प्रभु हम पे कृपा करना प्रभु हम पे दया करना भजन लिरिक्स | prabhu ham pe kripa karna bhajan lyrics

1794

प्रभु हम पे कृपा करना प्रभु हम पे दया करना भजन लिरिक्स

प्रभु हम पे कृपा करना प्रभु हम पे दया करना भजन prabhu ham pe kripa karna hindi bhajan lyrics in hindi

 ~ प्रभु हम पे कृपा करना ~

प्रभु हम पे कृपा करना,
प्रभु हम पे दया करना ।
बैकुंठ तो यही है,
हृदय में रहा करना।


गूंजेगे राग बन कर ,
वीणा की तार बनके।
प्रगटोगे नाथ मेरे ,
ह्रदय में प्यार बनके।
हर रागिनी की धुन पर ,
स्वर बन कर उठा करना।
बैकुंठ तो यही है,
हृदय में रहा करना।
प्रभु हम पे …..


नाचेंगे मोर बनकर ,
हे श्याम तेरे द्वारे।
घनश्याम छाए रहना ,
बनकर के मेघ कारे।
अमृत की धार बनकर ,
प्यासों पे दया करना।
बैकुंठ तो यही है,
हृदय में रहा करना।
प्रभु हम पे …..


तेरे वियोग में हम,
दिन रात हैं उदासी।
अपनी शरण में लेलो ,
हे नाथ ब्रज के वासी।
तुम सो हम शब्द बन कर ,
प्राणों में रमा करना।
बैकुंठ तो यही है,
हृदय में रहा करना।


प्रभु हम पे कृपा करना,
प्रभु हम पे दया करना ।
बैकुंठ तो यही है,
हृदय में रहा करना।


जरूर पढ़ें :- प्रेम मुदित मन से कहो

जरूर पढ़ें :- श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन

https://drive.google.com/file/d/1bs1cRXUtFwjPdLphcbu_sFoYGX0lpvDm/view?usp=sharing

hindi bhajan lyrics in hindi

~ prabhu ham pe kripa karna ~

prabhu ham pe krupa karna,
prabhu ham pe daya karna.
vekunth to yahi hai,
harday me raha karna.


gunjenge rag ban kar,
veena ki taar banke.
pragtoge nath mere,
harday me pyar banke.
har ragini ki dhun par,
swar ban kar utha karna.
vekunth to yahi hai,
harday me raha karna.
prabhu ham pe…….


nachenge mor bankar,
hai shyam tere dware.
ghanshyam chhay rahna,
bankar ke megh kaare.
amrut ki dhar bankar,
pyaso pe daya karna.
vekunth to yahi hai,
harday me raha karna.
prabhu ham pe…….


tere viyog me ham,
din rat hai udasi.
apni sharan me lelo,
hai nath braj ke vasi.
tum so ham shabd ban kar,
prano me rama karna.
vekunth to yahi hai,
harday me raha karna.


prabhu ham pe krupa karna,
prabhu ham pe daya karna.
vekunth to yahi hai,
harday me raha karna.


जरूर पढ़ें :- उद्धार करो भगवान

जरूर पढ़ें :- वैष्णव जन तो तेने कहिजे

हिंदी भजन लिरिक्स इन हिंदी

~ प्रभु हम पे कृपा करना ~

प्रभु हम पे कृपा करना,प्रभु हम पे दया करना ।
बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना।

गूंजेगे राग बन कर ,वीणा की तार बनके।
प्रगटोगे नाथ मेरे ,ह्रदय में प्यार बनके।
हर रागिनी की धुन पर ,स्वर बन कर उठा करना।
बैकुंठ तो यही है,हृदय में रहा करना।
प्रभु हम पे …..

नाचेंगे मोर बनकर ,हे श्याम तेरे द्वारे।
घनश्याम छाए रहना ,बनकर के मेघ कारे।
अमृत की धार बनकर ,प्यासों पे दया करना।
बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना।
प्रभु हम पे …..

तेरे वियोग में हम, दिन रात हैं उदासी।
अपनी शरण में लेलो ,हे नाथ ब्रज के वासी।
तुम सो हम शब्द बन कर ,प्राणों में रमा करना।
बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना।

प्रभु हम पे कृपा करना,प्रभु हम पे दया करना ।
बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना।

hari om sharan bhajan lyrics

भजन :- प्रभु हम पे कृपा करना
गायक :- हरी ॐ शरण
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- वीर हनुमाना अति बलवाना

जरूर पढ़ें :- माखन चोर नंद किशोर

पिछला लेखप्रेम मुदित मन से कहो राम राम राम भजन लिरिक्स | prem mudit man se kaho bhajan lyrics
अगला लेखनैया पड़ी मझधार हरि बिन कैसे लागे पार भजन लिरिक्स | meri naiya padi hai majhdhaar bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

4 + 4 =