क्यों नैना भरमावे जी थारे हाथ कबीर नहीं आवे जी भजन लिरिक्स | Thare Hath Kabiro Nahi aave ji bhajan lyrics

1917

क्यों नैना भरमावे जी थारे हाथ कबीर नहीं आवे जी भजन लिरिक्स

क्यों नैना भरमावे जी थारे हाथ कबीर नहीं आवे जी भजन लिरिक्स Thare Hath Kabiro Nahi aave ji new chetawani bhajan lyrics

।। दोहा ।।
कबीरा सोया क्या करे, उठ ने भजे नी भगवान।
जम जब घर ले जायेगे, पड़ी रहेगी म्यान।


~ क्यों नैणा भरमावे जी ~

क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी।


अमर लोक से आई अप्सरा ,
गल मोतियन री माला जी।
नाच कूद ने तान बजावे ,
कबीर करू भरतारा जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


रूपों पेहर ने रूप बतावे ,
सोनो पहर रिझावे जी।
नाच कूद ने निरत बतावे ,
तोई कबीर ना रिझावे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


जोगी मोया जती मोया ,
शंकर नेजाधारी जी।
पहाड़ो रा अवधूत मोया ,
अब कबीर थारी बारी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


इन्दर बरसे ने धरती भीजे ,
पत्थर रो काहि भीगे जी।
मत कर सुरता आटक झाटक ,
तोई कबीर न रिझावे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


जात जुलावो नाम कबीरो ,
है काशी रो वासी जी।
म्हाने मन में एड़ी आवे ,
एक माता दूजी मासी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


पांच इन्द्रियाँ वश में किनी ,
बाँधी काचे धागे जी।
रामानंद रा भणे कबीरा ,
सूती सुरता जागी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,
थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …


जरूर पढ़ें :- तेरा कब कब आना होई

जरूर पढ़ें :- मारवाड़ रो पीर बानिया

new chetawani bhajan lyrics in hindi

~ Thare Hath Kabiro Nahi aave ji ~

kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji ,
kyu naina bharmave ji.


amar lok se aai apsra,
gal motiyan ri mala ji.
nach kud ne tan bajave,
kabir karu bhartara ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


rupo pehar ne rup batave,
sono pahar rijhave ji.
nach kud ne nirat batave,
toi kabir na rijhave ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


jogi moya jati moya,
shankar nejadhari ji.
pahado ra avdhut moya,
ab kabir thari bari ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


indar barse ne dharti bhije,
pathar ro kahi bhige ji.
mat kar surta aatak jhatak,
toi kabir n rijhave ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


jat julavo naam kabiro,
hai kashi ro vasi ji.
mhane man me aidi aave,
ek mata duji masi ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


panch endriya vas me kini,
banchi kache dhage ji.
ramanand ra bhane kabira,
suti surta jagi ji.
kyu naina bharmave ji,
thare hath kabiro nhi aave ji .


जरूर पढ़ें :- भक्ति जोर जबर मेरा भाई

जरूर पढ़ें :- काची नींद के माय अचानक

मारवाड़ी चेतावनी भजन लिरिक्स

~ थारे हाथ कबीर नहीं आवे जी ~

क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी।

अमर लोक से आई अप्सरा ,गल मोतियन री माला जी।
नाच कूद ने तान बजावे ,कबीर करू भरतारा जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

रूपों पेहर ने रूप बतावे ,सोनो पहर रिझावे जी।
नाच कूद ने निरत बतावे ,तोई कबीर ना रिझावे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

जोगी मोया जती मोया ,शंकर नेजाधारी जी।
पहाड़ो रा अवधूत मोया ,अब कबीर थारी बारी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

इन्दर बरसे ने धरती भीजे ,पत्थर रो काहि भीगे जी।
मत कर सुरता आटक झाटक ,तोई कबीर न रिझावे जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

जात जुलावो नाम कबीरो ,है काशी रो वासी जी।
म्हाने मन में एड़ी आवे ,एक माता दूजी मासी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

पांच इन्द्रियाँ वश में किनी ,बाँधी काचे धागे जी।
रामानंद रा भणे कबीरा ,सूती सुरता जागी जी।
क्यों नैणा भरमावे जी ,थारे हाथ कबीरो नहीं आवे जी। टेर। …

shyam paliwal ke bhajan

भजन :- क्यों नैणा भरमावे जी
गायक :- श्याम पालीवाल
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- जोगणिया थारो ऊंचो देश अखंड

जरूर पढ़ें :- एक आसरो देव धणी को

पिछला लेखतेरा कब कब आना होई रे कर लेना भली कमाई भजन लिरिक्स | tera kab kab aana hoi re bhajan lyrics
अगला लेखजो थारो मनवो कियो नही माने दोष गुरा ने मत दीजे भजन लिरिक्स | Bhakti raji vene kije bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

9 + 11 =