जड़ चेतन के माली भजन लिरिक्स | jad chetan ke mali bhajan lyrics

512

जड़ चेतन के माली भजन लिरिक्स

जड़ चेतन के माली भजन, jad chetan ke mali bhajan lyrics, purana desi bhajan marwadi

 ।। जड़ चेतन के माली ।।

हो – जड़ चेतन के माली ।
तने करे पुतले त्यार तेरे से ,
हाथा में ताली।
हो – जड़ चेतन के माली।


चेतन का बीज माली,
बोवण ने हो गया तैयार।
जळ के ऊपर रची सृस्ठी,
क्यारी तो बनाई च्यार।
छोटे बड़े दरखत,
और बिरछा की लगाईं लार।
न्यारे न्यारे सबके पत्ते,
न्यारे न्यारे सबके मेल।
किसी के माय दूध भरया ,
किसी के माय भरया है तेल।
हजार किसम की माली तने,
दुनिया में लगा दी बेल।
हो – ना कोई जगह खाली।
ये करते भंवर गुंजार ,
खिले फल फूल लता डाली।
हो – जड़ ….


दूसरी क्यारी में तने,
ऐसा तो बोया है बीज।
विष की भरी सारी जड़े,
जीतनी तो बनाई चीज।
बिच्छू, सर्प, बघेरा, माछर,
भरड ततैया, जैया तीज।
चकवा चकवी बोल रहे,
तोता मैंना नाचे मोर।
हरियल और कुबेर फैंसी,
एक तरफ कर रहे थे शोर।
हरियल कुबरी तोता मैना,
चन्दा पर झपटे चकोर।
हो – किसी छाई हरियाली ।
तेरे गुलशन बाग़ बहार ,
कूकती वहा कोयल काली।
हो – जड़ ….


तीसरी क्यारी में तने,
छोड़ी नहीं रत्ती भूल।
जरख लोमड़ी, रीछ,
भेड़िया पैदा किये सारदूल।
हाथी, शेर, बघेरा,
बन्दर बड़े बड़े अस्थूल।
गधा, घोड़ा, ऊंट, खच्चर,
सवारी का इंतजाम।
भेड़, बकरी, गऊ माता,
स्वर्ग का बतावै धाम।
मरया पछे माली इनका,
चमड़ा तक भी आवै काम।
हां – तू ऐसा है टकसाली ।
तेरे भरे रहवे भण्डार ,
कदे ना आवै कंगाली।
हो – जड़ ….


चौथी तो क्यारी में तने ,
अपना दिखाया रूप।
कोई कोढ़ी, कोई कंगला,
कोई तो बनाया भूप।
कोई कोई चातर करया,
कोई करया बेवकूफ।
न्यारा न्यारा रंग रूप,
न्यारी न्यारी रूह है।
जिधर देखू जड़ चेतन में,
दिखे तू ही तू है।
जर्रे जर्रे अन्दर रमी,
इश्वर तेरी बू है।
हो – तू सबका है प्रतिपाली ।
कह लिखमिचंद बन्या फिरे ,
तू जग का रखवाली।


हो – जड़ चेतन के माली ।
तने करे पुतले त्यार तेरे से ,
हाथा में ताली।
हो – जड़ चेतन के माली।


जरूर पढ़ें :- होसी लिखी रे तकदीर

जरूर पढ़ें :- जुबान जैसी मीठी जगत में

purana desi bhajan marwadi in hindi lyrics

!! jad chetan ke mali !!

ho – jad chetan ke maalee .
tane kare putale tyaar tere se ,
haatha mein taalee.
ho – jad chetan ke maalee.


chetan ka beej maalee,
bovan ne ho gaya taiyaar.
jal ke oopar rachee srsthee,
kyaaree to banaee chyaar.
chhote bade darakhat,
aur birachha kee lagaeen laar.
nyaare nyaare sabake patte,
nyaare nyaare sabake mel.
kisee ke maay doodh bharaya ,
kisee ke maay bharaya hai tel.
hajaar kisam kee maalee tane,
duniya mein laga dee bel.
ho – na koee jagah khaalee.
ye karate bhanvar gunjaar ,
khile phal phool lata daalee.
ho – jad ….


doosaree kyaaree mein tane,
aisa to boya hai beej.
vish kee bharee saaree jade,
jeetanee to banaee cheej.
bichchhoo, sarp, baghera, maachhar,
bharad tataiya, jaiya teej.
chakava chakavee bol rahe,
tota mainna naache mor.
hariyal aur kuber phainsee,
ek taraph kar rahe the shor.
hariyal kubaree tota maina,
chanda par jhapate chakor.
ho – kisee chhaee hariyaalee .
tere gulashan baag bahaar ,
kookatee vaha koyal kaalee.
ho – jad ….


teesaree kyaaree mein tane,
chhodee nahin rattee bhool.
jarakh lomri, reechh,
bhediya paida kiye saaradool.
haathee, sher, baghera,
bandar bade bade asthool.
gadha, ghoda, oont, khachchar,
savaaree ka intajaam.
bhed, bakaree, gaoo maata,
svarg ka bataavai dhaam.
maraya pachhe maalee inaka,
chamada tak bhee aavai kaam.
haan – too aisa hai takasaalee .
tere bhare rahave bhandaar ,
kade na aavai kangaalee.
ho – jad ….


chauthee to kyaaree mein tane ,
apana dikhaaya roop.
koee kodhee, koee kangala,
koee to banaaya bhoop.
koee koee chaatar karaya,
koee karaya bevakooph.
nyaara nyaara rang roop,
nyaaree nyaaree rooh hai.
jidhar dekhoo jad chetan mein,
dikhe too hee too hai.
jarre jarre andar ramee,
ishvar teree boo hai.
ho – too sabaka hai pratipaalee .
kah likhamichand banya phire ,
too jag ka rakhavaalee.


ho – jad chetan ke maalee .
tane kare putale tyaar tere se ,
haatha mein taalee.
ho – jad chetan ke maalee.


जरूर पढ़ें :- सतगुरु मेरा ऐसा रंग चढ़ाया

जरूर पढ़ें :- रटो पार्वती के भरतार

देसी भजन मारवाड़ी देसी भजन hindi lyrics

!! जड़ चेतन के माली !!

हो – जड़ चेतन के माली ।
तने करे पुतले त्यार तेरे से ,हाथा में ताली।
हो – जड़ चेतन के माली।

चेतन का बीज माली, बोवण ने हो गया तैयार।
जळ के ऊपर रची सृस्ठी, क्यारी तो बनाई च्यार।
छोटे बड़े दरखत, और बिरछा की लगाईं लार।
न्यारे न्यारे सबके पत्ते, न्यारे न्यारे सबके मेल।
किसी के माय दूध भरया , किसी के माय भरया है तेल।
हजार किसम की माली तने, दुनिया में लगा दी बेल।
हो – ना कोई जगह खाली।
ये करते भंवर गुंजार ,खिले फल फूल लता डाली।
हो – जड़ ….

दूसरी क्यारी में तने, ऐसा तो बोया है बीज।
विष की भरी सारी जड़े, जीतनी तो बनाई चीज।
बिच्छू, सर्प, बघेरा, माछर, भरड ततैया, जैया तीज।
चकवा चकवी बोल रहे, तोता मैंना नाचे मोर।
हरियल और कुबेर फैंसी, एक तरफ कर रहे थे शोर।
हरियल कुबरी तोता मैना, चन्दा पर झपटे चकोर।
हो – किसी छाई हरियाली ।
तेरे गुलशन बाग़ बहार ,कूकती वहा कोयल काली।
हो – जड़ ….

तीसरी क्यारी में तने, छोड़ी नहीं रत्ती भूल।
जरख लोमड़ी, रीछ, भेड़िया पैदा किये सारदूल।
हाथी, शेर, बघेरा, बन्दर बड़े बड़े अस्थूल।
गधा, घोड़ा, ऊंट, खच्चर, सवारी का इंतजाम।
भेड़, बकरी, गऊ माता, स्वर्ग का बतावै धाम।
मरया पछे माली इनका, चमड़ा तक भी आवै काम।
हां – तू ऐसा है टकसाली ।
तेरे भरे रहवे भण्डार ,कदे ना आवै कंगाली।
हो – जड़ ….

चौथी तो क्यारी में तने , अपना दिखाया रूप।
कोई कोढ़ी, कोई कंगला, कोई तो बनाया भूप।
कोई कोई चातर करया, कोई करया बेवकूफ।
न्यारा न्यारा रंग रूप, न्यारी न्यारी रूह है।
जिधर देखू जड़ चेतन में, दिखे तू ही तू है।
जर्रे जर्रे अन्दर रमी, इश्वर तेरी बू है।
हो – तू सबका है प्रतिपाली ।
कह लिखमिचंद बन्या फिरे ,तू जग का रखवाली।

हो – जड़ चेतन के माली ।
तने करे पुतले त्यार तेरे से ,हाथा में ताली।
हो – जड़ चेतन के माली।

shivratan pareek bhajan video

भजन :- जड़ चेतन के माली
गायक :- शिवरतन जी पारीक
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मुझे दिल की बीमारी है

जरूर पढ़ें :- थारे घट में विराजे भगवान

पिछला लेखबस बात जरासी होसी लिखी रे तकदीर भजन लिरिक्स | hosi likhi re takdeer bhajan lyrics
अगला लेखगणनायक विघ्न हरो देवा भजन लिरिक्स | gannayak vighan haro deva bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

eighteen − 1 =