साधु भाई नगे करो वा घर की भजन लिरिक्स | sadhu bhai nage karo wa ghar ki bhajan lyrics

1526

साधु भाई नगे करो वा घर की भजन लिरिक्स

साधु भाई नगे करो वा घर की भजन लिरिक्स, sadhu bhai nage karo wa ghar ki bhajan lyrics, desi nirguni bhajan lyrics

।। दोहा ।।
उन घर की क्या लिखू, लिखता कलम रुक जाय।
जो नर लिखी वा घर की, वे वापस आया नाय।


~ साधु भाई नगे करो वा घर की ~

आदू वास अंत नहीं वाका ,
काया होवे बजर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की।


ना कोई नींव सिव नहीं छाजा ,
नहीं दिवार पत्थर की।
नहीं कोई धातु चुनावट किदी ,
नहीं कला है कारीगर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


धरण पे कोई ध्यान मत दीज्यो ,
ना है बात अमर की।
चुगदा लोक नो खंड में नाही ,
ना है सातो सायर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


ना कोई दीप ज्योति नहीं चमके ,
नहीं किरणा चाँद सूरज की।
ना कोई ब्रह्मा ना कोई विष्णु ,
नहीं छवि है शंकर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


एक अरूपी उन माय बैठा ,
नहीं काया उधर की।
ना है नाम रूप आकारा ,
नहीं मात्रा अक्षर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


ना कोई रंग वरण आकारा ,
ना पहचान सूरत की।
उन घर की कोई ग़म ना जाणे ,
कोई कोई बिरला भटकी।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


अजब गजब का अखंड उजियारा ,
लीला पार ब्रह्म की।
उन घर ने कोई ओलक लेवे ,
वाने मिले उपादि अमर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


अद्भुत गुरुदेव भीम जी ,
मेहर करो दुर्बल की।
भेरू दाता शरण आपके ,
मेहर भई गुरुवर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …


आदू वास अंत नहीं वाका ,
काया होवे बजर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की।


जरूर पढ़ें :- इन रे आंगणिये सखी

जरूर पढ़ें :- गुरु कितना दे उपदेश

desi nirguni bhajan lyrics in hindi

~ sadhu bhai nage karo wa ghar ki ~

sadhu bhai nage karo wa ghar ki,
kaya hove bajar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


na koi niv siv nhi chhapa,
nhi diwar pathar ki.
nhi koi dhatu chunavat kidi,
nhi kala hai karigar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


dharan pe koi dhyan mat dijyo,
naa hai bat amar ki.
chugda lok no khand me nahi,
na hai sato sayar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


na koi deep jyoti nhi chamke,
nhi kirna chand suraj ki.
na koi brahma na koi vishnu,
nhi chhavi hai shankar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


ek arupi un may baitha,
nhi kaya udhar ki.
naa hai naam rup aakara,
nhi matra akshar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


na koi rang varan aakara,
na pahchan surat ki.
un ghar ki koi gam na jane,
koi koi birla bhatki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


ajab gajab ka akhand ujiyara,
lila par brahma ki.
un ghar ne koi olak leve,
vane mile upadi amar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


adbhut gurudeve bhim ji,
mehar karo durbal ki.
bheru data sharan aapke,
mehar bhai guruvar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


aadu vas ant nhi waka,
kaya hove bajar ki.
sadhu bhai nage karo wa ghar ki.


जरूर पढ़ें :- जिणरो परमारथ म्हारो जूनो जोगी जाणे

जरूर पढ़ें :- मनवा राखे नी विश्वास

राजस्थानी पुराने निर्गुणी भजन लिरिक्स

~ साधु भाई नगे करो वा घर की ~

आदू वास अंत नहीं वाका ,काया होवे बजर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की।

ना कोई नींव सिव नहीं छाजा ,नहीं दिवार पत्थर की।
नहीं कोई धातु चुनावट किदी ,नहीं कला है कारीगर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

धरण पे कोई ध्यान मत दीज्यो ,ना है बात अमर की।
चुगदा लोक नो खंड में नाही ,ना है सातो सायर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

ना कोई दीप ज्योति नहीं चमके ,नहीं किरणा चाँद सूरज की।
ना कोई ब्रह्मा ना कोई विष्णु ,नहीं छवि है शंकर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

एक अरूपी उन माय बैठा ,नहीं काया उधर की।
ना है नाम रूप आकारा ,नहीं मात्रा अक्षर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

ना कोई रंग वरण आकारा ,ना पहचान सूरत की।
उन घर की कोई ग़म ना जाणे ,कोई कोई बिरला भटकी।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

अजब गजब का अखंड उजियारा ,लीला पार ब्रह्म की।
उन घर ने कोई ओलक लेवे ,वाने मिले उपादि अमर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

अद्भुत गुरुदेव भीम जी ,मेहर करो दुर्बल की।
भेरू दाता शरण आपके ,मेहर भई गुरुवर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की। टेर। …

आदू वास अंत नहीं वाका ,काया होवे बजर की।
साधु भाई नगे करो वा घर की।

bheru ram gadri ke bhajan

भजन :- साधु भाई नगे करो वा घर की
गायक :- भैरूराम गाडरी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- थारी चुनड़ली रा चटका है

जरूर पढ़ें :- हालो दीवाना यहाँ क्यों बैठा

पिछला लेखइन रे आंगणिये सखी कई नर खेलन आया भजन लिरिक्स | In Re Aanganiye Sakhi bhajan lyrics
अगला लेखपंछीडा लाल आछी पड़ियो रे उलटी पाटी भजन लिरिक्स | Panchida Lal Aachi Padhyo Re Ulti Pati Bhajan lyrics

4 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

15 − 13 =