साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Gurugam Pedo Nyaro Bhajan Lyrics

184

साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो भजन लिरिक्स

साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो भजन लिरिक्स, Sadhu Bhai Gurugam Pedo Nyaro Bhajan Lyrics, Nirguni Para Vani Bhajan Lyrics, निर्गुणी भजन परा वाणी भजन लिरिक्स,

।। दोहा ।।
यह तन विष की बेलरी, गुरु अमृत की खान ।
शीश दियो जो गुरु मिले, तो भी सस्ता जान ।


~ गुरुगम पेड़ो न्यारो ~

गुरु किरपा बिन सब जग सुतो ,
मिटे न घट अँधियारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो।


पग बिन पंथ गांव बिन गेलो ,
घर बणियो बिन गारो।
थिर बैठे तो पंथ कटेना ,
दोड्या लम्ब पसारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …


नैन बिना चौड़े पथ दिखे ,
देख्या होय अंधारो।
गुरुमुखी होय चले बिन पेरा ,
लांघे समंद अपारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …


देश सतगुरु का बासा ,
जा नहीं द्वैत लगारो।
बिन वाणी के सतगुरु बोले ,
समझे गुरुमुख प्यारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …


पंथ चले पंथी थिरे ऊबो ,
बिन चाले पाय किनारो।
पंगलो लाँघ गयो पल भर में ,
गुरु किरपा आधारों।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …


दूर नहीं नेडो निज निपटा ,
आंदो देय इशारो।
सिद्धनाथ निश्चल पद भूमा ,
सोऽहं घट उजियारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …


जरूर पढ़े :- साधु भाई धरु ध्यान अब कैसा 

जरूर पढ़े :-   क्यों बन रहा तू जीव भिखारी

Nirguni Para Vani Bhajan Lyrics

~ Sadhu Bhai Gurugam Pedo Nyaro ~

guru kirpa bin sab jag suto,
mite ne ghat andhiyaro.
sadhu bhai gurugam pedo nyaro.


pag bin panth ganv bin gelo,
ghar baniyo bin garo.
thir baithe to panth katena,
dodya lamb pasaro.
sadhu bhai gurugam pedo nyaro.


nain bina chode path dikhe,
dekhya hoy andharo.
gurumukhi hoy chale bin pera,
langhe samand aparo.
sadhu bhai gurugam pedo nyaro.


desh satguru ka basa,
ja nhi dwet lagaro.
bin vani ke satguru bole,
samjhe gurumukh pyaro.
sadhu bhai gurugam pedo nyaro.


panth chale panthi thire ubo,
bin chale pay kinaro.
pangalo langh gayo pal bhar me,
guru kirpa aadharo.
sadho bhai gurugam pedo nyaro.


dur nahi nedo nij nipta,
aando dey isharo.
sidhdhnath nishchal pad bhuma,
soham ghat ujiyaro.
sadho bhai gurugam pedo nyaro.


जरूर पढ़े :- राम भजन में हाल प्राणिया

जरूर पढ़े :- फकीरी खरदर खांडा की धार

निर्गुणी भजन परा वाणी भजन लिरिक्स

~ साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो ~

गुरु किरपा बिन सब जग सुतो ,मिटे न घट अँधियारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो।

पग बिन पंथ गांव बिन गेलो ,घर बणियो बिन गारो।
थिर बैठे तो पंथ कटेना ,दोड्या लम्ब पसारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …

नैन बिना चौड़े पथ दिखे ,देख्या होय अंधारो।
गुरुमुखी होय चले बिन पेरा ,लांघे समंद अपारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …

देश सतगुरु का बासा ,जा नहीं द्वैत लगारो।
बिन वाणी के सतगुरु बोले ,समझे गुरुमुख प्यारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …

पंथ चले पंथी थिरे ऊबो ,बिन चाले पाय किनारो।
पंगलो लाँघ गयो पल भर में ,गुरु किरपा आधारों।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …

दूर नहीं नेडो निज निपटा ,आंदो देय इशारो।
सिद्धनाथ निश्चल पद भूमा ,सोऽहं घट उजियारो।
साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो। टेर। …

भजन :- साधु भाई गुरुगम पेड़ो न्यारो
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़े :- रंग रंग रा फूल खिलेला 

जरूर पढ़े :- फकीरी रण में हो होशियार

पिछला लेखसाधु भाई धरु ध्यान अब कैसा भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Dharu Dhyan Ab Kaisa Bhajan Lyrics
अगला लेखसाधु भाई मरियो मौज करे रे भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Mariyo Moj Kare Re Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

two × one =