कभी फुर्सत हो तो जगदंबे निर्धन के घर भी आ जाना भजन लिरिक्स | kabhi fursat ho to jagdambe lyrics

528

कभी फुर्सत हो तो जगदंबे निर्धन के घर भी आ जाना भजन लिरिक्स

कभी फुर्सत हो तो जगदंबे  भजन kabhi fursat ho to jagdambe mata ji bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
माँ दुर्गा सुखदायिनी ,जग की पालनहार।
पूजो माँ को नौ दिवस, कर देगी उद्धार।


~ निर्धन के घर भी आ जाना ~

कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे,
निर्धन के घर भी आ जाना |
जो रूखा सूखा दिया हमें ,
कभी उस का भोग लगा जाना।


~ ना छत्र बना सका सोने का,
ना चुनरी घर मेरे टारों जड़ी।
ना पेडे बर्फी मेवा है माँ,
बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़ी।
इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ,
इस विनती को ना ठुकरा जाना |
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना।


जिस घर के दिए मे तेल नहीं,
वहां जोत जगाओं कैसे।
मेरा खुद ही बिशोना धरती पर ,
तेरी चोंकी लगाऊं कैसे।
जहाँ मै बैठा वही बैठ के माँ,
बच्चों का दिल बहला जाना।
जो रूखा सूखा दिया हमें ,
कभी उस का भोग लगा जाना।


तू भाग्य बनाने वाली है,
माँ मै तकदीर का मारा हूँ।
हे दाती संभाल भिखारी को,
आखिर तेरी आँख का तारा हूँ।
मै दोषी तू निर्दोष है माँ,
मेरे दोषों को तूं भुला जाना।
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना।


जरूर पढ़ें :- कंचन कांच का बनिया रे हनुमान

जरूर पढ़ें :- भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अंबे

mata ji bhajan lyrics in hindi

~ kabhi fursat ho to jagdambe ~

kabhi fursat ho to jagdambe,
nirdhan ke ghar bhi aa jana.
jo rakha sukha diya hame,
kabhi us ka bhog lag jana.


naa chhatr bana saka sone ka,
na chunari ghar mere taro jadi.
na pede barfi meva hai ma,
bas shrdhdha hai nen bichay khadi.
is shrdha ki rakh lo laj hai ma,
is vinti ko na thukra jana.
jo rakha sukha diya hame,
kabhi us ka bhog laga jana.


jis ghar ke diye me tel nhi,
vaha jot jagao kaise.
mera khud hi bichona dharti par,
teri choki lagau me kaise.
jaha me baitha vahi baith ke ma,
bachcho ka dil bahla jana.
jo rakha sukha diya hame,
kabhi us ka bhog laga jana.


tu bhagy banane wali hai,
ma me takdir ka mara hu.
hai dati sambhal bhikhari ko,
aakhir teri aakhn ka tara hu.
me doshi tu nirdhosh hai ma,
mere dosho ko tu bhula jana.
jo rakha sukha diya hame,
kabhi us ka bhog laga jana.


जरूर पढ़ें :- अम्बे मैया का जयकारा

जरूर पढ़ें :- अम्बे तू है जगदम्बे काली 

जगदंबा भजन लिरिक्स in hindi

~ निर्धन के घर भी आ जाना ~

कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे, निर्धन के घर भी आ जाना |
जो रूखा सूखा दिया हमें , कभी उस का भोग लगा जाना।

ना छत्र बना सका सोने का, ना चुनरी घर मेरे टारों जड़ी।
ना पेडे बर्फी मेवा है माँ, बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़ी।
इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ, इस विनती को ना ठुकरा जाना |
जो रूखा सूखा दिया हमें, कभी उस का भोग लगा जाना।

जिस घर के दिए मे तेल नहीं, वहां जोत जगाओं कैसे।
मेरा खुद ही बिशोना धरती पर , तेरी चोंकी लगाऊं कैसे।
जहाँ मै बैठा वही बैठ के माँ, बच्चों का दिल बहला जाना।
जो रूखा सूखा दिया हमें , कभी उस का भोग लगा जाना।

तू भाग्य बनाने वाली है, माँ मै तकदीर का मारा हूँ।
हे दाती संभाल भिखारी को, आखिर तेरी आँख का तारा हूँ।
मै दोषी तू निर्दोष है माँ, मेरे दोषों को तूं भुला जाना।
जो रूखा सूखा दिया हमें, कभी उस का भोग लगा जाना।

gulshan kumar bhajan lyrics video

भजन :- निर्धन के घर भी आ जाना
गायक :- गुलशन कुमार
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मैया तेरा भगत करे अरदास

जरूर पढ़ें :- बैठी बैठी घटा में 

पिछला लेखदीवाना तेरा आया बाबा तेरी शिर्डी में लिरिक्स | diwana tera aaya baba teri shirdi me lyrics
अगला लेखमोहन से दिल क्यूँ लगाया है भजन लिरिक्स | mohan se dil kyon lagaya hai bhajan lyrics

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

1 × two =