मालिक ने भजो रे गिंवारा मत भूलो रे बारम्बारा भजन लिरिक्स | Saheb Ne Bhajo Gawara bhajan lyrics

2518

मालिक ने भजो रे गिंवारा मत भूलो रे बारम्बारा भजन लिरिक्स

मालिक ने भजो रे गिंवारा मत भूलो रे बारम्बारा भजन लिरिक्स, Saheb Ne Bhajo Gawara bhajan lyrics, nirguni bhajan lyrics

।। दोहा ।।
गुरु सेवा जन बंदगी, अर सत्संग वैराग।
ये चारो जब ही मिले, पूरण हो ये भाग।


~ सायब ने भजो रे गिंवारा ~

सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा।
ज्यू जन्म्या ज्यू मर जासी ,
रे मालिक का लेखा भरणा।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा।


बाजीगर डंक बजाया जी ,
सब खलक तमाशा आया।
बाजीगर कला तो समेटी ,
जद उड़ गई सकल कमेटी।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….


पार उतरना थाने चाहिजे ,
नावड़िया सु मिलणो।
नावड़ियो नाव चलावे जी ,
थने अमरलोक ले जावे।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….


दर्शन करणा थाने चाहिजे ,
दर्पण माजतो रेहिजे।
दर्पण में तो वेला रे झाई ,
दर्शन होवे नाई।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….


मुक्ति रा फल थने हिजे ,
वेलडिया थू सींचे।
वेलडिया सु वे रे काई ,
जनम मरण सब जाई।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….


कबीर सा निज वाणी ,
संत वाणी पहचाणी।
बड़ो रा नहीं परखिजे ,
आणि मूरख रो काही कीजे।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,
मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….


जरूर पढ़ें :- पग रे बांध ने उन्दा रे लटके

जरूर पढ़ें :- नहीं चाहिए दिल दुखाना किसी का

nirguni bhajan lyrics in hindi

~ Saheb Ne Bhajo Gawara ~

sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.
jyu janmya jyu mar jaasi,
re malik ka lekha bharna.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


bajigar dank bajaya ji,
sab khalak tamasha aaya.
bajigar kala to sameti,
jad ud gai sakal kameti.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


par utarana thane chahije,
navdiya su milno.
navdiyo nav chalave ji,
thane amarlok le jave.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


darshan karna thane chahije,
darpan majto rehije.
darpan me to vela re jhai,
darshan hove nai.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


mukti ra fal thane hije,
veldiya thu sinche.
veldiya su ve re kai,
janam maran sab jai.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


kabir sa nij vani,
sant vani pahchani.
bado ra nhi parakhije,
aani murakh ro kahi kije.
sayab ne bhajo re giwara,
mat bhulo re varamvara.


जरूर पढ़ें :- नाभि रे कमल नेजा रोपिया

जरूर पढ़ें :- तनधारी जग में अवधु

राजस्थानी मारवाड़ी देसी भजन लिरिक्स

~ मालिक ने भजो रे गिंवारा ~

सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा।
ज्यू जन्म्या ज्यू मर जासी ,रे मालिक का लेखा भरणा।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा।

बाजीगर डंक बजाया जी ,सब खलक तमाशा आया।
बाजीगर कला तो समेटी ,जद उड़ गई सकल कमेटी।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….

पार उतरना थाने चाहिजे ,नावड़िया सु मिलणो।
नावड़ियो नाव चलावे जी ,थने अमरलोक ले जावे।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….

दर्शन करणा थाने चाहिजे ,दर्पण माजतो रेहिजे।
दर्पण में तो वेला रे झाई ,दर्शन होवे नाई।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….

मुक्ति रा फल थने हिजे ,वेलडिया थू सींचे।
वेलडिया सु वे रे काई ,जनम मरण सब जाई।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….

कबीर सा निज वाणी ,संत वाणी पहचाणी।
बड़ो रा नहीं परखिजे ,आणि मूरख रो काही कीजे।
सायब ने भजो रे गिंवारा ,मत भूलो रे बारम्बारा। टेर। ….

jalal khan ke bhajan lyrics

भजन :- सायब ने भजो रे गिंवारा
गायक :- जलाल खां
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- कर्मो की है ये माया

जरूर पढ़ें :- ले सतगुरु की शरण

पिछला लेखपग रे बांध ने उन्दा रे लटके यु कई रामजी मिलता भजन लिरिक्स | pag bandh ne unda re latke bhajan lyrics
अगला लेखतूने हीरा सो जन्म गवायो रे भजन बिना बावरे भजन लिरिक्स | tune hira sa janam gavayo re bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

13 − eleven =