हेली म्हारी चालो गुरांसा रे देश भजन लिरिक्स | Chalo Gurasa Re Desh Me Mhari Heli Bhajan Lyrics

2311

हेली म्हारी चालो गुरांसा रे देश भजन लिरिक्स

हेली म्हारी चालो गुरांसा रे देश भजन लिरिक्स, Chalo Gurasa Re Desh Me Mhari Heli Bhajan Lyrics

।। दोहा ।।
सतगुरु आवत देखिया, कांधे टांग बन्दुक।
गोली दागी हरी नाम री, भाग गया जम दूत।


~ चालो गुरूसा रे देश में ~

चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार।


उलझ रही फंद रास में म्हारी हेली ,
लागे कर्मा रा जाळ।
नाम बिना छूटे नहीं म्हारी हेली ,
राखो भजन री सार।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार। टेर। ….


काया कागज़ की पुतली म्हारी हेली ,
छांट लगे गल जाय।
पवन डोरा में पोय ले म्हारी हेली ,
दिन दो नाच नचाय।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार। टेर। ….


अधर मेहला में खेलणो म्हारी हेली ,
अड़ा उड़द रे बिच।
पियो प्याला निज नाम का म्हारी हेली ,
कट जाए कर्मा का कीच।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार। टेर। ….


अमर बिन्द को चुड़लो म्हारी हेली ,
पहरे सुहागण नार।
सतगुरु री दासी बन जाऊ म्हारी हेली ,
कर दे भव सिंधु पार।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार। टेर। ….


धिन सुखराम गुरु भेटिया म्हारी हेली ,
दिनी तोय समझाय।
ईसरदास घट खोजिया म्हारी हेली ,
लिया आपा में थाय।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,
चरण कमल चित धार। टेर। ….


जरूर देखे :- हेली धन रे घडी रो मोटो भाग

जरूर देखे :- अब तो सारा दु:ख भूलगी

rajasthani heli bhajan lyrics

~ Chalo Gurasa Re Desh Me Mhari Heli ~

Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


ulajh rahi fand ras me mhari heli,
lage karma ra jal.
nam bina chute nhi mhari heli,
rakho bhajan ri sar.
Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


kaya kagaj ki putli mhari heli,
chhant lage gal jay.
pavan dora me poy le mhari heli,
din do nach nachay.
Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


adhar mehla me khelno mhari heli,
ada udad re bich.
piyo pyala nij nam ka mhari heli,
kat jay karma ka kich.
Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


amar bind ko chudlo mhari heli,
pahre suhagan nar.
satguru ri dasi ban jau mhari heli,
kar de bhav sindhu par.
Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


dhin sukhram guru bhetiya mhari heli,
dini toy samjhay.
ishwardas ghat khojiya mhari heli,
liya aapa me thay.
Chalo Gurusa re desh me mhari heli,
charan kamal chit dhar.


जरूर देखे :- मैं तो पुरबिया पूरब देश रो

जरूर देखे :- हेली एक दिन मिन्दर में आव

हेली मारी भजन लिरिक्स

~ चालो गुरूसा रे देश में ~

चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार।

उलझ रही फंद रास में म्हारी हेली ,लागे कर्मा रा जाळ।
नाम बिना छूटे नहीं म्हारी हेली ,राखो भजन री सार।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार। टेर। ….

काया कागज़ की पुतली म्हारी हेली ,छांट लगे गल जाय।
पवन डोरा में पोय ले म्हारी हेली ,दिन दो नाच नचाय।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार। टेर। ….

अधर मेहला में खेलणो म्हारी हेली ,अड़ा उड़द रे बिच।
पियो प्याला निज नाम का म्हारी हेली ,कट जाए कर्मा का कीच।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार। टेर। ….

अमर बिन्द को चुड़लो म्हारी हेली ,पहरे सुहागण नार।
सतगुरु री दासी बन जाऊ म्हारी हेली ,कर दे भव सिंधु पार।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार। टेर। ….

धिन सुखराम गुरु भेटिया म्हारी हेली ,दिनी तोय समझाय।
ईसरदास घट खोजिया म्हारी हेली ,लिया आपा में थाय।
चालो गुरूसा रे देश में म्हारी हेली ,चरण कमल चित धार। टेर। ….

संत नैनी बाई के भजन

भजन :- चालो गुरूसा रे देश में
गायिका :- संत नैनी बाई
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- चलो गुरुजी का देश मारी हेली

जरूर देखे :- हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण

पिछला लेखहेली धन रे घडी रो मोटो भाग भजन लिरिक्स | Heli Dhan Re Ghadi Ro Moto Bhag Bhajan Lyrics
अगला लेखकटे सूती ने कटे आण खड़ी भजन लिरिक्स | Kathe Ne Suti Kathe Aan Khadi Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × five =