कायर सके ना झेल फकीरी अलबेला रो खेल भजन लिरिक्स | Kayar Sake Na Jhel Fakiri bhajan lyrics

707

कायर सके ना झेल फकीरी अलबेला रो खेल भजन लिरिक्स

कायर सके ना झेल फकीरी अलबेला रो खेल Kayar Sake Na Jhel Fakiri फकीरी भजन लिरिक्स sanwarmal saini ke bhajan

 ।। दोहा ।।
हरी भजे वे सुरवा , नहीं कायर को काम।
कायर नर का क्या मता काम क्रोध का ध्यान।


।। कायर सके ना झेल फकीरी ।।

कायर सके ना झेल ,
फकीरी अलबेला रो खेल।


ज्यूँ रण माँय लडे नर सूरा,
अणियाँ झुक रया सेल।
गोली नाल जुजर बा चालै,
सन्मुख लेवै झेल।
फकीरी अलबेला रो खेल।
कायर सके ….


सती पति संग नी सरी,
अपने पिया के गैल।
सुरत लगी अपने साहिब से ,
अग्नि काया बिच मेल।
फकीरी अलबेला रो खेल।
कायर सके ….


अलल पक्षी ज्यूँ उलटा चाले ,
बांस भरत नट खेल।
मेरु इक्कीस छेद गढ़ बंका ,
चढ़गी अगम के महल।
फकीरी अलबेला रो खेल।
कायर सके ….


दो और एक रवे नहीं दूजा,
आप आप को खेल।
कहे सामर्थ कोई असल पिछाणै,
लेवै गरीबी झेल।
फकीरी अलबेला रो खेल।
कायर सके ….


जरूर पढ़ें :- श्री गणेश काटो कलेश

जरूर पढ़ें :- केसरियो रंग उड़ जाएगा

jog fakiri bhajan lyrics in English

!! Kayar Sake Na Jhel Fakiri !!

kaayar sake na jhel ,
phakeeree alabela ro khel.


jyoon ran maany lade nar soora,
aniyaan jhuk raya sel.
golee naal jujar ba chaalai,
sanmukh levai jhel.
phakeeree alabela ro khel.
kaayar sake ….


satee pati sang nee saree,
apane piya ke gail.
surat lagee apane saahib se ,
agni kaaya bich mel.
phakeeree alabela ro khel.
kaayar sake ….


alal pakshee jyoon ulata chaale ,
baans bharat nat khel.
meru ikkees chhed gadh banka ,
chadhagee agam ke mahal.
phakeeree alabela ro khel.
kaayar sake ….


do aur ek rave nahin dooja,
aap aap ko khel.
kahe samarth koi asal pichhane,
levai gareebee jhel.
phakeeree alabela ro khel.
kaayar sake ….


जरूर पढ़ें :- विणो बाजे सांवरिया थारे नाम रो रे

जरूर पढ़ें :- राम जी रो राख भरोसो मेरा भाई

कायर सके ना झेल फकीरी अलबेला रो खेल भजन लिरिक्स in Hindi

!! जोग फकीरी के भजन !!

कायर सके ना झेल , फकीरी अलबेला रो खेल।

ज्यूँ रण माँय लडे नर सूरा, अणियाँ झुक रया सेल।
गोली नाल जुजर बा चालै, सन्मुख लेवै झेल।
फकीरी अलबेला रो खेल। कायर सके ….

सती पति संग नी सरी, अपने पिया के गैल।
सुरत लगी अपने साहिब से , अग्नि काया बिच मेल।
फकीरी अलबेला रो खेल। कायर सके ….

अलल पक्षी ज्यूँ उलटा चाले , बांस भरत नट खेल।
मेरु इक्कीस छेद गढ़ बंका , चढ़गी अगम के महल।
फकीरी अलबेला रो खेल। कायर सके ….

दो और एक रवे नहीं दूजा, आप आप को खेल।
कहे सामर्थ कोई असल पिछाणै, लेवै गरीबी झेल।
फकीरी अलबेला रो खेल। कायर सके ….

sanwarmal saini ke bhajan video

भजन :- कायर सके ना झेल फकीरी
गायक :- सांवरमल सैनी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- गुरासा शरण आपरी आया

जरूर पढ़ें :- मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई

पिछला लेखश्री गणेश काटो कलेश भजन लिरिक्स | shri ganesh kato kalesh bhajan lyrics
अगला लेखमतवाला गुरु मतवाला सत अमरापुर है वाला भजन लिरिक्स | matwala guru matwala bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

16 − 3 =