में तो हीरो गमादियो कचरा में भजन लिरिक्स | hiro gama diyo kachra mein bhajan lyrics

1650

में तो हीरो गमादियो कचरा में भजन लिरिक्स

में तो हीरो गमादियो कचरा में भजन लिरिक्स, hiro gama diyo kachra mein desi chetawani bhajan lyrics

।। दोहा ।।
राम नाम भजियो नहीं, कियो न हरि से हेत।
वो नर ऐसे जाएगा, ज्यू मूली का खेत।


~ हीरो गमादियो कचरा में ~

में तो हीरो गमादियो कचरा में ,
पांच पचीसों का झगड़ा में।


अगम बतावे कोई पिछम बतावे ,
कोई बतावे पाणी पतरा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में।
में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….


तीरथ बतावे कोई व्रत बतावे ,
कोई बतावे माला जपणा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में।
में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….


ऋषि मुनि और पीर अवलिया ,
काया गमा दी इन नखरा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में।
में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….


जोगी होय जुगत नहीं जाणे ,
जैसे अगनि लकड़ा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में।
में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….


धर्मिदास जी ने हीरो लादो ,
जाय धर दियो हंसला में।
पांच पचीसों का झगड़ा में।
में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….


जरूर पढ़ें :- जाति रो कारण है नहीं संतो

जरूर पढ़ें :- मैं तो उन रे संता रो हूँ दास

desi chetawani bhajan lyrics in hindi

~ hiro gama diyo kachra mein ~

me to hiro gamadiyo kachra me,
panch pachoso ka jhagda me.


agam batave koi picham batave,
koi batave pani patra me.
panch pachoso ka jhagda me,
me to hiro gamadiyo kachra me.


tirath batave koi vrat batave,
koi batave mala japna me.
panch pachoso ka jhagda me,
me to hiro gamadiyo kachra me.


rishi muni or peer avliya,
kaya gama di en nakhra me.
panch pachoso ka jhagda me,
me to hiro gamadiyo kachra me.


jogi hoy jugat nhi jane,
jaise agani lakda me.
panch pachoso ka jhagda me,
me to hiro gamadiyo kachra me.


dharmidas ji ne hiro lado,
jay dhar diyo hansla me.
panch pachoso ka jhagda me,
me to hiro gamadiyo kachra me.


जरूर पढ़ें :- दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा

जरूर पढ़ें :- प्रेम का मार्ग बांका रे 

मारवाड़ी देसी चेतावनी भजन लिरिक्स

~ हीरो गमादियो कचरा में ~

में तो हीरो गमादियो कचरा में ,पांच पचीसों का झगड़ा में।

अगम बतावे कोई पिछम बतावे ,कोई बतावे पाणी पतरा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में। में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….

तीरथ बतावे कोई व्रत बतावे ,कोई बतावे माला जपणा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में। में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….

ऋषि मुनि और पीर अवलिया ,काया गमा दी इन नखरा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में। में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….

जोगी होय जुगत नहीं जाणे ,जैसे अगनि लकड़ा में।
पांच पचीसों का झगड़ा में। में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….

धर्मिदास जी ने हीरो लादो ,जाय धर दियो हंसला में।
पांच पचीसों का झगड़ा में। में तो हीरो गमादियो कचरा में। टेर। ….

anil nagori ke bhajan lyrics

भजन :- हीरो गमा दियो कचरा में
गायक :- अनिल नागौरी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- हरि का नाम सुमिर सुखधाम

जरूर पढ़ें :- तूने हीरा सो जन्म गवायो रे

पिछला लेखजाति रो कारण है नहीं संतो भजन लिरिक्स | jati ro karan hai nahi santo bhajan lyrics
अगला लेखमन लोभी जिवडा हो गयो मोड़ो रे दिन रयो थोड़ो भजन लिरिक्स | Din Riyo Thodo Re bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

three × 3 =