सतगुरु पारस खान है भजन लिरिक्स | satguru paras khan hai bhajan lyrics

286

सतगुरु पारस खान है भजन लिरिक्स

सतगुरु पारस खान है भजन satguru paras khan hai bhajan lyrics satguru bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
गुरु की कीजे बंदगी, दिन में सौ सौ बार।
काग पलट हंसा किया, करत न लागी वार।


~ सतगुरु पारस खान है ~

सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
टूक इक पारस संग रमे,
कंचन होवे तन सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो,
उपजे ब्रह्म विचारा।
सतगुरु पारस खान है।


इण सबदा में म्हारो मन बस्यो,
ठंडा नीर अथागा।
चूबकी मारी गुरु रे नाम री,
कण लाया तत सारा।
सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।


इण रे सबदो रा सौदा करा ,
हिरा गुण भरेला।
संत मिले सोदा करे,
मूंगे मोल बिकेला।
सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।


सीप समंद में रहत हे,
समंदर का क्या लेवे।
बूंद पड़े आसोज री,
शोभा समंदरिया ने देवे।
सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।


सतिया सत धरम झेलना,
उतरो भव जल पारा।
शेख फरीद री विनती,
जुग जुग दास तुम्हारा।
सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।


सतगुरु पारस खान है,
लोहा जुग सारा।
टूक इक पारस संग रमे,
कंचन होवे तन सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो,
उपजे ब्रह्म विचारा।
सतगुरु पारस खान है।


जरूर पढ़ें :- सिमरु प्रथम नित तुमको गणेशा

जरूर पढ़ें :- राम सुमर ले सुकृत करले

satguru bhajan lyrics in hindi

~ satguru paras khan hai ~

satguru paras khan hai,
loha jug sara.
tuk ek paras sang rame,
kanchan hove tan sara.
aiso satwadi maro saybo,
upje brahm vichara.
satguru paras khan hai.


in sabda me mharo man basyo,
thanda nir athaga.
chubki mari guru re naam ri,
kan laya tat sara.
satguru paras khan hai,
loha jug sara.
aiso satwadi maro saybo.


en re sabdo ra sda kara,
hira gun bharela.
sant mile soda kare,
munge mol bikela.
satguru paras khan hai,
loha jug sara.
aiso satwadi maro saybo.


seep samand me rahat hai,
samandar ka kya leve.
bund pade aasoj ri,
shobha samandriya ne deve.
satguru paras khan hai,
loha jug sara.
aiso satwadi maro saybo.


satiya sat dharam jhelna,
utro bhav jal para.
sekh farik ri vinti,
jug jug das tumhara.
satguru paras khan hai,
loha jug sara.
aiso satwadi maro saybo.


satguru paras khan hai,
loha jug sara.
tuk ek paras sang rame,
kanchan hove tan sara.
aiso satwadi maro saybo,
upje brahm vichara.
satguru paras khan hai.


जरूर पढ़ें :- भांग तंबाकू पियो महादेव जी

जरूर पढ़ें :- चांदनी तेरस उजियाली

सतगुरु भजन इन हिंदी

~ सतगुरु पारस खान है ~

सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
टूक इक पारस संग रमे,कंचन होवे तन सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो,उपजे ब्रह्म विचारा।
सतगुरु पारस खान है।

इण सबदा में म्हारो मन बस्यो,ठंडा नीर अथागा।
चूबकी मारी गुरु रे नाम री,कण लाया तत सारा।
सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।

इण रे सबदो रा सौदा करा ,हिरा गुण भरेला।
संत मिले सोदा करे,मूंगे मोल बिकेला।
सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।

सीप समंद में रहत हे,समंदर का क्या लेवे।
बूंद पड़े आसोज री,शोभा समंदरिया ने देवे।
सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।

सतिया सत धरम झेलना,उतरो भव जल पारा।
शेख फरीद री विनती,जुग जुग दास तुम्हारा।
सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो।

सतगुरु पारस खान है,लोहा जुग सारा।
टूक इक पारस संग रमे,कंचन होवे तन सारा।
ऐसो सतवादी मारो सायबो,उपजे ब्रह्म विचारा।
सतगुरु पारस खान है।

mahendra singh rathore ke bhajan

भजन :- सतगुरु पारस खान है
गायक :- महेंद्र सिंह राठौड़
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- दर्शन दो घनश्याम

जरूर पढ़ें :- श्री राम दया के सागर है

पिछला लेखसिमरु प्रथम नित तुमको गणेशा भजन लिरिक्स | simru pratham nit tumko ganesha bhajan lyrics
अगला लेखबलिहारी जाऊं मारा सतगुरु ने किया भरम सब दूर लिरिक्स | balihari jau mhara satguru ne bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × four =