सच्चियाय माता जी ने बार बार वंदना भजन लिरिक्स | Sachchiyay Mata Ji Ne Bar Bar Vandana bhajan lyrics

79

सच्चियाय माता जी ने बार बार वंदना भजन लिरिक्स

सच्चियाय माता जी ने बार बार वंदना भजन लिरिक्स Sachchiyay Mata Ji Ne Bar Bar Vandana sachchiyay mata ji ke bhajan hindi lyrics

।। दोहा ।।
घाटा वाली मावड़ी, मोटी है दातार।
तीन लोक रे मायने, होवे जय जयकार।


~ सच्चियाय माता जी वंदना ~

सच्चियाय माता जी ने ,
बार बार वंदना।
बार बार वंदना ,
हजार बार वंदना।


सच्चियाय माताजी री ,
महिमा है भारी।
तीनो लोका में पूजे ,
सब नर नारी।
धोरा वाले धाम ने है ,
बार बार वंदना। टेर।


सच्चियाय माता जग में ,
परचा दिखावे।
दीन दुखी रा मैया ,
दुखड़ा मिटावे।
दुखड़ा मेटणहार ने है ,
बार बार वंदना। तेर।


शीश सुहावे तुर्रो ,
शोभा है न्यारी।
सच्चियाय माताजी री ,
मूरत प्यारी।
सिंह असवार ने है ,
बार बार वंदना। तेर।


जो भी साँचल माता ने ,
श्रद्धा सु ध्यावे।
भव रा बंधन सु ,
प्राणी मुक्ति पावे।
भक्त प्रतिपाल ने है ,
बार बार वंदना। तेर।


दास अशोक ज्या री ,
महिमा सुणावे।
चरणा री चाकरी में ,
सब सुख पावे।
नैया खेवणहार ने है ,
बार बार वंदना। तेर।


जरूर पढ़ें :- बिलाड़ा में जावणा

जरूर पढ़ें :- तेरस आई चांदनी

sachchiyay mata ji ke bhajan hindi lyrics

~ Sachchiyay Mata Ji Ne Bar Bar Vandana ~

sachchiyay mata ji ne,
bar bar vandana.
bar bar vandana,
hajar bar vandana.


sachchiyay mataji ri,
mahima hai bhari.
teeno loka me puje,
sab nar nari.
dhora wale dham ne hai,
bar bar vandana.


sachchiyay mata jag me,
parcha dikhave.
deen dukhi ra maiya,
dukhda mitave.
dukhda metanhar ne hai,
bar bar vandana.


shish suhave turro,
shobha hai nyari.
sachchiyay mata ji ri,
murat pyari.
singh aswar ne hai,
bar bar vandana.


jo bhi sanchal mata ne,
shradhdha su dhyave.
bhav ra bandhan su,
prani mukti pave.
bhakt pratpal ne hai,
bar bar vandana.


das ashok jya ri,
mahima sunave .
charna ri chakri me,
sab sukh pave.
naiya khevan har ne hai,
bar bar vandana.


जरूर पढ़ें :- खोल आडो खोल

जरूर पढ़ें :- हिरदा में रेवो भवानी

सच्चियाय माता जी के भजन लिरिक्स

~ सच्चियाय माता जी ने बार बार वंदना ~

सच्चियाय माता जी ने ,बार बार वंदना।
बार बार वंदना ,हजार बार वंदना।

सच्चियाय माताजी री ,महिमा है भारी।
तीनो लोका में पूजे ,सब नर नारी।
धोरा वाले धाम ने है ,बार बार वंदना। टेर।

सच्चियाय माता जग में ,परचा दिखावे।
दीन दुखी रा मैया ,दुखड़ा मिटावे।
दुखड़ा मेटणहार ने है ,बार बार वंदना। तेर।

शीश सुहावे तुर्रो ,शोभा है न्यारी।
सच्चियाय माताजी री ,मूरत प्यारी।
सिंह असवार ने है ,बार बार वंदना। तेर।

जो भी साँचल माता ने ,श्रद्धा सु ध्यावे।
भव राबंधन सु ,प्राणी मुक्ति पावे।
भक्त प्रतिपाल ने है ,बार बार वंदना। तेर।

दास अशोक ज्या री ,महिमा सुणावे।
चरणा री चाकरी में ,सब सुख पावे।
नैया खेवणहार ने है ,बार बार वंदना। तेर।

moinuddin manchala ke mata ji ke bhajan

भजन :- सच्चियाय माता जी ने बार बार वंदना
गायक :- मोइनुद्दीन मनचला
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- सिंह चढ़े ने बेगा आवजो

जरूर पढ़ें :- सड़का सड़का दिवलीयो संजोय

पिछला लेखबिलाड़ा में जावणा ने आई ने मनावणा भजन लिरिक्स | Bilada Me Javna Ne Aai Ne Manavna bhajan lyrics
अगला लेखभगता ऊपर बंक्यारानी छतर छाया राखजो भजन लिरिक्स | bhagta upar bankyarani chatar chaya rakh jo bhajan lyrics

5 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

fifteen − six =