क्यों सजते हो कन्हैया तुम तेरा दीदार काफी है भजन लिरिक्स | kyu sajte ho kanhiyan tum bhajan lyrics

170

क्यों सजते हो कन्हैया तुम तेरा दीदार काफी है भजन लिरिक्स

क्यों सजते हो कन्हैया तुम तेरा दीदार काफी है kyu sajte ho kanhiyan tum krishna bhajan with lyrics in hindi

 ।। दोहा ।।
भोली-भाली राधिका, भोले कृष्ण कुमार।
कुंज गलिन खेलत फिरें, ब्रज रज चरण पखार।


।। क्यों सजते हो कन्हैया तुम ।।

क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।
हमें दीवाना करने को ,
नज़र का वार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


क्या उबटन केशरी जलवा ,
क्यों चंदन से सजे हो तुम।
की बृज की धुल में जुसरित ,
तेरा तो श्रृंगार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


क्यों माथे स्वर्ण मानक और ,
बहुमूलक मुकुट राखो।
वो घुंघराले घने केशव ,
पे मोर की पाख काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


क्या चंपा मोगरा जूही ,
वैजन्ती माल गल पेहरो।
श्री राधा जी की बहियन का ,
तेरे गल हार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


ना छप्पन भोग की तृष्णा ,
तुम्हे हरगिज़ नहीं कान्हा।
तुम्हे तो तृप्त करने को ,
एक तुलसी सार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


हो मोहक श्याम वर्णी तुम ,
हो नामा रूप घनश्यामा।
तेरी कृपा को बरसाने ,
को मन मल्हार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


कभी उर में हुआ गुंजन ,
कहे कान्हा सुनले पवन।
मैं तो बस भावना देखूं ,
मुझे तो प्यार काफी है।


क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।
हमें दीवाना करने को ,
नज़र का वार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,
तेरा दीदार काफी है।


जरूर पढ़ें :- मुझको भी सेवा में लगा ले

जरूर पढ़ें :- कन्हैया तुझे आना पड़ेगा

krishna bhajan with lyrics in hindi

!! kyu sajte ho kanhiyan tum !!

kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.
hamen deevaana karane ko ,
nazar ka vaar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


kya ubatan kesharee jalava ,
kyon chandan se saje ho tum.
kee brj kee dhul mein jusarit ,
tera to shrrngaar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


kyon maathe svarn maanak aur ,
bahumoolak mukut raakho.
vo ghungharaale ghane keshav ,
pe mor kee paakh kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


kya champa mogara joohee ,
vaijantee maal gal peharo.
shree raadha jee kee bahiyan ka ,
tere gal haar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


na chhappan bhog kee trshna ,
tumhe haragiz nahin kaanha.
tumhe to trpt karane ko ,
ek tulasee saar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


ho mohak shyaam varnee tum ,
ho naama roop ghanashyaama.
teree krpa ko barasaane ,
ko man malhaar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


kabhee ur mein hua gunjan ,
kahe kaanha sunale pavan.
main to bas bhaavana dekhoon ,
mujhe to pyaar kaaphee hai.


kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.
hamen deevaana karane ko ,
nazar ka vaar kaaphee hai.
kyon sajate ho kanhaiya tum ,
tera deedaar kaaphee hai.


जरूर पढ़ें :- एक तेरा भरोसा एक तेरा सहारा

जरूर पढ़ें :- एक अर्ज मेरी सुनलो

हिंदी भजन लिरिक्स इन हिंदी

!! क्यों सजते हो कन्हैया तुम !!

क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।
हमें दीवाना करने को ,नज़र का वार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

क्या उबटन केशरी जलवा ,क्यों चंदन से सजे हो तुम।
की बृज की धुल में जुसरित ,तेरा तो श्रृंगार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

क्यों माथे स्वर्ण मानक और ,बहुमूलक मुकुट राखो।
वो घुंघराले घने केशव ,पे मोर की पाख काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

क्या चंपा मोगरा जूही ,वैजन्ती माल गल पेहरो।
श्री राधा जी की बहियन का ,तेरे गल हार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

ना छप्पन भोग की तृष्णा ,तुम्हे हरगिज़ नहीं कान्हा।
तुम्हे तो तृप्त करने को ,एक तुलसी सार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

हो मोहक श्याम वर्णी तुम ,हो नामा रूप घनश्यामा।
तेरी कृपा को बरसाने ,को मन मल्हार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

कभी उर में हुआ गुंजन ,कहे कान्हा सुनले पवन।
मैं तो बस भावना देखूं ,मुझे तो प्यार काफी है।

क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।
हमें दीवाना करने को ,नज़र का वार काफी है।
क्यों सजते हो कन्हैया तुम ,तेरा दीदार काफी है।

कृष्ण भजन हिंदी video

भजन :- क्यों सजते हो कन्हैया तुम
गायक :- unknown
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- एक मीरा एक राधा

जरूर पढ़ें :- रूस गयो नंदलाल मारो

पिछला लेखकान्हा मेरे मुझको भी सेवा में लगा ले भजन लिरिक्स | Kanha Mere Mujhko Bhi Seva Me Lagale bhajan lyrics
अगला लेखचाहे छोड़ जाए सब साथ मगर तेरा साथ नहीं छूटे लिरिक्स | chahe chod jaye sab sath bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

seven − 6 =