म्हारा सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया भजन लिरिक्स | Mhara Satguru Aaya Dwar Bhai Rang Raliya Bhajan Lyrics

1614

म्हारा सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया भजन लिरिक्स

म्हारा सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया भजन लिरिक्स, Mhara Satguru Aaya Dwar Bhai Rang Raliya Bhajan Lyrics

।। दोहा ।।
सतगुरु दिवो नाम रो, और क्या जाने संसार।
गिरत सिंचाओ प्रेम रा, उतरो भव जल पार।


~ सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया ~

म्हारा सतगुरु आया द्वार ,
भई रंग रलिया।
म्हारो दिनों जनम सुधार ,
गुड़ बाटू डलिया।


में बोहारु नगर बाजार ,
साफ करू गलिया।
ज्यारे गद्दा देऊ बिछाय ,
जाजम ढलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,
भई रंग रलिया। टेर। …


चोखा चांवल रंदाउ ,
खीर और पुड़िया।
ज्याने देऊ शक्कर मिलाय ,
घी डालू पलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,
भई रंग रलिया। टेर। …


तीमण तीस बत्तीस ,
करू सारणीया।
थे जीमो भुजा पसार ,
कंचन वाली थलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,
भई रंग रलिया। टेर। …


ज्यो कोयलिया सुख पाय ,
आम यु फलिया।
ओ दानो करे पुकार ,
चम्पा की कलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,
भई रंग रलिया। टेर। …


जरूर देखे :- सिमरु गणपत देव पधारो

जरूर देखे :- साधो भाई गणपत ध्यान लगाया

satguru mahima ke bhajan Lyrics In hindi

~ Mhara Satguru Aaya Dwar Bhai Rang Raliya ~

mhara satguru aaya dwar,
bhai rang raliya.
mharo dino janam sudhar,
gud batu daliya.


me boharu nagar bajar,
saf karu galiya.
jyare dadda deu bichay,
jajam dhaliya.
mhara satguru aaya dwar,
bhai rang raliya.


chokha chaval radau,
kheer or pudiya.
jyane deu shakkar milay,
ghi dalu paliya.
mhara satguru aaya dwar,
bhai rang raliya.


timan tees battis,
karu sarniya.
the jimo bhuja pasar,
kanchan wali thaliya.
mhara satguru aaya dwar,
bhai rang raliya.


jyo koyliya sukh pay,
aam yu faliya.
o dano kare pukar,
champa ki kaliya.
mhara satguru aaya dwar,
bhai rang raliya.


जरूर देखे :- साधु भाई हरिजन हर कुण ध्याता

जरूर देखे :- जाए वन में हरी ने कुटिया बनाई 

सतगुरु भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ म्हारा सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया ~

म्हारा सतगुरु आया द्वार ,भई रंग रलिया।
म्हारो दिनों जनम सुधार ,गुड़ बाटू डलिया।

में बोहारु नगर बाजार ,साफ करू गलिया।
ज्यारे गद्दा देऊ बिछाय ,जाजम ढलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,भई रंग रलिया। टेर। …

चोखा चांवल रंदाउ ,खीर और पुड़िया।
ज्याने देऊ शक्कर मिलाय ,घी डालू पलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,भई रंग रलिया। टेर। …

तीमण तीस बत्तीस ,करू सारणीया।
थे जीमो भुजा पसार ,कंचन वाली थलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,भई रंग रलिया। टेर। …

ज्यो कोयलिया सुख पाय ,आम यु फलिया।
ओ दानो करे पुकार ,चम्पा की कलिया।
म्हारा सतगुरु आया द्वार ,भई रंग रलिया। टेर। …

shankar das ji maharaj bhajan

भजन : – सतगुरु आया द्वार भई रंग रलिया
गायक :- शंकर दास जी महाराज
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- जागो रे बस्ती रा लोगो

जरूर देखे :-  भला किसी का कर ना सको

पिछला लेखसिमरु गणपत देव पधारो भजन लिरिक्स | Simru Ganpat Dev padharo Bhajan Lyrics
अगला लेखसतगुरु आवो मारे आंगणिये भजन लिरिक्स | Satguru Aavo Mare Aanganiye Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

13 − 10 =