आरती कीजे श्री रघुवर जी की आरती लिरिक्स | Aarti Kije Shri Raghuvar Ji Ki Lyrics

301

आरती कीजे श्री रघुवर जी की आरती लिरिक्स

आरती कीजे श्री रघुवर जी की आरती लिरिक्स, Aarti Kije Shri Raghuvar Ji Ki Lyrics

~ आरती कीजे श्री रघुवर की ~

आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की।


राम रमैया अंतर्यामी ,
मर्यादा पुरुषोत्तम स्वामी।
राम नमामि राम नमामि ,
सुर मुनि रक्षक करुणा कर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….


जगपति सुरपति दीनदयाला ,
दुःख भय भंजन है सुखपाला।
है जगवन्दित रघुवर माला ,
सत चित आनंद शिव सुन्दर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….


संत विराजे जानकी माई ,
थाए संग में तीनो भाई।
अधभुत शोभा वरणी ना जाई ,
विश्व विधाता प्रभु सुखवर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….


सगुण रूप प्रकटे अविनाशी ,
मंगलमय प्रभु शुभ सुख राशि।
कर दर्शन कटे लख चौरासी ,
शरणागत वत्सल ईश्वर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….


ऐसी आरती की हनुमाना ,
शरण होय के आप भुलाना।
सियाराम मय जग पहचाना ,
रघुपति राघव हरी हितकर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,
दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….


जरूर देखे :- श्री चारभुजा नाथ जी की आरती

जरूर देखे :- ॐ नमस्कार गुरुसा बारम्बारा खेतेश्वर

shri ram ji aarti lyrics

~ Aarti Kije Shri Raghuvar Ji Ki ~

Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


ram ramaiya antaryami,
maryada purushottam swami.
ram namami ram namami,
sur muni rakashak karuna kar ki.
Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


jagpati surpati dindayala,
dukh bhay bhanjan hai sukhpala.
hai jagvandit raghuvar mala,
sat chit aanand shiv sundar ki.
Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


sant viraje janki mai,
thai sang me teeno bhai.
adhbhut shobha varani na jai,
vishv vidhata prabhu sukhvar ki.
Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


sagun rup prakte avinashi,
mangalmay prabhu subh sukh rashi.
kar darshan kate lakh chorasi,
sharnagat vatsal ishwar ki.
Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


aisi aarti ki hanumana,
sharan hoy ke aap bhulana.
siyaram may jag pahchan,
raghupati raghav hari hitkar ki.
Aarti kije shri raghuvar ki,
dasharath nandan seetavar ki.


जरूर देखे :- नाथ निरंजन आरती साजै

जरूर देखे :-  गुरु जम्भेश्वर जी की आरती

श्री राम जी की आरती लिरिक्स

~ आरती कीजे श्री रघुवर जी की ~

आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की।

राम रमैया अंतर्यामी ,मर्यादा पुरुषोत्तम स्वामी।
राम नमामि राम नमामि ,सुर मुनि रक्षक करुणा कर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….

जगपति सुरपति दीनदयाला ,दुःख भय भंजन है सुखपाला।
है जगवन्दित रघुवर माला ,सत चित आनंद शिव सुन्दर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….

संत विराजे जानकी माई ,थाए संग में तीनो भाई।
अधभुत शोभा वरणी ना जाई ,विश्व विधाता प्रभु सुखवर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….

सगुण रूप प्रकटे अविनाशी ,मंगलमय प्रभु शुभ सुख राशि।
कर दर्शन कटे लख चौरासी ,शरणागत वत्सल ईश्वर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….

ऐसी आरती की हनुमाना ,शरण होय के आप भुलाना।
सियाराम मय जग पहचाना ,रघुपति राघव हरी हितकर की।
आरती कीजे श्री रघुवर की ,दशरथ नंदन सीता वर की। टेर। ….

hari om sharan ke bhajan

आरती :- आरती कीजे श्री रघुवर की
स्वर :- हरी ॐ सारण, नंदिनी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- जाए वन में हरी ने कुटिया बनाई

जरूर देखे :- जागो रे बस्ती रा लोगो

पिछला लेखश्री चारभुजा नाथ जी की आरती लिरिक्स | Om Jai Charbhuja Dhari Aarti Lyrics
अगला लेखसाधु भाई हरिजन हर कुण ध्याता भजन लिरिक्स | Sadhu Bhai Harijan Har Kun Dhyata Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × 3 =