कोई पीवे राम रस प्यासा लिरिक्स | koi pive ram ras pyasa bhajan lyrics

8436

कोई पीवे राम रस प्यासा लिरिक्स

कोई पीवे राम रस प्यासा लिरिक्स koi pive ram ras pyasa bhajan lyrics रविदास जी के भजन

 ।। कोई पीवे राम रस प्यासा ।।

कोई पीवे राम रस प्यासा।
जगत मंडल में अमिरत बरसे,
उन मुन के घर वासा।
कोई पीवे राम रस प्यासा।


शिष उतार धरो गुरू आगे ,
करे नी तन री आशा।
ऐसा मुंगा अमि बिकत है ,
छै रितू बारों मासा।
कोई पीवत राम रस प्यासा।


मौल करे तो थके दूर से ,
तौलत टूटे तासा।
जो पीवे जुग जुग जीवे ,
कदे नी होत विनाशा॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।


इण रस काल नृप भया जोगी ,
छोङिया भोग विलाशा ।
कनक सिंहासन धरिया रेवे ,
भस्म रमावे उदियासा ॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।


गोरखनाथ भरतरी पीना ,
और कबीर रविदासा ।
गुरू दादू रे चरण कमल में ,
पी गया सुंदर दासा॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।


जरूर पढ़ें :- सोला सन्तोषी पेरिया

जरूर पढ़ें :- राम भजो विश्वास राखजो

koi pive ram ras pyasa bhajan English lyrics

!! marwadi desi bhajan !!

koi pive ram ras pyasa.
jagat mandal mein amirat barase,
un mun ke ghar vaasa.
koee peeve raam ras pyaasa.


shish utaar dharo guroo aage ,
kare nee tan ree aasha.
aisa munga ami bikat hai ,
chhai ritoo baaron maasa.
koee peevat raam ras pyaasa.


maul kare to thake door se ,
taulat toote taasa.
jo peeve jug jug jeeve ,
kade nee hot vinaasha.
koee peevat raam ras pyaasa.


in ras kaal nrp bhaya jogee ,
chhoniya bhog vilaasha .
kanak sinhaasan dhariya reve ,
bhasm ramaave udiyaasa .
koee peevat raam ras pyaasa.


gorakhanaath bharataree peena ,
aur kabeer ravidaasa .
guroo daadoo re charan kamal mein ,
pee gaya sundar daasa.
koee peevat raam ras pyaasa.


जरूर पढ़ें :- प्रभु जी मेरे अवगुण चित ना धरो

जरूर पढ़ें :- माधव गति तुम्हारी ना जानी

कोई पीवे राम रस प्यासा bhajan hindi lyrics

!! रविदास जी भजन !!

कोई पीवे राम रस प्यासा।
जगत मंडल में अमिरत बरसे,उन मुन के घर वासा।
कोई पीवे राम रस प्यासा।

शिष उतार धरो गुरू आगे ,करे नी तन री आशा।
ऐसा मुंगा अमि बिकत है ,छै रितू बारों मासा।
कोई पीवत राम रस प्यासा।

मौल करे तो थके दूर से ,तौलत टूटे तासा।
जो पीवे जुग जुग जीवे ,कदे नी होत विनाशा॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।

इण रस काल नृप भया जोगी ,छोङिया भोग विलाशा ।
कनक सिंहासन धरिया रेवे ,भस्म रमावे उदियासा ॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।

गोरखनाथ भरतरी पीना ,और कबीर रविदासा ।
गुरू दादू रे चरण कमल में ,पी गया सुंदर दासा॥
कोई पीवत राम रस प्यासा।

प्रकाश दास जी के भजन | praksh das ji maharaj bhajan video

भजन :- कोई पीवे राम रस प्यासा
गायक :- प्रकाश दास जी महाराज
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- अवधू भजन भेद है न्यारा

जरूर पढ़ें :- कबीरा कबसे भयो बैरागी

पिछला लेखसोला सन्तोषी पेरिया ज्ञान गुरु में रंगिया भजन लिरिक्स | sola santoshi periya bhajan lyrics
अगला लेखमेरा गुरु लगे मोहे प्यारा भजन लिरिक्स | mera guru lage mohe pyara bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

eight + four =