फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर भजन लिरिक्स | Fakiri Laga Nhi Shabdo Ra Teer Bhajan Lyrics

348

फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर भजन लिरिक्स

फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर भजन लिरिक्स, Fakiri Laga Nhi Shabdo Ra Teer Bhajan Lyrics, fakiri song lyrics

।। दोहा ।।
अलख भरोसे उकले, आधाण ईशरदास।
उकलया में ओरसी, कोई बड़ो भगत विश्वास।


~ फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर ~

जिण रे बाण लागा गुरुगम रा ,
मार लियो मन मीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर।


आठो ही पोहर ओ दुनिया ने लुटे ,
सुख भोगे ओ शरीर।
आठो ही पहर माया में हारे ,
बन बैठो पांचो पीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….


भगवा रंगिया ने मन नहीं रंगिया रे ,
छूट रयो सब सिर।
ओ घर त्याग बहु घर झेल्या ,
नहीं बुद्धि नहीं धीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….


भीतर में रे भरम रा कीड़ा रे ,
बहार होयो फ़क़ीर।
ए तो हाल फकीरो रा झूठा ,
संतो कर दो झीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….


धन सुखराम मिल्या गुरु पूरा ,
जोगी मस्त फ़क़ीर।
मस्त दीवाना ज्या रे लागे नहीं बाना ,
ईशर रहत सधीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….


जरूर देखे :- लोक लाज दीन्ही खोय फकीरी

जरूर देखे :- संत पधारे पांवणा म्हारी हेली

fakiri song lyrics in hindi

~ Fakiri Laga Nhi Shabdo Ra Teer ~

Jin re ban laga gurugam ra ,
mar liyo man meer.
fakiri laga nahi shabdo ra teer.


Aatho hi pohar o Duniya ne lute,
sukh bhoge o sharir.
aatho hi pahar maya me hare ,
ban baitho pancho peer.
Fakiri, laga nahi shabdo ra teer.


bhagwa rangiya ne man nhi rangiya re,
chut rayo sab seer.
o ghar tyag bahu ghar jhelya,
nhi budhdhi nhi dheer.
Fakiri, laga nhi shabdo ra teer.


Bhitar me re bharam ra kida re ,
bahar hoyo fakir.
e to hal faikiro ra jhutha,
santo kar do jheer.
Fakiri, laga nhi shabdo ra teer.


dhan sukhram milya guru pura,
jogi mast fakir.
mast diwana jya re lag nahi bana,
ishar rahat sadhir.
Fakiri, laga nhi shabdo ra teer.


जरूर देखे :- सुकरत फूल गुलाब रो मारी हेली

जरूर देखे :-  कटे सूती ने कटे आण खड़ी

जोग फकीरी का भजन लिरिक्स

~ फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर ~

जिण रे बाण लागा गुरुगम रा ,मार लियो मन मीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर।

आठो ही पोहर ओ दुनिया ने लुटे ,सुख भोगे ओ शरीर।
आठो ही पहर माया में हारे ,बन बैठो पांचो पीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….

भगवा रंगिया ने मन नहीं रंगिया रे ,छूट रयो सब सिर।
ओ घर त्याग बहु घर झेल्या ,नहीं बुद्धि नहीं धीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….

भीतर में रे भरम रा कीड़ा रे ,बहार होयो फ़क़ीर।
ए तो हाल फकीरो रा झूठा ,संतो कर दो झीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….

धन सुखराम मिल्या गुरु पूरा ,जोगी मस्त फ़क़ीर।
मस्त दीवाना ज्या रे लागे नहीं बाना ,ईशर रहत सधीर।
फकीरी, लागा नहीं शब्दों रा तीर। टेर। ….

shyam das vaishnav ke bhajan

भजन :- फकीरी लागा नहीं शब्दों रा तीर
गायक :- श्याम दास वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- हेली म्हारी चालो गुरांसा रे देश

जरूर देखे :- हेली धन रे घडी रो मोटो भाग

पिछला लेखलोक लाज दीन्ही खोय फकीरी भजन लिरिक्स | Lok Laaj Sab Khoi Fakiri Bhajan Lyrics
अगला लेखफकीरी मन मारे सो ही शुर भजन लिरिक्स | Fakiri Man Mare So Hi Shur bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

19 − 7 =