भोले बाबा का रूप निराला भजन लिरिक्स | bhole baba ka roop nirala bhajan lyrics

735

भोले बाबा का रूप निराला भजन लिरिक्स

भोले बाबा का रूप निराला भजन, bhole baba ka roop nirala  bholenath bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
शिव समान दाता नहीं,और विपत विदारण हार।
लजिया मोरी राखियो, शिव नंदी के असवार।


~ भोले बाबा का रूप निराला ~

भोले बाबा का रूप निराला।
गले में नाग काला,
लहराए चले आए रे।


भोले अंग पे भभूत रमाई ,
तूने जटा से गंगा बहाई।
तेरे हाथो में विष का प्याला,
है कैलाश पे वासा।
लहराए चले आए रे।
भोले बाबा …..


भोले शीश जटा में चंदा रे,
चमके कोटि थारे प्रकाशा रे।
तन पे है मृगछाला,
गले में रुद्रमाला।
लहराए चले आए रे।
भोले बाबा …..


भोले महिमा का खेल निराला रे,
भोले भक्तो का करे निस्तारा रे।
तेरे संग में भूतन का तोड़ा,
लागे गजब रा दौड़ा।
लहराए चले आए रे।
भोले बाबा …..


भोले शंकर रूप बणायो रे ,
तूने तांडव नृत्य रचायो रे।
तेरे भक्त गाए गुण थारा,
भक्तो रा रखवाला।
लहराए चले आए रे।


भोले बाबा का रूप निराला।
गले में नाग काला,
लहराए चले आए रे।


जरूर पढ़ें :- गुरुजी बिना कोई काम ना आवे

जरूर पढ़ें :- मारा सतगुरु दीनदयाल

bholenath bhajan lyrics in hindi

~ bhole baba ka roop nirala ~

bhole baba ka rup nirala.
gale me nag kala,
lahray chale aay re.


bhole ang pe bhabhut ramai,
tune jata se ganga bahai.
tere hatho me vish ka pyala,
hai kailash pe vasa.
lahraye chale aay re.
bhole baba…..


bhole shish jata me chanda re,
chamke koti thare prakasha re.
tan pe hai mrigchhala,
gale me rudramala.
lahraye chale aay re.
bhole baba…..


bhole mahima ka khel nirala,
bhole bhakto ka kare nistara.
tere sang me bhutan ka toda,
lage gajab ra dhoda.
lahraye chale aay re.
bhole baba…..


bhole shankar rup banayore,
tune tandav nruty rachayo re.
tere bhakt gaye gun thara,
bhakto ra rakhwala.
lahraye chale aay re.


bhole baba ka rup nirala.
gale me nag kala,
lahray chale aay re.


जरूर पढ़ें :- इंदर राजा म्हारी अर्जी साम्भलो

जरूर पढ़ें :- गुरु मिलिया आत्म राम

शिव शंकर भजन लिरिक्स

~ भोले बाबा का रूप निराला ~

भोले बाबा का रूप निराला।
गले में नाग काला,लहराए चले आए रे।

भोले अंग पे भभूत रमाई ,तूने जटा से गंगा बहाई।
तेरे हाथो में विष का प्याला,है कैलाश पे वासा।
लहराए चले आए रे। भोले बाबा …..

भोले शीश जटा में चंदा रे,चमके कोटि थारे प्रकाशा रे।
तन पे है मृगछाला,गले में रुद्रमाला।
लहराए चले आए रे। भोले बाबा …..

भोले महिमा का खेल निराला,भोले भक्तो का करे निस्तारा।
तेरे संग में भूतन का तोड़ा,लागे गजब रा दौड़ा।
लहराए चले आए रे। भोले बाबा …..

भोले शंकर रूप बणायो रे ,तूने तांडव नृत्य रचायो रे।
तेरे भक्त गाए गुण थारा,भक्तो रा रखवाला।
लहराए चले आए रे। भोले बाबा …..

भोले बाबा का रूप निराला।
गले में नाग काला,लहराए चले आए रे।

prakash mali ke bhajan

भजन :- भोले बाबा का रूप निराला
गायक :- प्रकाश माली
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- खेतेश्वर को जप ले प्राणी

जरूर पढ़ें :- पिछम धरा रा राजवीरा

पिछला लेखगुरुजी बिना कोई काम ना आवे भजन लिरिक्स | guruji bina koi kaam nahi aave bhajan lyrics
अगला लेखमेहंदी रची थारे हाथा में भजन लिरिक्स | mehandi rachi thare hatha mein bhajan lyrics

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

1 × 4 =