प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार भजन लिरिक्स | pranam gurudev ji ko barambar bhajan lyrics

264

प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार भजन लिरिक्स

प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार भजन pranam gurudev ji ko barambar satguru mahima bhajan hindi lyrics

।। दोहा ।।
सतगुरु ऐसा कीजिये ,दुखे दुखावे नाय।
पान फूल तोड़े नहीं ,रेवे बगीचा माय।


~ प्रणाम गुरुदेव जी ने बारम्बार ~

प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।
बारम्बार मेरा बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेव जी ने बारम्बार।


ब्रह्मा रे रूप धर वेद प्रकट कर ,
रचियो सकल संसार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।


विष्णु रे रूप धर विशव रो पालन ,
धर्म हेतु अवतार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।


रूद्र रूप धर दुष्ट रुलावण ,
पल में करते संहार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।


अचलूराम जिव मुक्ति रे कारण ,
गुरु मूर्ति लीजो रे धार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।


जरूर पढ़ें :- सतगुरु आवोला

जरूर पढ़ें :- मारोडो संदेशो म्हारा गुरुजी ने दीजो

satguru mahima bhajan hindi lyrics

~ pranam gurudev ji ko barambar ~

pranam gurudev ji ne barambar,
pranam gurudev ji ne barambar.
barambar mera barambar ,
pranam gurudev ji ne barambar.


brahma re rup dhar ved prakat kar,
rachiyo sakal sansara.
pranam gurudev ji ne barambar,
pranam gurudev ji ne barambar.


vishnu re rup dhar vishva ro palan,
dharma hetu avtar.
pranam gurudev ji ne barambar,
pranam gurudev ji ne barambar.


rundra rup dhar dusht rulavan,
pal me karte sanhar.
pranam gurudev ji ne barambar,
pranam gurudev ji ne barambar.


achluram jiv mukti re karan,
guru murti lijo re dhar.
pranam gurudev ji ne barambar,
pranam gurudev ji ne barambar.


जरूर पढ़ें :- गुरुजी ज्ञान बतायो

जरूर पढ़ें :- समझ मन मेरा

सतगुरु जी के भजन हिंदी में

~ प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार ~

प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।
बारम्बार मेरा बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेव जी ने बारम्बार।

ब्रह्मा रे रूप धर वेद प्रकट कर ,रचियो सकल संसार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।

विष्णु रे रूप धर विशव रो पालक ,धर्म हेतु अवतार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।

रूद्र रूप धर दुष्ट रुलावण ,पल में करते संहार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।

अचलूराम जिव मुक्ति रे कारण ,गुरु मूर्ति लीजो रे धार।
प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार ,प्रणाम गुरुदेवजी ने बारम्बार।

atmaram ji ke bhajan

भजन :- प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार
गायक :- आत्माराम जी महाराज
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मारा सतगुरु कृपा किनी

जरूर पढ़ें :- गुरासा माने ओलु आपरी आवे

Share this

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × 1 =