राम सुमर ले सुकृत करले भजन लिरिक्स | ram sumarle sukrat karle bhajan lyrics

5718

राम सुमर ले सुकृत करले भजन लिरिक्स

राम सुमर ले सुकृत करले भजन ram sumarle sukrat karle bhajan lyrics desi marwadi chetawani bhajan

 ।। दोहा ।।
प्रथम निवण मात पिता ने ,जिनसे रचियो शरीर।
दूजो निवण मारा गुरु देव ने ,कियो भजन में सिर।


~ राम सुमरले सुकरत करले ~

राम सुमर ले सुकरत करले,
आगे आडो आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।


मात पिता रा पगल्या पूजो,
जिसने तुमको जन्म दिया।
श्रवण जैसा लाल बणो रे भाई,
जिसका अमर नाम हुआ।
करलो सेवा पावो मेवा,
जन्म सफल हो जावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….


बालपणों हँस खेल गमायो,
जोबन ऐश आराम करें।
बुढ़ापे में हुयो रोगलो,
खींच खींच ने पाव धरे।
घर की नारी बोले खारी,
कद बुढ़लो मर जावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….


स्वार्थ की हैं दुनियादारी,
स्वार्थ का सब नाता जी।
अंत समय में जावे अकेलो,
हंस अकेला जाता जी।
धन औऱ माया धरी रेवेली,
आखिर में पछतावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….


संत समागम करलो प्यारे,
सत्संग का फल मीठा जी।
खाया सो नर अमर हो गया,
पापी रह गया रीता जी।
दास भगत कह मिनख जमारो,
बार बार नहीं आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।


राम सुमर ले सुकरत करले,
आगे आडो आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,
रितो ही रह जावेलो।


जरूर पढ़ें :- भांग तंबाकू पियो महादेव जी

जरूर पढ़ें :- चांदनी तेरस उजियाली

desi marwadi chetawani bhajan lyrics

~ ram sumarle sukrat karle ~

ram sumar le sukarat karle,
aage aado aavelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.


mat pita ra paglya pujo,
jisne tumko janam diya.
shravan jaisa lal bano re bhai,
jiska amar naam hua.
karlo seva pawo meva,
janam safal ho javelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.
ram sumar le…….


balpano hans khel gamayo,
jovan aish aaram kare.
budhape me hoyu roglo,
khich khich ne pav dhare.
ghar ki nari bole khari,
kad budhlo mar javelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.
ram sumar le…….


swarth ki hai duniyadari,
swarth ka sab nata ji.
ant samay me jave akelo,
hans akela jata ji.
dhan or maya dhari reveli,
aakhir me pachtavelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.
ram sumar le…….


sant samagam karlo pyare,
satsang ka fal mitha ji.
khaya so nar amar ho gaya,
papi rah gaya rita ji.
das bhagat kah minakh jamaro,
bar bar nhi aavelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.


ram sumar le sukarat karle,
aage aado aavelo.
chet sake to chet manvi,
rito hi rah javelo.


जरूर पढ़ें :- दर्शन दो घनश्याम

जरूर पढ़ें :- श्री राम दया के सागर है

चेतावनी भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ राम सुमर ले सुकृत करले ~

राम सुमर ले सुकरत करले,आगे आडो आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।

मात पिता रा पगल्या पूजो,जिसने तुमको जन्म दिया।
श्रवण जैसा लाल बणो रे भाई,जिसका अमर नाम हुआ।
करलो सेवा पावो मेवा,जन्म सफल हो जावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….

बालपणों हँस खेल गमायो,जोबन ऐश आराम करें।
बुढ़ापे में हुयो रोगलो,खींच खींच ने पाव धरे।
घर की नारी बोले खारी,कद बुढ़लो मर जावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….

स्वार्थ की हैं दुनियादारी,स्वार्थ का सब नाता जी।
अंत समय में जावे अकेलो,हंस अकेला जाता जी।
धन औऱ माया धरी रेवेली,आखिर में पछतावेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।
राम सुमर ले ….

संत समागम करलो प्यारे,सत्संग का फल मीठा जी।
खाया सो नर अमर हो गया,पापी रह गया रीता जी।
दास भगत कह मिनख जमारो,बार बार नहीं आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।

राम सुमर ले सुकरत करले,आगे आडो आवेलो।
चेत सके तो चेत मानवी,रितो ही रह जावेलो।

sunita swami ke bhajan

भजन :- राम सुमरले सुकरत करले
गायिका :- सुनीता स्वामी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- इस काया का भेद गुरु बिन

जरूर पढ़ें :- मारा सतगुरु आया पावणा

पिछला लेखभांग तंबाकू पियो महादेव जी भजन लिरिक्स | bhang tambaku piyo mahadev ji bhajan lyrics
अगला लेखसिमरु प्रथम नित तुमको गणेशा भजन लिरिक्स | simru pratham nit tumko ganesha bhajan lyrics

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

13 + eight =