रुत आया बोले मोरा जी श्याम बिना जीव दोरा भजन लिरिक्स | Rut aaya bole mora re bhajan lyrics

785

रुत आया बोले मोरा जी श्याम बिना जीव दोरा भजन लिरिक्स

रुत आया बोले मोरा जी श्याम बिना जीव दोरा भजन लिरिक्स Rut aaya bole mora re bhajan lyrics

।। दोहा ।।
राधे तू बड़भागिनी, कौन तपस्या किन।
तीन लोक तारण तिरण, सो तेरे आधीन।


~ रुत आया बोले मोरा जी ~

रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
श्याम बिना जीव दोरा रे ,
म्हारा हरी बिना जीव दोरा रे।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।


उत्तर दिशा सु आई रे बादली ,
पिछम दिशा में घनघोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।


सावण बरस भादवो गरजे ,
नदियाँ लेवे रे हिलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।


दादुर मोर पपीहा बोले ,
कोयल करत किलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।


चन्द्रसखी री अरज विनती ,
आप मिल्या जिव सोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।


जरूर पढ़ें :- नदियाँ रो नीर सांवरा

जरूर पढ़ें :- घुंघरू छम छमा छम बाजे रे

shri krishna bhajan hindi lyrics in English

~ Rut aaya bole mora re ~

rut aaya bole mora ji ,
mhara shyam bina jiv dora.
shyam bina jiv dora re,
mhara hari bina jiv dora re.
rut aaya bole mora ji,
mhara shyam bina jiv dora.


uttar disha su aai re badali,
pichham disha me ghanghora ji.
mhara shyam bina jiv dora.
rut aaya bole mora ji,
mhara shyam bina jiv dora.


savan baras bhadvo garje,
nadiya leve re hilora ji.
mhara shyam bina jiv dora.
rut aaya bole mora ji,
mhara shyam bina jiv dora.


dadur mor papiha bole,
koyal karat kilora ji.
mhara shyam bina jiv dora.
rut aaya bole mora ji,
mhara shyam bina jiv dora.


chandrasakhi ri araj vinti,
aap milya jiv sora ji.
mhara shyam bina jiv dora.
rut aaya bole mora ji,
mhara shyam bina jiv dora.


जरूर पढ़ें :- मोर छड़ी लहराई रे

जरूर पढ़ें :- जोगीड़ा ने जादू कीनो रे

श्री कृष्ण भजन लिरिक्स

~ रुत आया बोले मोरा जी ~

रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।
श्याम बिना जीव दोरा रे ,म्हारा हरी बिना जीव दोरा रे।
रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।

उत्तर दिशा सु आई रे बादली ,पिछम दिशा में घनघोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा। टेर।

सावण बरस भादवो गरजे ,नदियाँ लेवे रे हिलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा। टेर।

दादुर मोर पपीहा बोले ,कोयल करत किलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा। टेर।

चन्द्रसखी री अरज विनती ,आप मिल्या जिव सोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जिव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,म्हारा श्याम बिना जिव दोरा। टेर।

chandra sakhi ke bhajan

भजन :- रुत आया बोले मोरा जी
गायक :- unknown
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- थारा सु मनड़ो लागो रे

जरूर पढ़ें :- कन्हैया हिंडो गाल्यो रे

पिछला लेखनदियाँ रो नीर सांवरा रोक ने बतावो भजन लिरिक्स | nadiya ro neer sawra bhajan lyrics
अगला लेखथारोडी सेजा भूली सांवरा नवसरहार भजन लिरिक्स | tharodi seja bhuli navsarhar sorath bhajan lyrics

6 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 5 =