कहाँ से आया कहाँ जाओगे भजन लिरिक्स | kaha se aaya kahan jaoge lyrics

1383

कहाँ से आया कहाँ जाओगे भजन लिरिक्स | kaha se aaya kahan jaoge lyrics

कहाँ से आया कहाँ जाओगे खबर करो अपने तन की kaha se aaya kahan jaoge lyrics khabar karo apne tan ki prahlad tipaniya kabir bhajan

 ।। दोहा ।।
आया एक ही घाट से न उतरे एक ही बाट।
बीच मे दुविधा पड गई – हो गए बारा बाट।

हिन्दू कहु तो हु नही , मुसलमान भी नाय।
के दीन दोनो मायने ,खेलु दोनो माय।


।। कहा से आया कहा जाओगे ।।

कहा से आया कहा जाओगे ,
खबर करो अपने तन की।
सतगुरू मीले तो भेद बतावे ,
खुल जावे अंतर खीडकी ।


अरे हिन्दू मुस्लिम दोनों भूलाने ,
खटपट माय रहा अटकी।
जोगी जंगल लेके सेवरा ,
लालच माय रहा भटकी।
कहा से आया …..


काजी बेटा कुरान बाचे ,
जमी जोर वो कर कटकी।
हरदम साहिब नहीं पहचाना ,
पकड़ा मुर्गी दे पटकी।
कहा से आया …..


बार बेटा ध्यान लगावे ,
भीतर सूरता रही भटकी।
बाहर बंदा अंदर गंदा ,
भीतर मछली दहे गटकी।
कहा से आया …..


माला मुद्रा तिलक छापा ,
तीरथ वरथ रहा अटकी।
गावे बजावे लोग रीजावे ,
खबर नही अपने तन की।
कहा से आया …..


बीना विवेक ये गीता बाचे ,
चेतन को लगी नही चटकी।
कहे कबीर सुनो भाई साधु ,
आवागमन में रया भटकी।
कहा से आया …..


जरूर पढ़ें :- चाल सखी सत्संग में चला

जरूर पढ़ें :- फकीरी जीवत धुके रे मसाण

khabar karo apne tan ki bhajan English lyrics

!! kaha se aaya kahan jaoge !!

kaha se aaya kaha jaoge ,
khabar karo apane tan kee.
sataguroo meele to bhed bataave ,
khul jaave antar kheedakee .


are hindoo muslim donon bhoolaane ,
khatapat maay raha atakee.
jogee jangal leke sevara ,
laalach maay raha bhatakee.
kaha se aaya …..


kaajee beta kuraan baache ,
jamee jor vo kar katakee.
haradam saahib nahin pahachaana ,
pakada murgee de patakee.
kaha se aaya …..


baar beta dhyaan lagaave ,
bheetar soorata rahee bhatakee.
baahar banda andar ganda ,
bheetar machhalee dahe gatakee.
kaha se aaya …..


maala mudra tilak chhaapa ,
teerath varath raha atakee.
gaave bajaave log reejaave ,
khabar nahee apane tan kee.
kaha se aaya …..


beena vivek ye geeta baache ,
chetan ko lagee nahee chatakee.
kahe kabeer suno bhaee saadhu ,
aavaagaman mein raya bhatakee.
kaha se aaya …..


जरूर पढ़ें :- हेली मारी रंग में रंग मिल जाए

जरूर पढ़ें :- शिवजी रम रया पहाड़ा मे

खबर करो अपने तन की bhajan hindi lyrics

!! कहाँ से आया कहाँ जाओगे !!

कहा से आया कहा जाओगे ,खबर करो अपने तन की।
सतगुरू मीले तो भेद बतावे ,खुल जावे अंतर खीडकी ।

अरे हिन्दू मुस्लिम दोनों भूलाने ,खटपट माय रहा अटकी।
जोगी जंगल लेके सेवरा ,लालच माय रहा भटकी।
कहा से आया …..

काजी बेटा कुरान बाचे ,जमी जोर वो कर कटकी।
हरदम साहिब नहीं पहचाना ,पकड़ा मुर्गी दे पटकी।
कहा से आया …..

बार बेटा ध्यान लगावे ,भीतर सूरता रही भटकी।
बाहर बंदा अंदर गंदा ,भीतर मछली दहे गटकी।
कहा से आया …..

माला मुद्रा तिलक छापा ,तीरथ वरथ रहा अटकी।
गावे बजावे लोग रीजावे ,खबर नही अपने तन की।
कहा से आया …..

बीना विवेक ये गीता बाचे ,चेतन को लगी नही चटकी।
कहे कबीर सुनो भाई साधु ,आवागमन में रया भटकी।
कहा से आया …..

prahlad tipaniya kabir bhajan video

भजन :- कहां से आया कहां जाओगे
गायक :- प्रहलाद टिपान्या
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- कालो भेरू कला में खेले

जरूर पढ़ें :- मोर मुकुट मुरली वाले ने

पिछला लेखचाल सखी सत्संग में चला भजन लिरिक्स | chal sakhi satsang me chala bhajan lyrics
अगला लेखचेत रे नर चेत कबीर चेतावनी भजन लिरिक्स | chet re nar chet re chidiya chug gayi khet bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

five + fifteen =