सिंह चढ़े ने बेगा आवजो भजन लिरिक्स | Ambe Maa Singh Chad ne Bega Aavjo bhajan lyrics

143

सिंह चढ़े ने बेगा आवजो भजन लिरिक्स

सिंह चढ़े ने बेगा आवजो भजन लिरिक्स Ambe Maa Singh Chad ne Bega Aavjo mata rani ke bhajan lyrics

।। दोहा ।।
कलकत्ते री कालका, महाभारत महावीर।
पिछम धरा में रामदेव, मेडी गोगा पीर।


~ सिंह चढ़े ने बेगा आवजो ~

ओ अम्बे जी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।
थारा सेवक जोवे बाट अम्बे जी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


ओ माता जी ,
ऊँचे भाखर में थारो देवरो।
थारी धजा फरुखे असमान अम्बे जी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


ओ अम्बे जी ,
दूर देशा रा आवे जातरू।
थे तो राखो शरणा रे मांय अम्बे जी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


ओ माता जी ,
भल हल भालो हाथ में।
थे करो दुष्टा रो नाश अम्बे जी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


ओ अम्बे जी ,
सुभ निशुंभ विदारिया।
थे करी भगता री स्याय अम्बेजी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


ओ अम्बे जी ,
रतन कुशल करे विनती।
अब कीजो भवजल पार अम्बेजी ,
सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।


जरूर पढ़ें :- सड़का सड़का दिवलीयो संजोय

जरूर पढ़ें :- ऊँचो रे देवल देवी रो उजलो

mata ji ke bhajan lyrics in hindi

~ Singh Chad ne Bega Aavjo ~

o ambe ji,
singh chade ne bega aavjo.
thara sevak jove bat ambe ji,
singh chade ne bega aavjo.


o mata ji,
unche bhakhar me tharo devro.
thari dhaja farukhe asman ambe ji,
singh chade ne bega aavjo.


o ambe ji,
dur desha ra aave jatru.
the to rakho sharna re may ambe ji,
singh chade ne bega aavjo.


o mata ji,
bhal hal bhala hath me.
the karo dusta ro nash ambe ji,
singh chade ne bega aavjo.


o ambe ji,
subh nisubh vidariya.
the kari bhagta ri syay ambeji,
singh chade ne bega aavjo.


o ambe ji,
ratan kushal kare vinti.
ab kijo bhavjal paar ambeji,
singh chade ne bega aavjo.


जरूर पढ़ें :- धोरा में धाम कहावे थारो

जरूर पढ़ें :- भगता रो हेलो सुनने आवजो

माता रानी के भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ सिंह चढ़े ने बेगा आवजो ~

ओ अम्बे जी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।
थारा सेवक जोवे बाट अम्बे जी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

ओ माता जी ,ऊँचे भाखर में थारो देवरो।
थारी धजा फरुखे असमान अम्बे जी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

ओ अम्बे जी ,दूर देशा रा आवे जातरू।
थे तो राखो शरणा रे मांय अम्बे जी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

ओ माता जी ,भल हल भालो हाथ में।
थे करो दुष्टा रो नाश अम्बे जी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

ओ अम्बे जी ,सुभ निशुंभ विदारिया।
थे करी भगता री स्याय अम्बेजी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

ओ अम्बे जी ,रतन कुशल करे विनती।
अब कीजो भवजल पार अम्बेजी ,सिंह चढ़े ने बेगा आवजो।

murlidhar porwal ke bhajan

भजन :- सिंह चढ़े ने बेगा आवजो
गायक :- मुरली धर पोरवाल
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- जगदंबा थारा नाम हजार

जरूर पढ़ें :- जियो घणावर राज घणावर

पिछला लेखसड़का सड़का दिवलीयो संजोय भोला सेवग रे भजन लिरिक्स | sadka sadka diwaliyo sanjoy bhajan lyrics
अगला लेखहिरदा में रेवो भवानी परदा में रेवो भजन लिरिक्स | Hirda Me Revo Bhawani Parda Me Revo bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

16 − nine =