कंचन कांच का बनिया रे हनुमान भजन लिरिक्स | kanchan kach ka baniya re hanuman bhajan lyrics

8304

कंचन कांच का बनिया रे हनुमान भजन लिरिक्स

कंचन कांच का बनिया रे हनुमान kanchan kach ka baniya re hanuman chandi ki mari chot mata bhajan lyrics

 ।। दोहा ।।
ऊंची पेड़ी मात की , चढ्यो ना उतरियो जाय।
कहिजो मारी मात से , हाथ पकड़ ले जाय।


!! कंचन कांच का बणिया !!

कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,
चांदी की म्हारी चौथ माता।


म्हारा ससुराजी ढोके जे हनुमान,
सासुजी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,
चांदी की म्हारी चौथ माता।


म्हारा जेठ जी ढोके जे हनुमान,
जेठाणी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,
चांदी की म्हारी चौथ माता।


कामखेड़ा में पुजाया हनुमान,
बरवाड़े म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,
चांदी की म्हारी चौथ माता।


म्हारा काका जी ढोके जे हनुमान,
काकीजी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,
चांदी की म्हारी चौथ माता।


जरूर पढ़ें :- थाने रामदेव परणावे

जरूर पढ़ें :- गोविंद रा गुण गाए उमरिया जावे

mata ji ke bhajan lyrics in hindi

!! kanchan kach ka baniya !!

kanchan kach ka baniya re hanuman
chadi ki mhari choth mata.


mara sasuraji dhoke je hanuman,
sasuji mari choth mata.
kanchan kach ka baniya re hanuman
chadi ki mhari choth mata.


mara jeth ji dhoke je hanuman,
jethani mari choth mata.
kanchan kach ka baniya re hanuman
chadi ki mhari choth mata.


kamkhera me pujaya hanuman,
barvade mari choth mata.
kanchan kach ka baniya re hanuman
chadi ki mhari choth mata.


mara kaka ji dhoke je hanuman,
kakiji mari choth mata.
kanchan kach ka baniya re hanuman
chadi ki mhari choth mata.


जरूर पढ़ें :- दुनिया भोली रे भोली

जरूर पढ़ें :- सांवली सूरत पे मोहन

माता जी के भजन लिरिक्स in hindi

!! कंचन कांच का बनिया !!

कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,चांदी की म्हारी चौथ माता।

म्हारा ससुराजी ढोके जे हनुमान,सासुजी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,चांदी की म्हारी चौथ माता।

म्हारा जेठ जी ढोके जे हनुमान,जेठाणी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,चांदी की म्हारी चौथ माता।

कामखेड़ा में पुजाया हनुमान,बरवाड़े म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,चांदी की म्हारी चौथ माता।

म्हारा काका जी ढोके जे हनुमान,काकीजी म्हारी चौथ माता।
कंचन कांच का बणिया रे हनुमान,चांदी की म्हारी चौथ माता।

sukhdev bharti ke bhajan video

भजन :- कंचन कांच का बनिया रे हनुमान
गायक :- सुखदेव भारती
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मनक जमारो बार बार नहीं आवणो

जरूर पढ़ें :- ऐसो नहीं है जन्म बारंबार

पिछला लेखथाने रामदेव परणावे परिणी जो भाटी हरजी भजन लिरिक्स | thane ramdev parnave bhajan lyrics
अगला लेखपिंजरे वाली मैना रटो नी सिया राम राम भजन लिरिक्स | Pinjare Wali Maina Bhajo Ni Siya Ram Ram lyrics

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

twenty − 12 =