गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ भजन लिरिक्स | Gaay Charava Jau Mhari Maa Bhajan Lyrics

430

गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ भजन लिरिक्स

गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ भजन लिरिक्स, Gaay Charava Jau Mhari Maa gau mata bhajan lyrics

।। दोहा ।।
साखी है गो मात री, सब जन धरजो ध्यान।
चित्त लगाकर सुणजो थाने, संत दिरावे आण।


~ गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ~

गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ।
लिली लिली घास खिलास्यु ,
व ने खूब धपाऊ म्हारी माँ।


नानपना में क़ानूड़ो यु ,
हठ करवण ने लागो।
रोटी लेने माता दौड़े ,
आगे आगे भागे।
पैर पटक ने रोवन लाग्यो ,
मु भूखो रे मर जाऊ म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


नन्द बाबा ने कहे यशोदा ,
कान्हा ने समझाओ।
दे लकड़ी रा हाथी घोडा ,
ई ने परो मनाओ।
नन्द बाबा यु केबा लाग्या ,
थारो बेटो थू ही मना।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


गर्गाचार्य जी गोकुळ आया ,
कान्हा रे दरसण ने।
रोती लीला देख श्याम री ,
खूब विया परसन वे।
गोप अष्टमी शुभ मोहरत है ,
काले थू जाजे कान्हा।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


माता यशोदा लाई पगरखी ,
पैर श्याम तू जाजे।
कांटा भाटा मति खेलजे ,
चौखी गाय चराजे।
जब गाया नी जूता पेहरे ,
मु कीकर पेरू म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


माता यशोदा बोली थोड़ी ,
सी रोटी तू खा ले।
वता वता ने काना ने ,
ऊपर सु माखण डाले।
बांध पोटली साथे दे दे ,
बैठ वैठ ही खाऊ म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


काली कामल कांधे मेली ,
ठुमक ठुमक नरे चाले।
कमर करधनी काना कुण्डल ,
होळे होळे हाले।
जातो जातो बोले कानो ,
थोड़ो थोड़ो लाड लड़ाए म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,
में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….


जरूर देखे :- अपने माँ बाप का दिल ना दुखा

जरूर देखे :- बेटा थारी मां समझावे रे

gau mata bhajan lyrics In hindi

~ Gaay Charava Jau Mhari Maa ~

gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.
lili lili ghas khilasyu,
v ne khub dhapau mhari ma.


nanpana me kanudo yu,
hath karvan ne lago.
roti lene mata dodhe,
aage aage bhage.
per patak ne rovan lagyo,
mu bhukho re mar jau mhari ma.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


nand baba ne kahe yashoda,
kanha ne samjhao.
de lakadi ra hathi ghoda,
e ne paro manao.
nand baba yu keba lagya,
tharo beto thu hi mana.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


gargacharye ji gokul aaya,
kanha re darshan ne.
roti lila dekh shyam ri,
khub viya parshan ve.
gop ashthami subh mohrat hai.
kale thu jaje kanha.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


mata yashoda lai pagarkhi,
per shyam tu jaje.
kanta bhata mati khelje,
chokhi gay charaje.
jab gaya ni juta pehare,
mu kikar peru mhari ma.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


mata yashoda boli thodi,
si roti tu kha le.
vata vata ne kana ne,
upar su makhan dale.
bandh potli sathe de de,
baith vaith hi khau mhari ma.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


kali kamal kandhe meli,
thumak thumak nare chale.
kamar kardhani kana kundal,
hole hole hale.
jato jato bole kano,
thodo thodo lad ladai mhari ma.
gay charava jau mhari ma,
me to gay charava jau.


जरूर देखे :- भलाई कर भला होगा

जरूर देखे :- थारोडो सायेबो बता तोला राणी

गौ माता भजन लिरिक्स

~ गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ~

गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ।
लिली लिली घास खिलास्यु ,व ने खूब धपाऊ म्हारी माँ।

नानपना में क़ानूड़ो यु ,हठ करवण ने लागो।
रोटी लेने माता दौड़े ,आगे आगे भागे।
पैर पटक ने रोवन लाग्यो ,मु भूखो रे मर जाऊ म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

नन्द बाबा ने कहे यशोदा ,कान्हा ने समझाओ।
दे लकड़ी रा हाथी घोडा ,ई ने परो मनाओ।
नन्द बाबा यु केबा लाग्या ,थारो बेटो थू ही मना।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

गर्गाचार्य जी गोकुळ आया ,कान्हा रे दरसण ने।
रोती लीला देख श्याम री ,खूब विया परसन वे।
गोप अष्टमी शुभ मोहरत है ,काले थू जाजे कान्हा।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

माता यशोदा लाई पगरखी ,पैर श्याम तू जाजे।
कांटा भाटा मति खेलजे ,चौखी गाय चराजे।
जब गाया नी जूता पेहरे ,मु कीकर पेरू म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

माता यशोदा बोली थोड़ी ,सी रोटी तू खा ले।
वता वता ने काना ने ,ऊपर सु माखण डाले।
बांध पोटली साथे दे दे ,बैठ वैठ ही खाऊ म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

काली कमाल कांधे मेली ,ठुमक ठुमक नरे चाले।
कमर करधनी काना कुण्डल ,होळे होळे हाले।
जातो जातो बोले कानो ,थोड़ो थोड़ो लाड लड़ाए म्हारी माँ।
गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ ,में तो गाय चरावा जाऊ। टेर। ….

dilip gavaiya ke bhajan

भजन :- गाय चरावा जाऊ म्हारी माँ
गायक :- दिलीप गवैया
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- गोड़े तो आयो म्हारे नीर रे

जरूर देखे :- छोड़े ने मत जावो राजा भरथरी

पिछला लेखअपने माँ बाप का दिल ना दुखा कव्वाली लिरिक्स | apne maa baap ka dil na dukha qawwali Lyrics
अगला लेखभला किसी का कर ना सको तो भजन लिरिक्स | bhala kisi ka kar na sako to Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

4 × 4 =