साधु भाई निर्भय रूप हमारा भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Nirbhay Rup Hamara Bhajan Lyrics

507

साधु भाई निर्भय रूप हमारा भजन लिरिक्स

साधु भाई निर्भय रूप हमारा भजन लिरिक्स, Sadhu Bhai Nirbhay Rup Hamara Satguru Chetavani bhajan Lyrics

।। दोहा ।।
आछे दिन पाछे गए, गुरु सों किया न हेत।
अब पछतावा क्या करै, चिड़ियाँ चुग गईं खेत॥


~ निर्भय रूप हमारा ~

हु सब माहि लिपु नहीं किसमें ,
जल कमल निराधारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा।


मन बुद्धि पावे नहीं मुझको ,
में सबका जाननहारा।
तीन शरीर पांच कोस से न्यारा ,
नित्य निर्गुण निराकारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …


दृश्य दुष्टा का में हु साक्षी ,
भाव अभाव से न्यारा।
कर्ता कर्म मुझमे नाही ,
पिण्ड ब्रह्माण्ड से पारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …


जाग्रत स्वप्न सुषोपत तुर्या ,
माया प्रपंच विचारा।
मेरा अनुभव में ही जाणु ,
में कथनी से न्यारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …


गणपतराम तो सतगुरु देवा ,
निर्गुण रूप अपारा।
दिनेश राम है नाही दूजा ,
सत्य शब्द पुकारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …


जरूर पढ़े :- साधु भाई मेरा देश दीवाना

जरूर पढ़े :- आवो नी पधारो म्हारा किशन कन्हैया

Satguru Chetavani bhajan Lyrics

~ Sadhu Bhai Nirbhay Rup Hamara ~

hu sab mahi lipu nhi kisame ,
jal kamal niradhara.
sadhu bhai nirbhay rup hamara.


man budhdhi pave nhi mujhko,
me sabka jaannahara.
teen sarir panch kos se nyara,
nitye nirgun nirakara.
sadhu bhai nirbhay rup hamara.


drishy dushta ka me hu sakshi,
bhav abhav se nyara.
karta karm mujhme nahi,
pind brahamand se para.
sadhu bhai nirbhay rup hamara.


jagrat swapan sushopat turya,
maya prachand vichara.
mera anuvhav me hi janu,
me kathani se nyara.
sadhu bhai nirbhay roop hamara.


ganpatram to satguru deva,
nirgun rup apara.
dinesh ram hai nahi duja,
satye shabad pukara.
sadhu bhai nirbhay roop hamara.


जरूर पढ़े :- काया कैसे रोई तज दिना प्राण

जरूर पढ़े :- कालो गणों रुपालो रे गढ़बोरिया वालो

सतगुरु चेतावनी भजन लिरिक्स

~ साधु भाई निर्भय रूप हमारा ~

हु सब माहि लिपु नहीं किसमें ,जल कमल निराधारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा।

मन बुद्धि पावे नहीं मुझको ,में सबका जाननहारा।
तीन शरीर पांच कोस से न्यारा ,नित्य निर्गुण निराकारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …

दृश्य दुष्टा का में हु साक्षी ,भाव अभाव से न्यारा।
कर्ता कर्म मुझमे नाही ,पिण्ड ब्रह्माण्ड से पारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …

जाग्रत स्वप्न सुषोपत तुर्या ,माया प्रपंच विचारा।
मेरा अनुभव में ही जाणु ,में कथनी से न्यारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …

गणपतराम तो सतगुरु देवा ,निर्गुण रूप अपारा।
दिनेश राम है नाही दूजा ,सत्य शब्द पुकारा।
साधु भाई निर्भय रूप हमारा। टेर। …

Dhanraj Joshi Bhajan Lyrics

भजन :- साधु भाई निर्भय रूप हमारा।
गायक :- धनराज जोशी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़े :- मैं तो दर्शन करबा आयो

जरूर पढ़े :- मै हूं पूर्ण ब्रह्म अनादि

पिछला लेखसाधु भाई मेरा देश दीवाना भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Mera Desh Deewana Bhajan Lyrics
अगला लेखहेली ये मान वचन सत मेरो भजन लिरिक्स | Heli Ye Man Vachan Sat Mero Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

three × five =