चंदा छुप जा रे बादल में भजन लिरिक्स | chanda chup ja re badal mein bhajan lyrics

482

चंदा छुप जा रे बादल में भजन लिरिक्स

चंदा छुप जा रे बादल में भजन लिरिक्स chanda chup ja re badal mein bhajan lyrics ram ji ke bhajan lyrics

।। दोहा ।।
राम नाम सबसे बड़ा, इससे बड़ा न कोय।
अपने बल तो रावण बड़े, जो लंका देवे खोय।


~ चंदा छुप जा रे बादल में ~

राम गयो वनवास म्हारो ,
लखन गयो वनवास।
चंदा छुप जा रे बादल में ,
म्हारो राम गयो वनवास।


राम बिना म्हारी सुनी अयोध्या ,
लखन बिना ठकुराई।
सीता बिना म्हारो सुनो रसोड़ो ,
कोण करे चतुराई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,
म्हारो राम गयो वनवास। टेर।


आगे आगे राम चलत है ,
पीछे लक्मण भाई।
बिच में तो चले जानकी ,
शोभा वरणी न जाई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,
म्हारो राम गयो वनवास। टेर।


सावण बरस भादवो बरसे ,
पवन चले पुरवाई।
वृक्ष के निचे तीनो भीगे ,
राम लखन सीता माई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,
म्हारो राम गयो वनवास। टेर।


रावण मार राम घर आये ,
घर घर बटत बधाई।
सुर नर मुनिजन करत आरती ,
तुलसीदास जश गाई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,
म्हारो राम गयो वनवास। टेर।


जरूर पढ़ें :- श्री राम दया के सागर है

जरूर पढ़ें :- रघुपति राघव राजा राम

ram ji ke bhajan lyrics in hindi

~ chanda chup ja re badal mein ~

Ram gayo vanvas mharo,
lakhan gayo vanvas .
chanda chup ja re badal me,
mharo ram gayo vanvas.


ram bina mhari suni ayodhya,
lakhan bina thakurai.
seeta bina mharo suno rasodo,
kon kare chaturai.
chanda chup ja re badal me,
mharo ram gayo vanvas


aage aage ram chalat hai,
piche laxman bhai.
bich me to chale janki,
shobha varni na jai.
chanda chup ja re badal me,
mharo ram gayo vanvas


savan baras bhadvo barse,
pavan chale purvai.
vriksh ke niche teeno bhige,
ram lakhan seeta mai.
chanda chup ja re badal me,
mharo ram gayo vanvas


ravan mar ram ghar aaye,
ghar ghar batat badhai.
sur nar munijan karat aarti,
tulsi das jash gai.
chanda chup ja re badal me,
mharo ram gayo vanvas


जरूर पढ़ें :- प्रेम मुदित मन से कहो

जरूर पढ़ें :- श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन

राम जी के भजन लिरिक्स

~ चंदा छुप जा रे बादल में ~

राम गयो वनवास म्हारो ,लखन गयो वनवास।
चंदा छुप जा रे बादल में ,म्हारो राम गयो वनवास।

राम बिना म्हारी सुनी अयोध्या ,लखन बिना ठकुराई।
सीता बिना म्हारो सुनो रसोड़ो ,कोण करे चतुराई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,म्हारो राम गयो वनवास। टेर।

आगे आगे राम चलत है ,पीछे लक्मण भाई।
बिच में तो चले जानकी ,शोभा वरणी न जाई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,म्हारो राम गयो वनवास। टेर।

सावण बरस भादवो बरसे ,पवन चले पुरवाई।
वृक्ष के निचे तीनो भीगे ,राम लखन सीता माई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,म्हारो राम गयो वनवास। टेर।

रावण मार राम घर आये ,घर घर बटत बधाई।
सुर नर मुनिजन करत आरती ,तुलसीदास जश गाई।
चंदा छुप जा रे बादल में ,म्हारो राम गयो वनवास। टेर।

anil nagori ke latest bhajan lyrics

भजन :- चंदा छुप जा रे बादल में
गायक :- अनिल नागौरी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- राम कहानी सुनो रे

जरूर पढ़ें :- भए प्रगट कृपाला दीन दयाला

पिछला लेखम्हारो बेड़ो पार लगा दाता भजन लिरिक्स | Maharo Bedo Paar Laga Data bhajan lyrics
अगला लेखकभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े भजन लिरिक्स | kabhi kabhi bhagwan ko bhi bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

1 + one =