अब हम जाते है घर झुकाकर सर गुरुवर प्यारा भजन लिरिक्स | ashish ka karo ishara bhajan lyrics

316

अब हम जाते है घर झुकाकर सर गुरुवर प्यारा भजन लिरिक्स

अब हम जाते है घर झुकाकर सर गुरुवर प्यारा भजन ashish ka karo ishara bhajan guru ji bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
संत बड़े परमारथी , शीतल वारा अंग।
तपत बुझावे ओरो की , दे दे भगती रंग।


~ अब हम जाते है घर ~

अब हम जाते है घर , झुकाकर सर ,
ओ गुरुवर प्यारा।
आशीष का करो इशारा।


दिल तो जाने को नहीं करता ,
पर गये बिना भी नहीं सरता।
अब करू तो कोन उपाय ,
नहीं कोई चारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।


आवे तब ह्रदय हर्ष होवे ,
जाते समय नयन रोवे।
बिछड़न से नैनो में ,
बहती अश्रुधारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।


फिर जल्दी बुला दर्शन देना ,
मेरी खबर लेते रहना।
निश्चित रहु में ,
तुझ पर हर प्रकारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।


कुछ गलती यदि हुई मेरी ,
कर देना माफ़ सुनकर टेरी।
रहे भक्त आपके ,
हुकम का ही हलकारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।


कुछ हुई नहीं पूजा भक्ति ,
नहीं धन लगाने की शक्ति।
बस हाथ जोड़कर ,
छोड़ रहा हु द्वारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।


जरूर पढ़ें :- गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो

जरूर पढ़ें :- प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार

guru ji bhajan lyrics in hindi

~ ashish ka karo ishara ~

ab ham jate hai ghar jhukakar sar,
o guruvar pyara.
ashish ka karo ishara.


dil to jane ko nhi karta,
par gaye bina bhi nhi sarta.
ab karu to kon upay,
nhi koi chara.
ashish ka karo ishara.


aave tab harday harsh hove,
jate samay nayan rove.
bichdan se naino me,
bahti ashrudhara.
ashish ka karo ishara.


fir jaldi bula darshan dena,
meri khabar lete rahna.
nishchit rahu me,
tujh par har prakara.
ashish ka karo ishara.


kuch lagti yadi hui meri,
kar dena maf sunkar teri.
rahe bhakt aapke,
hukam ka hi halkara.
ashish ka karo ishara.


kuch hui nhi puja bhakti,
nhi dhan lagane ki shakti.
bas hath jodkar,
chod raha hu dwara.
aashish ka karo ishara.


जरूर पढ़ें :- अमृत रा प्याला कद माने पावोला

जरूर पढ़ें :- मारोडो संदेशो म्हारा गुरुजी ने दीजो

सतगुरु जी के भजन हिंदी में

~ अब हम जाते है घर ~

अब हम जाते है घर , झुककर सर ,ओ गुरुवर प्यारा।
आशीष का करो इशारा।

दिल तो जाने को नहीं करता ,पर गये बिना भी नहीं सरता।
अब करू तो कोन उपाय ,नहीं कोई चारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।

आवे तब ह्रदय हर्ष होवे ,जाते समय नयन रोवे।
बिछड़न से नैनो में ,बहती अश्रुधारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।

फिर जल्दी बुला दर्शन देना ,मेरी खबर लेते रहना।
निश्चित रहु में ,तुझ पर हर प्रकारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।

कुछ गलती यदि हुई मेरी ,कर देना माफ़ सुनकर टेरी।
रहे भक्त आपके ,हुकम का ही हलकारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।

कुछ हुई नहीं पूजा भक्ति ,नहीं धन लगाने की शक्ति।
बस हाथ जोड़कर ,छोड़ रहा हु द्वारा।
आशीष का करो इशारा। टेर।

marwadi guru ji ke bhajan

भजन :- आशीष का करो इशारा
गायक :- unknown
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- गुरुजी ज्ञान बतायो जग झूठ लखायो

जरूर पढ़ें :- समझ मन मेरा

पिछला लेखगुरूसा अब थोड़ी मेहर करो भजन लिरिक्स | Gurasa Ab Thodi Mehar Karo Re bhajan lyrics
अगला लेखमोहन खेड़ा के प्रांगण में भजन लिरिक्स | Mohan Kheda Ke Prangan Mein bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

seven + three =