गुरु मिलिया आत्म राम भजन लिरिक्स | Guru Miliya Aatam Ram bhajan lyrics

405

गुरु मिलिया आत्म राम भजन लिरिक्स

गुरु मिलिया आत्म राम, Guru Miliya Aatam Ram bhajan lyrics, guru ji bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
सतगुरु ऐसा कीजिये , दुखे दुखावे नाही।
पान फूल तोड़े नाही, वे रेवे बगीचा माये।


~ गुरु मिलिया आत्मराम ~

म्हारा गुरूजी ऐसा,
फूल गुलाबी जैसा।
म्हारे घर में रमता देखिया रे ,
गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म राम गुरूजी,
मिलिया आत्म राम।
मारी निर्मल हो गई काया रे,
गुरु मिलिया आत्मराम।


इंद्र करे छड़काई,
अरे पवन करे नरमाई।
म्हारे हुआ गुरु रा वासा रे,
गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म ….


सूरज चाँद पर वासा,
वे रेहता रे आकाशा।
आ कुदरत खेल रचायो रे,
गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म ….


मीठा राम जग माये,
हरी से ध्यान लगाईं।
म्हारा बेड़ा पार उतारो रे,
गुरु मिलिया आतम राम।
मिलिया आत्म ….


म्हारा गुरूजी ऐसा,
फूल गुलाबी जैसा।
म्हारे घर में रमता देखिया रे ,
गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म राम गुरूजी,
मिलिया आत्म राम।
मारी निर्मल हो गई काया रे,
गुरु मिलिया आत्मराम।


जरूर पढ़ें :- खेतेश्वर को जप ले प्राणी

जरूर पढ़ें :- पिछम धरा रा राजवीरा

guru ji bhajan lyrics in hindi

~ Guru Miliya Aatam Ram ~

mara guru ji aisa,
ful gulabi jaisa.
mare ghar me ramta dekhiya re,
guru miliya aatam ram.
miliya aatam ram guruji,
miliya aatam ram .
mari nirmal ho gai kaya re,
guru miliya aatam ram.


indra kare chhadkai,
are pavan kare narmai.
mare hua guru ra vasa re,
guru miliya aatam ram.
miliya aata…..


suraj chand par vasa,
ve rehta re aakasha.
aa kudarat khel rachayo re,
guru miliya aatam ram.
miliya aata…..


mitha ram jag maaye,
hari se dhayan lagai.
mara beda par utaro re,
gouru miliya aatam ram.
miliya aata…..


mara guru ji aisa,
ful gulabi jaisa.
mare ghar me ramta dekhiya re,
guru miliya aatam ram.
miliya aatam ram guruji,
miliya aatam ram .
mari nirmal ho gai kaya re,
gouru miliya aatam ram.


जरूर पढ़ें :- तुम प्रेम हो तुम प्रीत हो

जरूर पढ़ें :- कुण तो सुणेला कुणने सुनाऊं

सतगुरु भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ गुरु मिलिया आत्म राम ~

म्हारा गुरूजी ऐसा,फूल गुलाबी जैसा।
म्हारे घर में रमता देखिया रे ,गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म राम गुरूजी,मिलिया आत्म राम।
मारी निर्मल हो गई काया रे,गुरु मिलिया आत्मराम।

इंद्र करे छड़काई,अरे पवन करे नरमाई।
म्हारे हुआ गुरु रा वासा रे,गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म ….

सूरज चाँद पर वासा,वे रेहता रे आकाशा।
आ कुदरत खेल रचायो रे,गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म ….

मीठा राम जग माये,हरी से ध्यान लगाईं।
म्हारा बेड़ा पार उतारो रे,गुरु मिलिया आतम राम।
मिलिया आत्म ….

म्हारा गुरूजी ऐसा,फूल गुलाबी जैसा।
म्हारे घर में रमता देखिया रे ,गुरु मिलिया आत्म राम।
मिलिया आत्म राम गुरूजी,मिलिया आत्म राम।
मारी निर्मल हो गई काया रे,गुरु मिलिया आत्मराम।

prakash mali desi bhajan

भजन :- गुरु मिलिया आत्मराम
गायक :- प्रकाश माली
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- घूमे रे रुणिचे थारो घोड़लो

जरूर पढ़ें :- भोमिया जी रमता पधारो

पिछला लेखखेतेश्वर को जप ले प्राणी में समझाऊं घडी घडी भजन लिरिक्स | kheteshwar ko jap le prani bhajan lyrics
अगला लेखइंदर राजा म्हारी अर्जी साम्भलो जी भजन लिरिक्स | inder raja mari arji sambhalo bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

2 + 20 =