म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ भजन लिरिक्स | Durga Roop Dikha Mari Maa bhajan lyrics

246

म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ भजन लिरिक्स

म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ भजन लिरिक्स Durga Roop Dikha Mari Maa mata ji ke bhajan lyrics in hindi

।। दोहा ।।
आठ पहर चौसठ घडी, सिंवरू देवी तोय।
पट मंदिर का खोल दे, मैया दर्शन देवो मोय।


~ दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ~

म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा।
आदि भवानी माँ जगदम्बा ,
सिंह सवारी बेगी आ।


जनम जनम सु प्यासा म्हारा ,
नैण उडीके थाने।
निशदिन सिंवरू माँ जगदम्बा ,
दर्श दिखावो माने।
भगता री रखवाळी अम्बा ,
भगता ने ले कंठ लगा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।


इन कलजुग में माँ जगदम्बा ,
एक आसरो थारो।
दुखहरणी नवदुर्गा अम्बा ,
कष्ट हरी जो म्हारो।
मन में कर विश्वास तिहारो ,
अम्बा थारे द्वार खड़ा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।


मोटो थारो नाम भवानी ,
तू मोटी महाराणी।
ब्रह्मा विष्णु देव मनावे ,
पूजे दुनियाँ सारी।
तू मोटी दातार भवानी ,
अन धन रा भंडार भरा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।


महिषासुर ने मारण वाली ,
दुर्गा ने जग ध्यावे।
चंड मुण्ड ने मारण वाली ,
दुर्गा ने जग ध्यावे।
माँ अम्बा रा दर्शन कर ने ,
मनचाया फल पावे।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।


महिमा नवदुर्गा री कोई ,
दास अशोक सुनावे।
बेड़ो अबके पार करीजो ,
हाथ जोड़ समझावे।
हाथ धरो मस्तक पर अम्बा ,
चरणा थारे शीश धरा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,
मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।


जरूर पढ़ें :- हालो रे हालो आई माता रे धाम

जरूर पढ़ें :- कभी फुर्सत हो तो जगदंबे

mata ji ke bhajan lyrics in hindi

~ Durga Roop Dikha Mari Maa ~

mane durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .
aadi bhavani maa jagdamba,
singh sawari begi aa.


janam janam su pyasa mhara,
nain udike thane.
nishdin sinvaru ma jagdamba,
darsh dikhavo mane.
bhagta ri rakhwali amba,
bhagta ne le kanth laga.
durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .


en kaljug me maa jagdamba,
ek aasro tharo.
dukhharni navdurga amba,
kasth hari jo mharo.
man me kar vishvas tiharo,
amba thare dwar khada.
durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .


moto tharo naam bhavani,
tu moti maharani.
brahama vishnu dev manave,
puje duniya sari.
tu moti datar bhawani,
an dhan ra bhandar bhara.
durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .


mahishasur ne maran wali,
durga ne jag dhyave.
chand mund ne maran wali,
durga ne jag dhyave.
maa amba ra darshan kar ne,
manchaya fal pave.
durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .


Mahima navdurga ri koi,
Das ashok sunave.
Bedo ab ke paar karijo,
Hath jod samjhave.
Hath dharo mastak par amba,
Charna thare shish dhara.
durga rup dikha mhari ma,
mane durga rup dikha .


जरूर पढ़ें :- भोर भई दिन चढ़ गया

जरूर पढ़ें :- अम्बे मैया का जयकारा

माता जी के भजन लिरिक्स

~ म्हाने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ~

मने दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा।
आदि भवानी माँ जगदम्बा ,सिंह सवारी बेगी आ।

जनम जनम सु प्यासा म्हारा ,नैण उडीके थाने।
निशदिन सिंवरू माँ जगदम्बा ,दर्श दिखावो माने।
भगता री रखवाळी अम्बा ,भगता ने ले कंठ लगा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।

इन कलजुग में माँ जगदम्बा ,एक आसरो थारो।
दुखहरणी नवदुर्गा अम्बा ,कष्ट हरी जो म्हारो।
मन में कर विश्वास तिहारो ,अम्बा थारे द्वार खड़ा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।

मोटो थारो नाम भवानी ,तू मोटी महाराणी।
ब्रह्मा विष्णु देव मनावे ,पूजे दुनियाँ सारी।
तू मोटी दातार भवानी ,अन धन रा भंडार भरा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।

महिषासुर ने मारण वाली ,दुर्गा ने जग ध्यावे।
चंड मुण्ड ने मारण वाली ,दुर्गा ने जग ध्यावे।
माँ अम्बा रा दर्शन कर ने ,मनचाया फल पावे।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।

महिमा नवदुर्गा री कोई ,दास अशोक सुनावे।
बेड़ो अबके पार करीजो ,हाथ जोड़ समझावे।
हाथ धरो मस्तक पर अम्बा ,चरणा थारे शीश धरा।
दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ ,मने दुर्गा रूप दिखा। टेर।

moinuddin manchala ke bhajan

भजन :- दुर्गा रूप दिखा म्हारी माँ
गायक :- मोइनुद्दीन मनचला
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- अम्बे तू है जगदम्बे काली

जरूर पढ़ें :- मैया तेरा भगत करे अरदास

पिछला लेखपांय लागू जी महाराज बिड़द बंका भजन लिरिक्स | Paaye Lagu Ji Maharaj bhajan lyrics
अगला लेखरिमझिम रिमझिम करती मारी मात भवानी आवे रे भजन लिरिक्स | Rimjhim Rimjhim Karti Mhari Mat bhawani Aave bhajan lyrics

4 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

twenty − thirteen =