सांवरिया मारी अरज सुनो गिरधारी भजन लिरिक्स | araj suno banwari bhajan lyrics

1012

सांवरिया मारी अरज सुनो गिरधारी भजन लिरिक्स

सांवरिया मारी अरज सुनो गिरधारी भजन, araj suno banwari raag maand bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
रज मंदिर निज़ आगली ,तो जड़ी संजीवनी जाण।
दर्शन से पातक जड़े ,तो साचो धनी कल्याण।


~ अर्जी सुणो गिरधारी ~

अरज सुणो बनवारी सांवरियां मारी,
अरज सुणो बनवारी।
अरज सुनो गिरधारी सांवरिया मारी,
अरज सुनो गिरधारी।


श्वास श्वास मे थारे सुमीरु दाता,
भूलों मति बनवारी।
भुल गया तो रे, लाज जावेगी,
हँसी होवेगी घणी थारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।


माया नागणि कियो कुण्डल दाता,
ईण ते बेगी उबारो।
मोह माया ने रे,जाल फसायो,
अब सुध लेवो बनवारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।


मै मतिहीन हूँ कछु नही जाणु दाता,
आयो शरण तिहारी।
भवसागर में रे, घणो दुख पायो,
अब की पार उतारो।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।


आगे संत अनंत उभारिया दाता,
अबकी बारी हमारी।
दास मलूक कहे रे, भूल मति जाजो,
मने तो भरोसों बड़ो भारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।


अरज सुणो बनवारी सांवरियां मारी,
अरज सुणो बनवारी।
अरज सुनो गिरधारी सांवरिया मारी,
अरज सुनो गिरधारी।


जरूर पढ़ें :- सरवरिया री तीर खड़ी

जरूर पढ़ें :- रमता रामदेव रणुजे भले

raag maand bhajan lyrics in hindi

~ araj suno banwari ~

araj suno banvari sanwariya mari,
araj suno banvari .
araj suno girdhari sanwariya mari,
araj suno girdhari.


swas swas me thare sumir data,
bhulo mati banvari.
bhul gaya to re, laj javegi,
hansi hovegi ghani thari.
sanwariya mari araj suno banvari.


maya nagani kiyo kundal data,
en te begi ubaro.
moh maya ne re ,jal fasayo,
ab sudh levo banvari.
sanwariya mari araj suno banvari.


me matiheen hu kachu nhi janu data,
aayo sharan tihari.
bhav sagar me re, ghano dukh payo,
ab ki paar utaro.
sanwariya mari araj suno banvari.


aage sant anat ubhariya data,
abki bari hamari.
das maluk kahe re ,bhul mati jajo,
mane to bharoso bado bhari.
sanwariya mari araj suno banvari.


araj suno banvari sanwariya mari,
araj suno banvari .
araj suno girdhari sanwariya mari,
araj suno girdhari.


जरूर पढ़ें :- सांवरियो जादू कर गयो

जरूर पढ़ें :- ओढ़ चुनर में गई सत्संग में

राग मांड भजन राजस्थानी

~ सांवरिया मारी अरज सुनो गिरधारी ~

अरज सुणो बनवारी सांवरियां मारी,अरज सुणो बनवारी।
अरज सुनो गिरधारी सांवरिया मारी,अरज सुनो गिरधारी।

श्वास श्वास मे थारे सुमीरु दाता,भूलों मति बनवारी।
भुल गया तो रे, लाज जावेगी,हँसी होवेगी घणी थारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।

माया नागणि कियो कुण्डल दाता,ईण ते बेगी उबारो।
मोह माया ने रे,जाल फसायो,अब सुध लेवो बनवारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।

मै मतिहीन हूँ कछु नही जाणु दाता,आयो शरण तिहारी।
भवसागर में रे, घणो दुख पायो,अब की पार उतारो।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।

आगे संत अनंत उभारिया दाता,अबकी बारी हमारी।
दास मलूक कहे रे, भूल मति जाजो,मने तो भरोसों बड़ो भारी।
सांवरियां मारी अरज सुणो बनवारी। टेर।

अरज सुणो बनवारी सांवरियां मारी,अरज सुणो बनवारी।
अरज सुनो गिरधारी सांवरिया मारी,अरज सुनो गिरधारी।

dinesh bhatt ke bhajan

भजन :- अर्जी सुणो गिरधारी
गायक :- दिनेश भट्ट
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- कह देना उधो इतनी सी बात

जरूर पढ़ें :- म्हारा ओम बन्ना ओ

पिछला लेखसरवरिया री तीर खड़ी नानी नीर बहाव है भजन लिरिक्स | sarvariya ri teer khadi bhajan lyrics
अगला लेखमहाराज गजानंद आवो नी मारी सभा में रंग बरसाओ लिरिक्स | maharaj gajanand aao ji bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

eleven − four =