गुथ लाई मालन सेवरा भजन लिरिक्स | guth lai malan sevra bhajan lyrics

9675

गुथ लाई मालन सेवरा भजन लिरिक्स

गुथ लाई मालन सेवरा भजन लिरिक्स, guth lai malan sevra bhajan lyrics desi chetawani bhajan lyrics in hindi

।। दोहा ।।
संत हमारा सिरधणी, में संतन की देह।
रोम रोम में रम रया, ज्यू बादळ में मेह।


~ गूथ लाई ए मालन सेंवरो ~

गूथ लाई ए मालन सेंवरो ,
अपने सतगुरा ताहि।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो।


आज धराऊ दिसे धुंधलो ,
इत बिजल्या चमके।
हरि रा हरिजन दिसे आवता ,
डावी आँख फरुखे।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …


आवो ये पांच सहेलियाँ ,
सिवो सायब जी रा चोला।
कई सिया ने कई सिवणा ,
गुरूजी अंग लिपटाया।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …


सरवर पाणी में गई ,
एक अचरज देख्या।
एक कमल दूजो फुलडो ,
वहा मेरा भंवर लुभाया।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …


पाणी ने चाली पदमणी ,
पग नेवर बाजे।
ठुमक ठुमक पगल्या धरे ,
गेरो इन्दर गाजे।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …


लोय लागी ओ हरि नाम री ,
सायब जी से साँची।
बाई यमना री ओ विनती ,
सायब मा पर राजी।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …


जरूर पढ़ें :- साधु भाई ऐसी चाय चलाई

जरूर पढ़ें :- करो हरी का भजन प्यारे 

desi chetawani bhajan lyrics in hindi

~ guth lai malan sevra ~

guth lai a malan senvaro,
apne satgura tahi.
guth lai o malan senvra.


aaj dharau dise dhundhlo,
et bijlya chamke.
hari ra harijan dise aavta,
davi aankh farukhe .
guth lai o malan senvro.


aavo ye panch saheliya,
sivo sayab ji ra chola.
kai siya ne kai sivna,
guruji ang liptaya.
guth lai o malan senvra.


saravar pani me gai,
ek acharaj dekhya.
ek kamal dujo fuldo,
vaha mera bhanvar lubhaya.
guth lai o malan senvra.


pani ne chali padmani,
pag nevar baje.
thumak thumak paglya dhare,
gero indar gaje.
guth lai o malan senvra.


loy lagi o hari naam ri,
sayab ji se sanchi.
bai yamna ri o vinti,
sayab ma par raji.
guth lai o malan senvra.


जरूर पढ़ें :- घट घट में उजियारा

जरूर पढ़ें :- माटी में मिले माटी पानी में पानी

मारवाड़ी देसी भजन लिरिक्स

~ गुथ लाई मालन सेवरा ~

गूथ लाई ए मालन सेंवरो ,अपने सतगुरा ताहि।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो।

आज धराऊ दिसे धुंधलो ,इत बिजल्या चमके।
हरि रा हरिजन दिसे आवता ,डावी आँख फरुखे।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …

आवो ये पांच सहेलियाँ ,सिवो सायब जी रा चोला।
कई सिया ने कई सिवणा ,गुरूजी अंग लिपटाया।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …

सरवर पाणी में गई ,एक अचरज देख्या।
एक कमल दूजो फुलडो ,वहा मेरा भंवर लुभाया।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …

पाणी ने चाली पदमणी ,पग नेवर बाजे।
ठुमक ठुमक पगल्या धरे ,गेरो इन्दर गाजे।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …

लोय लागी ओ हरि नाम री ,सायब जी से साँची।
बाई यमना री ओ विनती ,सायब मा पर राजी।
गूथ लाई ओ मालन सेंवरो। टेर। …

gajendra ajmera ke bhajan

भजन :- गूथ लाई ए मालन सेंवरो
गायक :- गजेंद्र अजमेरा
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- थारो लेखो लेवेला राई राई रो

जरूर पढ़ें :- मनवा भूल गयो ईश्वर ने

पिछला लेखसाधु भाई ऐसी चाय चलाई भजन लिरिक्स | sadhu bhai aisi chai chalai bhajan lyrics
अगला लेखतेरे मन में राम तन में राम रोम रोम में राम रे भजन लिरिक्स | tere man me ram tan me ram bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

five × three =