भजमन राम चरण सुखदाई भजन लिरिक्स | bhajman ram charan sukhdai bhajan lyrics

1962

भजमन राम चरण सुखदाई भजन लिरिक्स

भजमन राम चरण सुखदाई भजन bhajman ram charan sukhdai bhajan lyrics ram ji bhajan lyrics

 ।। दोहा ।।
कलयुग केवल नाम अधारा।
सुमिर सुमिर नर उतरे पारा।


भजमन रामचरण सुखदाई।

भजमन रामचरण सुखदाई।
रामचरण सुखदाई ,
भजमन रामचरण सुखदाई।


जिन चरणन निकरी सुरसरि ,
शंकर जटा समाई।
जटा शंकरी नाम पड़ो है ,
त्रिभुवन तारण आई।
भजमन। …


जिन चरणन की चरण पादुका ,
भरत रहे मन लाई।
सोई चरण केवट धोई लिनु ,
तब हरि नाव चढ़ाई।
भजमन। …


बन दण्डक सब पावन कीन्हा ,
ऋषिन की त्रास मिटाई।
जे ठाकुर तिहु लोक के नायक ,
कपट मृगा संग धाई।
भजमन। …


कपि सुग्रीव अनुज भय व्याकुल ,
चारु दिशा चक्र घुमाई।
रिप को अनुज विभीषण निशिचर ,
परसति लंका पाई।
भजमन। …


सौ योजन मरजाद सिंधु की,
जात बार ना लाई।
तुलसीदास मरुत सूत महिमा ,
हरि अपने मुख गाई।
भजमन। …


जरूर पढ़ें :- मैं अपने राम को रिझाऊं

जरूर पढ़ें :- टवका करतो जाए मोरियो

ram ji bhajan lyrics in English

!! bhajman ram charan sukhdai !!

bhajman ram charan sukhdai,
ram charan sukhdai,
bhajman ram charan sukhdai.


jin charanne kikari sursari,
shankar jata samai.
jata shankari nam pado hai,
tribhuvan taran aai.
bhajman….


jin charan ki charan paduka,
bharat rahe man laai.
soi charan kevat dhoi lunu,
tab hari nav chadai.
bhajman….


van dandak sab pavan kinha,
rishin ki tras mitai.
je thakur tihu lik ke nayak,
kapat mriga sang dhai.
bhajman….


kapi sugriv anuj bhay vyakul,
charu desha chakr ghumai.
rip ko anuj vibhishan nishichar,
parsati lanka paai.
bhajman….


so yojan marjad sindhu ki,
jat bar na laai,
tulsi das marut sut mahima,
hari apne mukh gai.
bhajman….


जरूर पढ़ें :- सकल हंस में राम विराजे

जरूर पढ़ें :- हेली मारी होजा भजन वाली लार

कबीर भजन माला हिंदी lyrics

!! भजमन राम चरण सुखदाई !!

भजमन रामचरण सुखदाई।
रामचरण सुखदाई ,भजमन रामचरण सुखदाई।

जिन चरणने निकरी सुरसरि ,शंकर जटा समाई।
जटा शंकरी नाम पड़ो है ,त्रिभुवन तारण आई।
भजमन। …

जिन चरणन की चरण पादुका ,भारत रहे मन लाई।
सोई चरण केवट धोई लिनु ,तब हरि नाव चढ़ाई।
भजमन। …

बन दण्डक सब पावन कीन्हा ,ऋषिन की त्रास मिटाई।
जे ठाकुर तिहु लोक के नायक ,कपट मृगा संग धाई।
भजमन। …

कपि सुग्रीव अनुज भय व्याकुल ,चारु दिशा चक्र घुमाई।
रिप को अनुज विभीषण निशिचर ,परसति लंका पाई।
भजमन। …

सौ योजन मरजाद सिंधु की,जात बार ना लाई।
तुलसीदास मरुत सूत महिमा ,हरि अपने मुख गाई।
भजमन। …

प्रेम प्रकाश दुबे के भजन | prem prakash dubey bhajan video

भजन :- भजमन रामचरण सुखदाई
गायक :- प्रेम प्रकाश दुबे
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- जरा हल्के गाड़ी हांको

जरूर पढ़ें :- चेत रे नर चेत कबीर चेतावनी

पिछला लेखमैं अपने राम को रिझाऊं भजन लिरिक्स | me apne ram ko rijau bhajan lyrics
अगला लेखजोड़ जोड़ भर लिए खजाने फिर भी तृष्णा बनी रही भजन लिरिक्स | jod jod kar bhar liye khajane bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

18 + 3 =