गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो भजन लिरिक्स | Gurasa Ab Thodi Mehar Karo Re bhajan lyrics

602

गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो भजन लिरिक्स

गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो भजन, Gurasa Ab Thodi Mehar Karo Re guru mahima bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
सो सो चंदा उगवे , सूरज तपे हजार।
इतरा चानण होत भी , गुरु बिन घोर अंधार।


~ गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो ~

कायर जिवडो कोपे मन मायलो ,
सिर पर हाथ धरो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।


लख चौरासी भटकत भटकत ,
नवी नवी जूण धरो रे।
अब के आयो शरणे आपरे ,
अब कोई कोप करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।


डरियोडा जिव ने धीरप कर राखो ,
पल में पार करो रे।
आप बिना चौरासी कुण मेटे ,
करोड़ उपाय करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।


पारस देख लोहा रो मन ललसे ,
करमो रो किट जरो रे।
तावे ने सोनो करो सोलमो ,
कंचन माल करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।


रामानंद रिपोट लिख दिनी ,
दुर्ग में पेश करो रे।
कहे कबीर सुनो साधु भाई ,
भवसागर पार करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।


जरूर पढ़ें :- प्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार

जरूर पढ़ें :- सतगुरु आवोला

guru mahima bhajan lyrics in hindi

~ Gurasa Ab Thodi Mehar Karo Re ~

kayar jivdo kope man maylo,
sir par hath dharo re.
gurusa ab thodi mehar karo.


lakh chourasi bhatkat bhatkat,
navi navi jun dharo re.
ab ke aayo sharane aapre,
ab koi kop karo re.
gurusa ab thodi mehar karo.


daryoda jiv ne dhirap kar rakho,
pal me par karo re.
aap bina chourasi kun mete,
karod upay karo re.
gurusa ab thodi mehar karo.


paras dekh loha ro man lalse,
karmo ro kit jaro re.
tave ne sono karo solmo,
kanchan mal karo re.
gurusa ab thodi mehar karo.


ramanand ripot likh dini,
durg me pesh karo re.
kahe kabir suno sadhu bhai,
bhavsagar par karo re.
gurusa ab thodi mehar karo.


जरूर पढ़ें :- मारोडो संदेशो म्हारा गुरुजी ने दीजो

जरूर पढ़ें :- गुरुजी ज्ञान बतायो

सतगुरु जी के भजन हिंदी में

~ गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो ~

कायर जिवडो कोपे मन मायलो ,सिर पर हाथ धरो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।

लख चौरासी भटकत भटकत ,नवी नवी जूण धरो रे।
अब के आयो शरणे आपरे ,अब कोई कोप करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।

डरियोडा जिव ने धीरप कर राखो ,पल में पार करो रे।
आप बिना चौरासी कुण मेटे ,करोड़ उपाय करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।

पारस देख लोहा रो मन ललसे ,करमो रो किट जरो रे।
तावे ने सोनो करो सोलमो ,कंचन माल करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।

रामानंद रिपोट लिख दिनी ,दुर्ग में पेश करो रे।
कहे कबीर सुनो साधु भाई ,भवसागर पार करो रे।
गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो।

lalit prajapat ke bhajan

भजन :- गुरूसा अब थोड़ी मेहर करो
गायक :- ललित प्रजापत
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- समझ मन मेरा

जरूर पढ़ें :- मारा सतगुरु कृपा किनी

पिछला लेखप्रणाम गुरुदेव जी ने बारंबार भजन लिरिक्स | pranam gurudev ji ko barambar bhajan lyrics
अगला लेखअब हम जाते है घर झुकाकर सर गुरुवर प्यारा भजन लिरिक्स | ashish ka karo ishara bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

twenty − eleven =