खेतेश्वर को जप ले प्राणी में समझाऊं घडी घडी भजन लिरिक्स | kheteshwar ko jap le prani bhajan lyrics

105

खेतेश्वर को जप ले प्राणी में समझाऊं घडी घडी भजन लिरिक्स

खेतेश्वर को जप ले प्राणी में समझाऊं घडी घडी, kheteshwar ko jap le prani kheteshwar bhajan lyrics in hindi

।। दोहा ।।
ब्रह्मधाम आसोतरा में तो , सुन्दर बनियो धाम।
खेताराम जी इच्छा पुरे ,करे भगता रो काम।


~ आम की डाली कोयल बोले ~

आम की डाली कोयल बोले ,
बात बतावे खरी खरी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी ,
में समझाऊ घडी घडी।


ब्रह्मधाम आसोतरा में ,
नर नारी रो मेलो है।
खेतेश्वर रो ध्यान धरो ,
हरदम थारे भेळो है।
गांव गांव और नगर नगर में ,
धूम मची है गली गली।
खेतेश्वर को जपले प्राणी ,
में समझाऊ घडी घडी। टेर।


धन दोलत सब उमर कमाणी ,
दोय घडी शुभ काम करो।
एडो अवसर हाथ नी आवे ,
चाहे जतन तमाम करो।
तन मन धन सब अर्पण कर दो ,
ब्रह्मधाम के आप धणी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी ,
में समझाऊ घडी घडी। टेर।


आप बसे वैकुण्ठ धाम प्रभु ,
भगत पे आज मेहर करो।
ज्ञान ध्यान के तुम हो सागर ,
सुखी नदिया नीर भरो।
प्यासी बगिया में रस भर दो ,
हो जावे वो हरी भरी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी ,
में समझाऊ घडी घडी। टेर।


ब्रह्मा स्वरूपी महावैरागी ,
खेतेश्वर तपधारी है।
आपके शरणे जो कोई आवे ,
नैया पार उतारी है।
दास हीरा पे किरपा कर दो ,
भक्त बनाई कड़ी कड़ी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी ,
में समझाऊ घडी घडी। टेर।


जरूर पढ़ें :- पिछम धरा रा राजवीरा

जरूर पढ़ें :- तुम प्रेम हो तुम प्रीत हो

kheteshwar bhajan lyrics in hindi

~ kheteshwar ko jap le prani ~

aam ki dali koyal bole,
bat batave khari khari.
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


brahma dham aashotra me,
nar nari ro melo hai.
kheteshwar ko dhyan dharo,
har dam thare bhelo hai.
gav gav or nagar nagar me,
dhum machi hai gali gali .
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


dhan dolat sab umra kamano,
doi ghadi subh kam karo.
aido avsar hath nhi aave,
chahe jatan tamam karo.
tan man dhan sab arpan karo,
brahma dham ke aap dhani.
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


aap base vekunth dham ab,
bhakt pe aaye mehar karo.
gyan dhyan ke tum ho sagar,
sukhi nadiya neer bharo.
pyasi baniya mera se bhar do,
ho jave ve hari bhari.
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


braha swarupi mahavairagi,
kheteshwar tap dhari hai .
aap ki sharane jo koi aaya,
naiya par utari hai.
das heera par krupa kar do,
bhajan banai kadi kadi.
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


aam ki dali koyal bole,
bat batave khari khari.
kheteshwar ko japle prani,
me samjhau ghadi ghadi.


जरूर पढ़ें :- कुण तो सुणेला कुणने सुनाऊं

जरूर पढ़ें :- घूमे रे रुणिचे थारो घोड़लो

खेतेश्वर भजन in hindi lyrics

~ खेतेश्वर को जप ले प्राणी ~

आम की डाली कोयल बोले,बात बतावे खरी खरी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

बह्मधाम आशोतरा में,नर नारी रो मेलो है।
खेतेश्वर को ध्यान धरो,हर दम थारे भेलो है।
गाँव गाँव और नगर नगर में,धूम मची है गली गली।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

धन दौलत सब उम्र कमानों,दोई घडी शुभ काम करो।
एडो अवसर हाथ नही आवे,चाहे जतन तमाम करो।
तन मन धन सब अर्पण करलो,बह्मधाम के आप धणी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

आप बसे वैकुंठ धाम अब,भक्त पे आये मैहर करो।
ग्यान ध्यान के तुम हो सागर,सुखी नदिया नीर भरो।
प्यासी बगिया मेर से भर दो,हो जावे वे हरी भरी।।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

बह्म स्वरूपी महावैरागी,खेतेश्वर तप धारी है।
आप की शरणे जो कोई आया,नैया पार उतारी है।
दास हिरा पर कृपा कर दो,भजन बनाई कड़ी कड़ी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

आम की डाली कोयल बोले,बात बतावे खरी खरी।
खेतेश्वर को जपले प्राणी,मैं समझाऊ घडी घडी।

prakash mali ke bhajan

भजन :- खेतेश्वर को जपले प्राणी
गायक :- प्रकाश माली
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- भोमिया जी रमता पधारो

जरूर पढ़ें :- हूं लड़यो घणो

पिछला लेखपिछम धरा रा राजवीरा जग में परचा भारी भजन लिरिक्स | Picham Dhara Ra Rajveer bhajan lyrics
अगला लेखगुरु मिलिया आत्म राम भजन लिरिक्स | Guru Miliya Aatam Ram bhajan lyrics

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 4 =