श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल जाए लिरिक्स | shyama tere charno ki bhajan lyrics

359

श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल जाए लिरिक्स

श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल जाए लिरिक्स shyama tere charno ki shri krishna bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
पर्वत जैसी पीर है ,ह्रदय बहुत अकुलाय।
राधा राधा जपत है ,विरही मन मुरझाय।


~ श्यामा तेरे चरणों की ~

श्यामा तेरे चरणों की ,
गर धूल जो मिल जाए।
सच कहता हूँ मेरी ,
तकदीर बदल जाए।


सुनता हु तेरी रहमत ,
दिन रात बरसती है।
एक बूँद जो मिल जाए,
मन की कली खिल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,
गर धूल जो मिल जाए।


यह मन बड़ा चंचल है ,
कैसे तेरा भजन करूँ।
जितना इसे समझाऊं,
उतना ही मचल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,
गर धूल जो मिल जाए।


नजरो से गिराना नाही ,
चाहे जो भी सजा देना।
नजरो से जो घिर जाए,
मुश्किल ही संभल पाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,
गर धूल जो मिल जाए।


श्यामा इस जीवन की ,
बस एक तम्मना है।
तुम सामने हो मेरे ,
मेरा दम ही निकल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,
गर धूल जो मिल जाए।


जरूर पढ़ें :- मोहन से दिल क्यूँ लगाया है

जरूर पढ़ें :- यह तो प्रेम की बात है उधो

shri krishna bhajan lyrics in hindi

~ shyama tere charno ki ~

shyama tere charno ki,
gar dhul jo mil jaay .
sach kahta hu meri,
takdeer badal jaay.


sunta hu teri rahmat,
din rat barsati hai.
ek bundh jo mil jay,
man ki kali khil jay.
shyama tere charno ki,
gar dhul jo mil jaay .


yah man bada chanchal hai,
kaise tera bhajan karu.
jitna ese samjhau.
utna hi machal jaay.
shyama tere charno ki,
gar dhul jo mil jaay .


najro se girana nahi,
chahe jo bhi saja dena.
najaro se jo ghir jay,
mushkil hi sambhal pay.
shyama tere charno ki,
gar dhul jo mil jaay .


shyama es jivan ki,
bas ek tammana hai.
tum samne ho mere,
mera dam hi nikal jay.
shyama tere charno ki,
gar dhul jo mil jaay .


जरूर पढ़ें :- तेरी मुरली की धुन सुनने

जरूर पढ़ें :- श्री राधे गोविंदा मन भज ले

कृष्ण भजन संग्रह लिरिक्स

~ श्यामा तेरे चरणों की ~

श्यामा तेरे चरणों की ,गर धूल जो मिल जाए।
सच कहता हूँ मेरी ,तकदीर बदल जाए।

सुनता हु तेरी रहमत ,दिन रात बरसती है।
एक बूँद जो मिल जाए, मन की कली खिल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,गर धूल जो मिल जाए।

यह मन बड़ा चंचल है , कैसे तेरा भजन करूँ।
जितना इसे समझाऊं, उतना ही मचल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,गर धूल जो मिल जाए।

नजरो से गिराना नाही , चाहे जो भी सजा देना।
नजरो से जो घिर जाए, मुश्किल ही संभल पाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,गर धूल जो मिल जाए।

श्यामा इस जीवन की ,बस एक तम्मना है।
तुम सामने हो मेरे , मेरा दम ही निकल जाए।
श्यामा तेरे चरणों की ,गर धूल जो मिल जाए।

संजय मित्तल भजन लिरिक्स 

 

भजन :- श्यामा तेरे चरणों की
गायक:- संजय मित्तल
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मुकुट सिर मोर का

जरूर पढ़ें :- बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया

पिछला लेखराम नाम के हीरे मोती मैं बिखराऊं गली गली लिरिक्स | ram naam ke hire moti lyrics
अगला लेखकिशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाये भजन लिरिक्स | kishori kuch aisa intezaam ho jaye bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

3 × 1 =