रिमझिम रिमझिम करती मारी मात भवानी आवे रे भजन लिरिक्स | Rimjhim Rimjhim Karti Mhari Mat bhawani Aave bhajan lyrics

860

रिमझिम रिमझिम करती मारी मात भवानी आवे रे भजन लिरिक्स

रिमझिम रिमझिम करती मारी मात भवानी आवे रे भजन Rimjhim Rimjhim Karti Mhari Mat bhawani Aave mata rani bhajan lyrics

।। दोहा ।।
अष्ट पहर चौसठ घडी, सिंवरू देवी तोय।
पट मंदिर का खोल दे, मैया दर्शन देवो मोय।


~ रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ~

रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,
मात भवानी आवे रे।
आगे आगे भेरुजी ए ,
घुंघरिया घमकावे है।
रिमझिम रिमझिम करती ओ म्हारी।


जगमग हार गले में चमके ,
कुण्डल कानो माये जी।
लाल रूप माथे पर बिंदिया ,
शोभा वरणी न जाये जी।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,
मात भवानी आवे रे। टेर।


छम छम पग में पायल बाजे ,
बिछिया री छवि न्यारी ओ।
तारा जड़िया चुनड़ी में ,
शोभा लागे प्यारी ओ।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,
मात भवानी आवे रे। टेर।


त्रिशूल माता रे हाथ में सोवे ,
नथणी नाक रे माहि ओ।
जगमग जोता जागे हो माता ,
मोहनी रूप धराई ओ।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,
मात भवानी आवे रे। टेर।


सिंह चढ़े ने आवो भवानी ,
भक्त मंडल गावे है।
अब तो म्हाने दर्शन देवो ,
भक्त घणा सुख पावे है।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,
मात भवानी आवे रे। टेर।


जरूर पढ़ें :- म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ

जरूर पढ़ें :- हालो रे हालो आई माता रे धाम

mata rani bhajan lyrics in hindi

~ Rimjhim Rimjhim Karti Mhari ~

rimjhim rimjhim karti mhari,
mat bhavani aave re.
aage aage bheruji e,
ghunghariya ghamkave hai.
rimjhim rimjhim karti o mhari.


jagmag har gale me chamke,
kundal kano maye ji.
lal rup mathe par bindiya,
shibha varni n jaye ji.
rimjhim rimjhim karti mhari,
mat bhavani aave re.


chham chham pag me payal baje,
bichiya ri chavi nyari o.
tara jadiya chundi me,
sobha lage pyari o.
rimjhim rimjhim karti mhari,
mat bhavani aave re.


trishul mata re hath me sove,
nathani nak re mahi o.
jagmag jota jage ho mata,
mohani rup dharai o.
rimjhim rimjhim karti mhari,
mat bhavani aave re.


singh chade ne aavo bhavani,
bhakt mandal gave hai.
ab to mhane darshan devo,
bhakt ghana sukh pave hai.
rimjhim rimjhim karti mhari,
mat bhavani aave re.


जरूर पढ़ें :- कभी फुर्सत हो तो जगदंबे

जरूर पढ़ें :- भोर भई दिन चढ़ गया

माता रानी भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ रिमझिम रिमझिम करती मारी ~

रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,मात भवानी आवे रे।
आगे आगे भेरुजी ए ,घुंघरिया घमकावे है।
रिमझिम रिमझिम करती ओ म्हारी।

जगमग हार गले में चमके ,कुण्डल कानो माये जी।
लाल रूप माथे पर बिंदिया ,शोभा वरणी न जाये जी।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,मात भवानी आवे रे। टेर।

छम छम पग में पायल बाजे ,बिछिया री छवि न्यारी ओ।
तारा जड़िया चुनड़ी में ,शोभा लागे प्यारी ओ।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,मात भवानी आवे रे। टेर।

त्रिशूल माता रे हाथ में सोवे ,नथणी नाक रे माहि ओ।
जगमग जोता जागे हो माता ,मोहनी रूप धराई ओ।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,मात भवानी आवे रे। टेर।

सिंह चढ़े ने आवो भवानी ,भक्त मंडल गावे है।
अब तो म्हाने दर्शन देवो ,भक्त घणा सुख पावे है।
रिमझिम रिमझिम करती म्हारी ,मात भवानी आवे रे। टेर।

bhagwat suthar ke bhajan

भजन :- रिमझिम रिमझिम करती म्हारी
गायक :- भगवत सुथार
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- अम्बे मैया का जयकारा

जरूर पढ़ें :- अम्बे तू है जगदम्बे काली

पिछला लेखम्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ भजन लिरिक्स | Durga Roop Dikha Mari Maa bhajan lyrics
अगला लेखसब जग तेरा दास भवानी भजन लिरिक्स | sab jag tera das bhavani bhajan lyrics

4 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

8 + 18 =