लेके गौरा जी को साथ भोले-भाले भोले नाथ भजन लिरिक्स | leke goraji ko sath bhajan lyrics

710

लेके गौरा जी को साथ भोले-भाले भोले नाथ भजन लिरिक्स

लेके गौरा जी को साथ भोले-भाले भोले नाथ, leke goraji ko sath shiv ji bhajan lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
नीलकंठ के शीश पर, बहे निरंतर गंग ।
ऐसे प्रभु को देखकर ,मन में उठे उमंग ।


~ लेके गोरा जी को साथ ~

लेके गोरा जी को साथ ,
भोले-भाले भोले नाथ।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।


नंदी पे सवार होके ,
डमरू बजाते।
चले आ रहे हैं भोले ,
हरी गुण गाते।
पहेने नरमुंडो की माला ,
ओढ़े तन पर मृग छाला।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


हाथ में त्रिशूल लिए ,
भसमी रमाये।
झोली गले में डाले ,
गोकुल में आये।
पहुचे नंद बाबा के द्वार ,
अलख जगाएँ बारम्बार।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


कहाँ है यशोदा तेरा ,
कृष्ण कन्हैया।
दरश करादे रानी ,
ले लू बलैया।
सुनके नारायण अवतार ,
आया हू मैं तेरे द्वार।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


देखके यशोदा बोली ,
जाओ- बाबा जाओ।
द्वार हमारे तुम ना ,
डमरू बजाओ।
डर जायेगा मेरा लाल ,
जो देखेगा सर्प माल।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


हँस के वो जोगी बोला ,
सुनो महारानी।
दरश करादे मुझे ,
होगी मेहेरबानी।
दरस करादे एक बार ,
देखु कैसा है सुकुमार।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


सोया है कन्हैया मेरा ,
मैं ना जगाऊं।
तेरी बातो में बाबा ,
हरगिज़ ना आऊँ।
मेरा नन्हा सा गोपाल ,
तू कोई जादू देगा डाल।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


इतनी सुनके भोला ,
हँसे खिलखिला के।
बोला यशोदा से ,
डमरू बजाके।
देखो जाकर अपना लाल ,
आने को वो है बहाल।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ


इतने में आए मोहन ,
मुरली बजाते।
ब्रह्मा इंद्राणी जिसका ,
पार ना पाते।
यहाँ गोकुल में ग्वाल ,
घर- घर नाच रहा गोपाल।
काशी नगरी से आए ,
हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ।


जरूर पढ़ें :- सभा में मेरी लाज रखना

जरूर पढ़ें :- पहले तुम्हे मनाऊं गौरी के लाला

shiv ji bhajan lyrics in hindi

~ leke goraji ko sath ~

leke gora ji ko sath,
bhole bhale bhole nath .
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .


nandi pe savar hoke ,
damaru bajate .
chale aa rahe hai bhole,
hari gun gate.
pahene narmundo ki mala,
odhe tan par mrig chala.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


hath me trisul liye,
bhasmi ramaye .
jholi gale me dale ,
gokul me aaye .
pahuche nand baba ke dwar,
alakh jagaye barambar.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


kaha hai yashoda tera,
krishna kanhaiya.
darash karade rani,
le lu balaiya.
sunke narayan avtar,
aaya hu me tere dwar.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


dekhke yasoda boli,
jao baba jao.
dwar hamare tum na ,
damaru bajao.
dar jayega mera lal,
jo dekhega sarp maal.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


has ke wo jogi bola,
suno maharani.
darash karade mujhe,
hogi meherbani.
darsh karade ek baar,
dekhu kaisa hai sukumar.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


soya hai kanhaiya mera,
me na jagau.
teri bato me baba,
hargij na aau.
mera nanha sa gopal,
tu koi jadu dega dal.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


etni sunke bhola,
hanse khilkhila ke .
bola yasoda se ,
damaru bajake.
dekho jakar apna lal,
aane ko wo hai bahal.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar .
leke gora ji ko sath


etne me aaye mohan,
murli bajate.
brahma endrani jiska,
paar na pate.
yaha gokul me gwal,
ghar ghar nach raha gopal.
kashi nagari se aaye,
hai shiv shankar.
leke gora ji ko sath .


जरूर पढ़ें :- गणपति को लग गई नजरिया

जरूर पढ़ें :- प्रथम निमंत्रण आपको

लेके गौरा जी को साथ भोले-भाले भोले नाथ भजन लिरिक्स

~ भोलेनाथ के भजन लिरिक्स ~

लेके गोरा जी को साथ ,भोले-भाले भोले नाथ।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।

नंदी पे सवार होके ,डमरू बजाते।
चले आ रहे हैं भोले ,हरी गुण गाते।
पहेने नरमुंडो की माला ,ओढ़े तन पर मृग छाला।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

हाथ में त्रिशूल लिए ,भसमी रमाये।
झोली गले में डाले ,गोकुल में आये।
पहुचे नंद बाबा के द्वार ,अलख जगाएँ बारम्बार।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

कहाँ है यशोदा तेरा ,कृष्ण कन्हैया।
दरश करादे रानी ,ले लू बलैया।
सुनके नारायण अवतार ,आया हू मैं तेरे द्वार।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

देखके यशोदा बोली ,जाओ- बाबा जाओ।
द्वार हमारे तुम ना ,डमरू बजाओ।
डर जायेगा मेरा लाल ,जो देखेगा सर्प माल।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

हँस के वो जोगी बोला ,सुनो महारानी।
दरश करादे मुझे ,होगी मेहेरबानी।
दरस करादे एक बार ,देखु कैसा है सुकुमार।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

सोया है कन्हैया मेरा ,मैं ना जगाऊं।
तेरी बातो में बाबा ,हरगिज़ ना आऊँ।
मेरा नन्हा सा गोपाल ,तू कोई जादू देगा डाल।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

इतनी सुनके भोला ,हँसे खिलखिला के।
बोला यशोदा से ,डमरू बजाके।
देखो जाकर अपना लाल ,आने को वो है बहाल।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ

इतने में आए मोहन ,मुरली बजाते।
ब्रह्मा इंद्राणी जिसका ,पार ना पाते।
यहाँ गोकुल में ग्वाल ,घर- घर नाच रहा गोपाल।
काशी नगरी से आए ,हैं शिव शंकर।
लेके गोरा जी को साथ।

shiv ji bhajan lyrics video

भजन :- लेके गौरा जी को साथ
गायिका :- मोनिका अग्रवाल
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे

जरूर पढ़ें :- बोध गुरु ज्ञान क्या करें

पिछला लेखगौरी नंद गणेश सभा में मेरी लाज रखना भजन लिरिक्स | gori nand ganesh sabha mein meri laaj rakhna lyrics
अगला लेखअगर श्याम सुंदर का सहारा न होता लिरिक्स | agar shyam sundar ka sahara na hota bhajan lyrics

4 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 1 =