अंजनी के लाल आछी रे संजीवन बूटी लायो भजन लिरिक्स | anjani ke re lal achi re sarjivan buti layo lyrics

2803

अंजनी के लाल आछी रे संजीवन बूटी लायो भजन लिरिक्स

अंजनी के लाल आछी रे संजीवन बूटी लायो भजन लिरिक्स, anjani ke re lal achi re sarjivan buti layo hanuman ji ke bhajan lyrics

।। दोहा ।।
हनुमत तेरी धाक से, धूजे लंका कोट।
पायक हो श्री राम के, ज्यारे पेरे लाल लंगोट।


~ आछी सरजीवण बूटी लायो ~

राम चंद्र को दूत कहायो ,
जग में नाम कमायो रे ।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो।


मात सिया को पतों लगाने ,
तू लंका में आयो।
बजरंग तू लंका में आयो।
वृक्ष उजाड़या बाग़ उजाड़या ,
रावण बहु घबरायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।


शक्ति बाण लाग्यो लक्मण जी के ,
तू ने बिडलो उठायो।
बजरंग तू ने बिडलो उठायो।
द्रोणागिरी पर्वत पर जाकर ,
सरजीवण ले आयो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।


राम लखन दोनों भाई ने ,
अहिरावण हर लायो।
बजरंग अहिरावण हर लायो।
पाताल पूरी में जाकर हनुमत ,
भारी युद्ध मचायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।


सतयुग त्रेता द्वापर कलयुग ,
चार जुगा जग गायो।
बजरंग चार जुगा जग गायो।
चन्द्रसखी सतगुरु की शरणे ,
चुनीलाल कथ गायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।


राम चंद्र को दूत कहायो ,
जग में नाम कमायो रे ।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,
आछी रे सरजीवण बूटी लायो।


जरूर पढ़े :- तन पर लगा सिंदूरी रंग

जरूर पढ़े :- पांय लागू जी महाराज बिड़द बंका

hanuman ji ke bhajan lyrics in hindi

~ anjani ke re lal ~

ramchandra ko dut kahayo,
jag me naam kamayo re.
anjani ka re lal,
pavna ka re lal,
aachi re sarjivan buti layo.


mat siya ko pato lagane,
tu lanka me aayo.
bajrang tu lanka me aayo.
vriksh ujadya bag ujadya,
ravan bahu ghabrayo re.
anjani ka re lal,
pavna ka re lal,
aachi re sarjivan buti layo.


shakti ban gagyo laxman ji ke,
vanar dal ghabrayo.
bajrang vanar dal ghabrayo.
dronagiri parvat par jakar,
sarjivan le aayo re.
anjani ka re lal,
pavna ka re lal,
aachi re sarjivan buti layo.


ram lakhan dono bhai ne,
ahiravan har layo.
bajrang ahiravan har layo.
patal puri me jakar hanumat,
bhari yudhdh machayo re.
anjani ka re lal,
pavna ka re lal,
aachi re sarjivan buti layo.


satyug treta dwapar kalyug,
char juga jag gayo.
bajrang char juga jag gayo.
chandrasakhi satguru ki sharne,
chunilal kath gayo re.
anjani ka re lal,
pavna ka re lal,
aachi re sarjivan buti layo.


जरूर पढ़े :- रावण के देश गयो

जरूर पढ़े :- सो सो सूरमा के बीच में

बालाजी महाराज के भजन राजस्थानी

~अंजनी के लाल आछी रे संजीवन बूटी लायो ~

राम चंद्र को दूत कहायो ,जग में नाम कमायो रे ।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो।

मात सिया को पतों लगाने ,तू लंका में आयो।
बजरंग तू लंका में आयो।
वृक्ष उजाड़या बाग़ उजाड़या ,रावण बहु घबरायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।

शक्ति बाण लाग्यो लक्मण जी के ,तू ने बिडलो उठायो।
बजरंग तू ने बिडलो उठायो।

द्रोणागिरी पर्वत पर जाकर ,सरजीवण ले आयो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।

राम लखन दोनों भाई ने ,अहिरावण हर लायो।
बजरंग अहिरावण हर लायो।
पाताल पूरी में जाकर हनुमत ,भारी युद्ध मचायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।

सतयुग त्रेता द्वापर कलयुग ,चार जुगा जग गायो।
बजरंग चार जुगा जग गायो।
चन्द्रसखी सतगुरु की शरणे ,चुनीलाल कथ गायो रे।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो। टेर।

राम चंद्र को दूत कहायो ,जग में नाम कमायो रे ।
अंजनी का रे लाल ,
पवना का रे लाल ,आछी रे सरजीवण बूटी लायो।

bajrang das vaishnav ke bhajan

भजन :- आछी सरजीवण बूटी लायो
गायक :- बजरंग दास वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़े :- चालो जी चालो चालो

जरूर पढ़े :- मारो बेड़ो लगा दीजो पार

पिछला लेखथे तो धरनी पधारिया गंगा माय त्रिवेणी थाने अरज करा भजन लिरिक्स | The To Dharni Padhariya Ganga bhajan lyrics
अगला लेखअणा चेतको आवे मारा बापु वानर हे के कई है भजन लिरिक्स | ana chet ko aayo mara bapu bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

4 × 5 =