हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण भजन लिरिक्स | Heli E ghar Me Motida Ri Khan Bhajan Lyrics

595

हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण भजन लिरिक्स

हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण भजन लिरिक्स, Heli E ghar Me Motida Ri Khan heli bhajan lyrics

।। दोहा ।।
सुता सुता क्या करो, सुता ने आवे नींद।
काल सिराने यु खड़ो, ज्यू तोरण आयो बिन्द।


~ हेली ए घर में मोतीड़ा री खान ~

हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो।
हेली ए सतगुरु खोज्या है सुजान ,
सहजे सहजे सुख पावो।


हेली इ परसे आतम दीदार ,
रूप निज ओलखो।
हेली ए परस्या मिटे दुःख जाल ,
आतम सुख परखलो।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….


हेली ए कर दो भरमान ने चूर ,
आनंद जद आवसी।
हेली ए परसो आतम राम ,
जदे ही सुख पावसी।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….


हेली ए पूजा नई पत्थर अनेक ,
देवळ नित धोखिए।
हेली ए नहीं मिले अपनों श्याम ,
भला ही भट झोखिए।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….


हेली ए मल विक्षपे मिटाय ,
आवरण अलगो करे।
हेली ए झिलमिल झलके जोत ,
सहजे पीव मिले।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….


हेली ए देवनाथ गुरुदेव ,
नित समझावे है।
हेली ए मानसिंह कहे मान ,
तो दुःख मिट जावे है।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,
बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….


जरूर देखे :- हेली चाले तो हरी मिल जाए

जरूर देखे :- चाले तो ले चालूं उण देश 

heli bhajan lyrics in hindi

~ Heli E ghar Me Motida Ri Khan ~

heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.
heli a stguru khojya hai sujan,
sahje sahje sukh pavo.


heli a parse aatam didar,
rup nij olakho.
heli a parsya mite dukh jal,
aatam sukh parakhalo.
heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.


heli a kar do bharmana ne chur,
aanand jad aavsi.
heli a parso aatam ram,
jade hi sukh pavsi.
heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.


heli a puja nai pathar anek,
deval nit dhokhiye.
heli a nhi mile apno shyam,
bhala hi bhat jhokhiye.
heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.


heli a mal vikshpe mitay,
aavaran algo kare.
heli a jhilmil jhalke jot,
sahje peev mile.
heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.


heli a devnath gurudev ,
nit samjhave hai.
heli a mansingh kahe maan,
to dukh mit jave hai.
heli a ghar me motida ri khan,
bahir ab kyu javo.


जरूर देखे :- औलाद की खातिर इंसा

जरूर देखे :-  इतनी शक्ति हमें देना दाता

हेली मारी भजन लिरिक्स

~ हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ~

हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो।
हेली ए सतगुरु खोज्या है सुजान ,सहजे सहजे सुख पावो।

हेली इ परसे आतम दीदार ,रूप निज ओलखो।
हेली ए परस्या मिटे दुःख जाल ,आतम सुख परखलो।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….

हेली ए कर दो भरमान ने चूर ,आनंद जद आवसी।
हेली ए परसो आतम राम ,जदे ही सुख पावसी।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….

हेली ए पूजा नई पत्थर अनेक ,देवळ नित धोखिए।
हेली ए नहीं मिले अपनों श्याम ,भला ही भट झोखिए।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….

हेली ए मल विक्षपे मिटाय ,आवरण अलगो करे।
हेली ए झिलमिल झलके जोत ,सहजे पीव मिले।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….

हेली ए देवनाथ गुरुदेव ,नित समझावे है।
हेली ए मानसिंह कहे मान ,तो दुःख मिट जावे है।
हेली ए घर में मोतीड़ा री खाण ,बाहिर अब क्यों जावो। टेर। ….

भजन :- हेली ए घर में मोतीड़ा री खान
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- भला किसी का कर ना सको तो

जरूर देखे :- गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ

पिछला लेखहेली चाले तो हरी मिल जाए भजन लिरिक्स | Heli Chale To Hari Mil Jaye Bhajan Lyrics
अगला लेखचलो गुरुजी का देश मारी हेली भजन लिरिक्स | Heli Mahari Chalo Gura Sa Re Desh Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

sixteen + fifteen =