नाभि रे कमल नेजा रोपिया हो राज सुरता ऊँची रे चढ़े भजन लिरिक्स | Nabhi Kamal Neja Ropiya bhajan lyrics

530

नाभि रे कमल नेजा रोपिया हो राज सुरता ऊँची रे चढ़े भजन लिरिक्स

नाभि रे कमल नेजा रोपिया हो राज सुरता ऊँची रे चढ़े भजन लिरिक्स Nabhi Kamal Neja Ropiya chetawani bhajan lyrics

।। दोहा ।।
गुरु बिणजारा ज्ञान रा, और लाया वस्तु अमोल।
सौदागर साँचा मिले, वे ले सिर साठे तोल।


~ नाभि रे कमल नेजा रोपिया ~

नाभि रे कमल नेजा रोपिया हो राज ,
सुरता ऊँची रे चढ़े।
ऊँची रे चढ़े ने निचो जोवियों हो राज ,
भारी भारी खेल करे।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,
मोती ओळख लेणा , हां।


आमी रे सामी हाटड़ी ओ राज ,
वाणियो विणज करे।
मन तोला तन ताकड़ी हो राज ,
तौलिया खबर पड़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,
मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….


शबरन ओ रण मांडियो ओ राज ,
हिरलो वैरण चढ़े।
माथे घणो ने वाला घाव पड़े ओ राज ,
हिरलो ऊंचो रे चढ़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,
मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….


नदी रे किनारे दो वाडियो हो राज ,
मिरगो अजब चरे।
बाण पचीसों रा रोपिया हो राज ,
मिरगो यु रे मरे।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,
मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….


सोहन वनो रे बिच में हो राज ,
हिरलो जगमगे।
माली लिखमो जी री विनती हो राज ,
खोजियो खबर पड़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,
मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….


जरूर पढ़े :- तनधारी जग में अवधु

जरूर पढ़े :- कर्मो की है ये माया कर्मो के खेल सारे

chetawani bhajan lyrics in hindi

~ Nabhi Kamal Neja Ropiya ~

nabhi re kamal neja ropiya ho raj,
surta unchi re chadhe.
unchi re chadhe ne nicho joviyo ho raj,
bhari bhari khel kare.
hirlo ra vyapariyo o raj,
moti olakh lena ha .


aami re sami hatdi o raj,
vaniyo vinaj kare.
man tola tan takadi ho raj,
toliya khabar pade.
hirlo ra vyapariyo o raj,
moti olakh lena ha.


shabaran o ran mandiyo o raj,
hirlo vairan chade.
mathe ghano ne wala ghav pade o raj,
hirlo uncho re chade.
hirlo ra vyapariyo o raj,
moti olakh lena ha.


nadi re kinare do vadiyo ho raj,
mirgo ajab chare.
ban pachiso ra ropiya ho raj,
mirgo yu re mare.
hirlo ra vyapariyo o raj,
moti olakh lena ha.


sohan vano re bich me ho raj,
hirlo jagmage.
mali likhmo ji ri vinti ho raj,
khojiyo khabar pade.
hirlo ra vyapariyo o raj,
moti olakh lena ha.


जरूर पढ़े :- ले सतगुरु की शरण

जरूर पढ़े :- फस गयो मकड़ी का झाला में

राजस्थानी चेतावनी भजन लिरिक्स

~ नाभि रे कमल नेजा रोपिया ~

नाभि रे कमल नेजा रोपिया हो राज ,सुरता ऊँची रे चढ़े।
ऊँची रे चढ़े ने निचो जोवियों हो राज ,भारी भारी खेल करे।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,मोती ओळख लेणा , हां।

आमी रे सामी हाटड़ी ओ राज ,वाणियो विणज करे।
मन तोला तन ताकड़ी हो राज ,तौलिया खबर पड़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….

शबरन ओ रण मांडियो ओ राज ,हिरलो वैरण चढ़े।
माथे घणो ने वाला घाव पड़े ओ राज ,हिरलो ऊंचो रे चढ़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….

नदी रे किनारे दो वाडियो हो राज ,मिरगो अजब चरे।
बाण पचीसों रा रोपिया हो राज ,मिरगो यु रे मरे।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….

सोहन वनो रे बिच में हो राज ,हिरलो जगमगे।
माली लिखमो जी री विनती हो राज ,खोजियो खबर पड़े।
हिरलो रा व्यापारियो ओ राज ,मोती ओळख लेणा , हां। टेर। ….

prakash mali ke bhajan rajasthani

भजन :- नाभि रे कमल नेजा रोपिया
गायक :- प्रकाश माली
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़े :- कोई बतावो जोगी आवतो

जरूर पढ़े :- लिख दिया विधाता लेख

पिछला लेखतनधारी जग में अवधु कोई नहीं सुखिया रे भजन लिरिक्स | tandhari jag me avadhu bhajan lyrics
अगला लेखनहीं चाहिए दिल दुखाना किसी का भजन लिरिक्स | nahi chahiye dil dukhana kisi ka bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 5 =