पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण भजन लिरिक्स | Piyaji Laga Hai Shabdo Ra Ban Bhajan Lyrics

312

पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण भजन लिरिक्स

पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण भजन लिरिक्स, Piyaji Laga Hai Shabdo Ra Ban brahmani ke bhajan lyrics

।। दोहा ।।
कबीरा खड़ा बाजार में, सब की मांगे खेर।
ना कहु से दोस्ती, और ना कहु से बेर।


~ पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण ~

सतगुरु मिले सुजाण ,
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण।


प्रीत कीवी पिया आपसे ,
वरजे लोग अजाण।
कहो पिया में कैसे सहु रे ,
प्रीत तजु के प्राण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….


कद परणी पिव पावसी ,
कद प्रगटे मोहि भाण।
घडी घडी में लेऊ रे वारणा ,
तन मन करू कुरबान।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….


में अबला कछु नहीं जाणु ,
थे हो चतुर सुजान।
अंदर तीर इश्क रा लागा ,
केडा करू बखाण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….


अरश परश होई दरश दिखा दो ,
मेटो खेचाताण।
सिमरथ दासी आपरी रे ,
अब लेवो माहि जाण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….


जरूर देखे :- फकीरी चालणो खाण्डा री धार 

जरूर देखे :-  फकीरी कायर सु नहीं होय

brahmani ke bhajan lyrics

~ Piyaji Laga Hai Shabdo Ra Ban ~

satguru mile sujan,
piyaji laga he shabdo ra ban.


preet kivi piya aapse,
varje log ajan.
kaho piya me kaise sahu re,
preet taju ke pran.
piyaji laga he shabdo ra ban.


kad parni piv pavsi,
kad pragate mohi bhan.
ghadi ghadi me leu re varna,
tan man karu kurban.
piyaji laga he shabdo ra ban.


me abla kachu nhi janu,
the ho chatur sujan.
andar teer ishk ra laga,
keda karu bakhan .
piyaji laga he shabdo ra ban.


arash parash hoi darash dikha do,
meto khechatan.
simarath dasi aapri re,
ab lovo mahi jan.
piyaji laga he shabdo ra ban.


जरूर देखे :- फकीरी मन मारे सो ही शुर

जरूर देखे :- फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर

ब्रेहनी भजन लिरिक्स

~ पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण ~

सतगुरु मिले सुजाण ,
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण।

प्रीत कीवी पिया आपसे ,वरजे लोग अजाण।
कहो पिया में कैसे सहु रे ,प्रीत तजु के प्राण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….

कद परणी पिव पावसी ,कद प्रगटे मोहि भाण।
घडी घडी में लेऊ रे वारणा ,तन मन करू कुरबान।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….

में अबला कछु नहीं जाणु ,थे हो चतुर सुजान।
अंदर तीर इश्क रा लागा ,केडा करू बखाण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….

अरश परश होई दरश दिखा दो ,मेटो खेचाताण।
सिमरथ दासी आपरी रे ,अब लेवो माहि जाण।
पियाजी , लागा है शब्दों रा बाण। टेर। ….

भजन :- पियाजी लागा हे शब्दो रा बाण
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- लोक लाज दीन्ही खोय फकीरी

जरूर देखे :- संत पधारे पांवणा म्हारी हेली

पिछला लेखफकीरी चालणो खाण्डा री धार भजन लिरिक्स | Fakiri Chalno Khanda Ri Dhaar Bhajan Lyrics
अगला लेखपियाजी रही रात दिन रोय भजन लिरिक्स | Piyaji Rahi Raat Din Roy bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

11 + twenty =