काई थारे पग मे काटो भागियो भजन हिन्दी लिरिक्स | Kai Thare Pag Me Kato Bhagiyo Bhajan Lyrics

3141

काई थारे पग मे काटो भागियो भजन हिन्दी लिरिक्स

काई थारे पग मे काटो भागियो भजन हिन्दी लिरिक्स, Kai Thare Pag Me Kato Bhagiyo Bhajan Lyrics

~ हाथ जोड़ने करू विनती ~

हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय,
ए मारी चामुंडा ए माय।
राखो थे बालूड़ा री लाज,
मावड़ी ये भवानी।
राखो थे भगता री लाज,
मावड़ी ये माँ।।


माँ ने तो भावे माता चूरमो,
ये मारी जगदम्बे माय।
लागे थारे लाडूड़ा रो भोग,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


काई सुता वो सुखभर नींद में,
मारी नागणेशी माय,
ए मारी चामुंडा ये माय।
कांई थारे काना छायो बेर,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


काजल टिकी सोवे चुड़लो ये,
मारी जगदम्बे मां ,
ए मारी आवरा ये माय।
सोवे थाने सोलह सिंगार,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


कांई थारे पग में कांटो भागियो,
ये मारी जगदम्बे माय,
ए मारी चामुंडा ये माय।
कतोड़े लगाई अतरी देर,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


कोई शक्ति रा थे हो अवतार,
मारी आवरा ये माय,
ए मारी जोगणी ये माय।
आया मै थारोड़े दरबार,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


आउ जगदम्बा माऊ धोगवा,
कोई नवराता रे माय।
परचा थे देवो हाथु हाथ,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


मारी परभारी सुनजो विनती,
ये मारी चामुंडा माय।
राखो थे बालूड़ा री लाज,
मावड़ी ये भवानी।
राखो थे भगता री लाज,
मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय। टेर। …


जरूर देखे :- आजा तेजल आजा गौ माता रा राजा

जरूर देखे :- लीलन प्यारी तेजाजी महाराज 

Jagdamba Mata JI bhajan lyrics

~ Kai Thare Pag Me Kato Bhagiyo ~

Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay,
ai mari chamunda ai maay.
rakho the baluda ri laaj,
mavadi ye bhavani.
rakho the bhagta ri laaj,
mavadi ye maa.


ma ne to bhave mata churmo,
ye mari jagadambe maay.
lage thare laduda ro bhog,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


kaai suta vo sukhbhar nind me,
mari nagneshi maay,
ai mari chamunda ye maay.
kai thare kana chayo ber,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


kajal tiki sove chudlo ye,
mari jagdambe ma.
ai mari aavra ye maay.
sove thane solah singar,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


kai thare pag me kato bhagiyo,
ye mari jagadambe maay,
ai mari chamunda ye maay.
katode lagai atari der,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


koi shakti ra the ho avtara,
mari aavra ye maay,
ai mari jogani ye maay.
aaya me tharode darbar,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


aau jagdaba maau ghogva,
koi navrata re maay,
parcha the devo hathu hath ,
mavadi ye.
Hath Jod Ne Karu Vinati,
mari jagdamba maay .


mari parbhari sunjo vinati,
ye mari chamunda maay.
rakho the baluda ri laj,
mavadi ye bhavani.
rakho the bhagta ri laaj,
mavadi ye.
Hath Jod ne Karu Vinati


जरूर देखे :- साधो भाई सत्संग भाव समाई

जरूर देखे :- साधु भाई सतसंग सत जाणी

माता रानी के भजन लिखित में

~ काई थारे पग मे काटो भागियो ~

हाथ जोड़ने करू विनती,
मारी जगदम्बा माय,ए मारी चामुंडा ए माय।
राखो थे बालूड़ा री लाज,मावड़ी ये भवानी।
राखो थे भगता री लाज,मावड़ी ये माँ।।

माँ ने तो भावे माता चूरमो,ये मारी जगदम्बे माय।
लागे थारे लाडूड़ा रो भोग,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

काई सुता वो सुखभर नींद में,
मारी नागणेशी माय,ए मारी चामुंडा ये माय।
कांई थारे काना छायो बेर,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

काजल टिकी सोवे चुड़लो ये,
मारी जगदम्बे मां ,ए मारी आवारा ये माय।
सोवे थाने सोलह सिंगार,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

कांई थारे पग में कांटो भागियो,
ये मारी जगदम्बे माय,ए मारी चामुंडा ये माय।
कतोड़े लगाई अतरी देर,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

कोई शक्ति रा थे हो अवतार,
मारी आवरा ये माय,ए मारी जोगणी ये माय।
आया मै थारोड़े दरबार,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

आउ जगदम्बा माऊ धोगवा,कोई नवराता रे माय।
परचा थे देवो हाथु हाथ,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

मारी परभारी सुनजो विनती,ये मारी चामुंडा माय।
राखो थे बालूड़ा री लाज,मावड़ी ये भवानी।
राखो थे भगता री लाज,मावड़ी ये।।
हाथ जोड़ने करू विनती,मारी जगदम्बा माय। टेर। …

akriti mishra bhajan lyrics

भजन :- हाथ जोड़ने करू विनती
गायिका :- आकृति मिश्रा
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- मन रे सत्संग आनंद पाई 

जरूर देखे :- हरिजी म्हारी सुण लीजो अभिलाषा

पिछला लेखआजा तेजल आजा गौ माता रा राजा भजन लिरिक्स | Aaja Tejal Aaja Gomata Ra Raja Bhajan Lyrics
अगला लेखसाधो भाई सतसंग मोक्ष द्वारा भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Satsang Moksh Dwara Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

five × 5 =