भोला शंकर ने ध्यावे भगत थारा दर्शन ने आवे भजन लिरिक्स | bhola shankar ne dhyave bhajan lyrics

277

भोला शंकर ने ध्यावे भगत थारा दर्शन ने आवे भजन लिरिक्स

भोला शंकर ने ध्यावे भगत थारा दर्शन ने आवे भजन bhola shankar ne dhyave  bholenath bhajan lyrics in hindi

~ भोला शंकर ने ध्यावे ~

भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे।
हर हर बम बम जय शिव शंकर ,
गाता गाता आवे।


आडावळ री धरती प्यारी ,
शोभा जग सु न्यारी है।
उंडी गुफा रे माय विराजे ,
परशुराम अवतारी है।
ऊँचे भाखर बण्यो देवरो ,
भगता रे मन भावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।


मोर पपैया मीठा बोले ,
हरियाली मन भावे है।
भगता रा टोला शंकर रा ए ,
मीठा हरजस गावे है।
झांझ मंजीरा नोपत नित रा ,
परशुराम रे बाजे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।


सावण महिने मेलो लागे ,
आवे दुनिया सारी है।
सोमवार ने निज मिन्दर में ,
भीड़ पड़े भगता री है।
भांग धतूरो शिव शंकर रे ,
मिन्दर भोग चढ़ावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।


सांचे मन सु जो भी कोई ,
परशुराम ने ध्यावे है।
पाप कटे है इण जीवन रा ,
मनचाया फल पावे है।
भोळो शंकर निज भगता ने ,
भव सु पार उतारे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।


परशुराम री महिमा कोई ,
दास अशोक सुणावे है।
सावण महिने आडावळ में ,
शिव रा दर्शन पावे है।
शरणे राखजो दास ने दाता ,
शरणो में सुख पावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,
भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।


जरूर पढ़ें :- नाग देवता त्राहिमाम

जरूर पढ़ें :- भव सागर सु पार उतारो

bholenath bhajan lyrics in hindi

~ bhola shankar ne dhyave ~

bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.
har har bam bam jay shiv shnker,
gata gata aave.


aadaval ri dharati pyari,
shobha jag su nyari hai.
undi gufa re may viraje,
parsuram avtari hai.
unche bhakhar banyo devro,
bhagta re man bhave.
bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.


mor papaiya motha bole,
hariyali man bhave hai.
bhagta ra tola shanker ra e,
mitha harjas gave hai.
jhanjh manjira nopat nit ra,
parsuram re baje.
bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.


savan mahime melo lage,
aave duniya sari hai.
somvar ne nij mindar me,
bhid pade bhagta ri hai.
bhang dhaturo shiv shnaker re,
mindar bhog chadhave.
bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.


sanche man su jo bhi koi,
parsuram ne dhyave hai.
pap kate hai en jivan ra,
manchaya fal pave hai.
bholo shanker nij bhagta ne ,
bhav su par utare.
bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.


parsuram ri mahima koi,
das ashok sunave hai.
savan mahime aadaval me,
shiv ra darshan pave hai.
sharne rakhjo das ne data,
sharano me sukh pave.
bhola shanker ne dhyave,
bhagat thara darshan ne aave.


जरूर पढ़ें :- बन्नो भभूति वालो 

जरूर पढ़ें :- तू राजा की राज दुलारी

भोलेनाथ भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ भोला शंकर ने ध्यावे ~

भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे।
हर हर बम बम जय शिव शंकर ,गाता गाता आवे।

आडावळ री धरती प्यारी ,शोभा जग सु न्यारी है।
उंडी गुफा रे माय विराजे ,परशुराम अवतारी है।
ऊँचे भाखर बण्यो देवरो ,भगता रे मन भावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।

मोर पपैया मीठा बोले ,हरियाली मन भावे है।
भगता रा टोला शंकर रा ए ,मीठा हरजस गावे है।
झांझ मंजीरा नोपत नित रा ,परशुराम रे बाजे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।

सावण महिने मेलो लागे ,आवे दुनिया सारी है।
सोमवार ने निज मिन्दर में ,भीड़ पड़े भगता री है।
भांग धतूरो शिव शंकर रे ,मिन्दर भोग चढ़ावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।

सांचे मन सु जो भी कोई ,परशुराम ने ध्यावे है।
पाप कटे है इण जीवन रा ,मनचाया फल पावे है।
भोळो शंकर निज भगता ने ,भव सु पार उतारे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।

परशुराम री महिमा कोई ,दास अशोक सुणावे है।
सावण महिने आडावळ में ,शिव रा दर्शन पावे है।
शरणे राखजो दास ने दाता ,शरणो में सुख पावे।
भोला शंकर ने ध्यावे ,भगत थारा दर्शन ने आवे। टेर।

rajendra parihar ke bhajan

भजन :- भोला शंकर ने ध्यावे
गायक :- राजेंद्र परिहार
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- भूरिया बाबा मेलो घर घर में

जरूर पढ़ें :- शिव भोला गजब का गोला

पिछला लेखनाग देवता त्राहिमाम भजन लिरिक्स | nag devta trahimam bhajan lyrics
अगला लेखबम बम लहरी ओम शिव लहरी सब गावे भजन लिरिक्स | bam bam lahari om shiv lahari bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

18 − 15 =