गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया भजन लिरिक्स | Hansa Najar Nhi Aaya Bhajan Lyrics

1043

गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया भजन लिरिक्स

गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया भजन लिरिक्स Hansa Najar Nhi Aaya Bhajan Lyrics satguru ke bhajan lyrics

।। दोहा ।।
आग लगी आसमान में, झुर झुर पड़े अंगार।
संत नी इन जगत में, तो जल जातो संसार।


~ हंसला नजर नहीं आया ~

हंसला नजर नहीं आया गुरूजी म्हारा ,
पंछी किधर होय आया।
जाके चोंच पंख नहीं काया गुरूजी म्हारा ,
हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


बिना नीर रा सरवर भरिया ,
नीर नजर नहीं आया।
इण पाळो पर मेरा सतगुरु बेठ्या ,
वही तो बैठकर नहाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


बिना रे गोढ़ रा दरखत देखिया ,
डाला नजर नहीं आया।
इण डालो पर मेरा सतगुरु बैठ्या ,
वही बैठ फल खाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


बिना पांव रा हस्ती देखिया ,
महावत नजर नहीं आया।
विन हस्ती पर मेरा सतगुरु बेठ्या ,
वही तो बैठ समझाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


मेरा गुरूजी के पांचो रे चेला ,
पच्चीस जोगण्या लाया।
एक अचम्भा तो ऐसा देखिया ,
बेटी बाप ने जाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


मेरे गुरूजी चीले से उतरया ,
संग लिए चारु चेला।
चारु चेले तो जुग भरमाया ,
जोगी रमे है अकेला।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


धरती जाजम तम्बू असमाना ,
सत का सूरज बनाया।
शरणे मच्छेंद्र गोरख बोले ,
दुनिया को रंगी बताया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..


जरूर देखे :- संतो ! एडा मूरख जग माहि

जरूर देखे :- एड़ो रे अवसर हाथ नहीं आवे

satguru ke bhajan lyrics in hindi

~ Hansa Najar Nhi Aaya ~

hansala najar nhi aaya guruji mhara,
panchi kidhar hoy aaya.
jake choch pankh nhi kaya guruji mhara,
Hansa Najar Nhi Aaya.


bina neer ra saravar bharia,
neer najar nhi aaya.
en palo par mera satguru baithya,
vahi to baithkar nahaya.
guruji mhara ! Hansa Najar Nhi Aaya …..


bina re godh ra darkhat dekhiya,
dala najar nhi aaya.
en dalo par mera satguru baithya,
vahi baith fal khaya.
guruji mhara ! hansala najar nhi aaya …..


bina panv ra hanti dekhiya,
mahavat najar nhi aaya.
vin hanti par mera satguru baithya,
vahi to baith samjhaya.
guruji mhara ! hansala najar nhi aaya …..


mera guruji ke pancho re chela,
pachchis jognya laya.
ek achmbha to aisa dekhiya,
beti baap ne jaya.
guruji mhara ! hansala najar nhi aaya …..


mere guruji chile se utrya,
sang liy charu chela.
charu chele to jug bharmaya,
jogi rame hai akela.
guruji mhara ! hansala najar nhi aaya …..


dharti jajam tambu asmana,
sat ka suraj banaya.
sharne machandra gorakh bole,
duniya ko rangi bataya.
guruji mhara ! hansala najar nhi aaya …..


जरूर देखे :- रे संतो ! रावळ जोगी मस्ताना

जरूर देखे :- साधु भाई ! परखो सबद टकसारा

सतगुरु भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया ~

हंसला नजर नहीं आया गुरूजी म्हारा ,पंछी किधर होय आया।
जाके चोंच पंख नहीं काया गुरूजी म्हारा ,हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

बिना नीर रा सरवर भरिया ,नीर नजर नहीं आया।
इण पाळो पर मेरा सतगुरु बेठ्या ,वही तो बैठकर नहाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

बिना रे गोढ़ रा दरखत देखिया ,डाला नजर नहीं आया।
इण डालो पर मेरा सतगुरु बैठ्या ,वही बैठ फल खाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

बिना पांव रा हस्ती देखिया ,महावत नजर नहीं आया।
विन हस्ती पर मेरा सतगुरु बेठ्या ,वही तो बैठ समझाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

मेरा गुरूजी के पांचो रे चेला ,पच्चीस जोगण्या लाया।
एक अचम्भा तो ऐसा देखिया ,बेटी बाप ने जाया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

मेरे गुरूजी चीले से उतरया ,संग लिए चारु चेला।
चारु चेले तो जुग भरमाया ,जोगी रमे है अकेला।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

धरती जाजम तम्बू असमाना ,सत का सूरज बनाया।
शरणे मच्छेंद्र गोरख बोले ,दुनिया को रंगी बताया।
गुरूजी म्हारा ! हंसला नजर नहीं आया। टेर। …..

balak das ke bhajan

भजन :- हंसला नजर नहीं आया
गायक :- बालक दास
लेबल : – राजस्थानी भजन

जरूर देखे :- रे संतो ! अमी रस क्यों नहीं चखता

जरूर देखे :- संतो ! अमरलोक कुण जासी

पिछला लेखसंतो ! एडा मूरख जग माहि भजन लिरिक्स | Santo ! Aida Murakh Jag Mahi Bhajan Lyrics
अगला लेखगाड़ी गुरूजी रा नाम री भजन लिरिक्स | Gadi guru thare naam gi Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

nineteen − 10 =