से पहले तुम ,
पवन पुत्र आ जाना।
अगर कही विपदा आय ,
मेरा नाम जुबा पर लाना।
तेरी रक्षा करे तेरा राम ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


एक तरफ तो सीता की ,
बैचेनी मुझ पर छाई।
कैसे अवध को लौटूंगा ,
यह रात गजब की ढाई।
उलझन में है तेरे राम ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


देख दशा रघुवीर की हनुमत ,
पल ना देर लगाए।
सूरज उगने से पहले ,
संजीवन बूटी लाए।
लक्मण के जागे प्राण ,
संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,
संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….


जरूर पढ़े :- लहर लहर लहराए रे झंडा बजरंगबली

जरूर पढ़े :- आज हनुमान जयंती है

Bajrang Bali Hindi Bhajan Lyrics

~ Sanjivan Buti Le Aao ~

He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.
sanjivan buti le aao,
laxman ke pran bachao.


meghnath ki barchhi se,
mera bhai bhu par soya.
mera dhiraj chhuta jaay,
hosh havash hai khoya.
mat der karo hanuman,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


Vaidh ko puch ke aao tum,
buti ka pata lagao.
kon se parvat pe hai buti,
pavan putra tum jao.
mera ur me dhar ke dhyan,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


teri mata anjani se tum ,
mera haal sunao.
lekar ke sanjivan buti,
bega bega aao.
dhalati jati hai sham ,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


suraj ugane se pahale tum,
pavan putra aa jana.
agar kahi vipada aay,
mera naam juba par lana.
teri raksha kare tera ram,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


ek taraf to sita ki ,
baicheni mujh par chhai.
kaise avadh ko lotunga,
yah rat gajab ki dhai.
ulajhan me hai tere ram,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


dekh dasha raghuvir ki hanumat,
pal na der lagai.
suraj ugane se pahle,
sanjivan buti laye.
laxman ke jage pran,
sanjivan buti le aao.
He pavanputra hanuman,
sanjivan buti le aao.


जरूर पढ़े :- तेरे जैसा राम भगत कोई

जरूर पढ़े :- आज मंगलवार है

बजरंगबली हिंदी भजन लिरिक्स भजन

~ संजीवन बूटी ले आओ ~

हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ।
संजीवन बूटी ले आओ ,लक्मण के प्राण बचाओ।

मेघनाथ की बरछी से ,मेरा भाई भू पर सोया।
मेरा धीरज छूटा जाए ,होश हवाश है खोया।
मत देर करो हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

वैध को पूछ के आओ तुम ,बूटी का पता लगाओ।
कौन से पर्वत पे है बूटी ,पवन पुत्र तुम जाओ।
मेरा उर में धर के ध्यान ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

तेरी माता अंजनी से तुम ,मेरा हाल सुनाओ।
लेकर के संजीवन बूटी ,बेगा बेगा आओ।
ढलती जाती है शाम ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

सूरज उगने से पहले तुम ,पवन पुत्र आ जाना।
अगर कही विपदा आय ,मेरा नाम जुबा पर लाना।
तेरी रक्षा करे तेरा राम ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

एक तरफ तो सीता की ,बैचेनी मुझ पर छाई।
कैसे अवध को लौटूंगा ,यह रात गजब की ढाई।
उलझन में है तेरे राम ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

देख दशा रघुवीर की हनुमत ,पल ना देर लगाए।
सूरज उगने से पहले ,संजीवन बूटी लाए।
लक्मण के जागे प्राण ,संजीवन बूटी ले आओ।
हे पवनपुत्र हनुमान ,संजीवन बूटी ले आओ। टेर। ….

मीनाक्षी मुकेश के भजन

भजन :- संजीवन बूटी ले आओ
गायिका :- मीनाक्षी मुकेश
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़े :- आना पवन कुमार हमारे हरी कीर्तन में

जरूर पढ़े :- पित्तरो का मन से तू ध्यान धर ले

पिछला लेखलहर लहर लहराए रे झंडा बजरंगबली का भजन लिरिक्स | lahar lahar lahraye re jhanda bajrangbali Bhajan Lyrics
अगला लेखमहावीर तुम्हारे द्वारे पर एक दास भिखारी आया है भजन लिरिक्स | Mahaveer Tumhare Dware Par Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × 2 =