फकीरी जीवत धुके रे मसाण भजन लिरिक्स | fakiri jivat dhuke re masan bhajan lyrics

975

फकीरी जीवत धुके रे मसाण भजन लिरिक्स | fakiri jivat dhuke re masan bhajan lyrics

फकीरी जीवत धुके रे मसाण fakiri jivat dhuke masan फकीरी भजन मारवाड़ी madan puri ka bhajan जोग फकीरी का भजन

 ।। दोहा ।।
आधी रेन निकल गई ,जगत गया सब सोय।
जाको चिंता पीव की , नींद कहा से होय।


।। फकीरी जीवत धुके रे मसाण ।।

फकीरी जीवत धुके रे मसाण ,
कर लेवो निज साय।
जीवत धुके रे मसाण ,
फकीरी जीवत धुके रे मसाण।


छ दर्शन छतीसो पाखंड ,
मचरही खेचा ताण।
उलट पड़े आ युद्ध के माहि ,
जद पडेली जाण।
फकीरी जीवत …..


शीश काट लड़े कोई सूरा ,
धड़ से जूझे आण।
आठो पहर सोहलवा गावे ,
जद पूछे परयाण।
फकीरी जीवत …..


अनंत कोट साधु जन तापे ,
नो नाधा कर जाण।
सूरा तप सहे इण जप को ,
कायर तज देवे प्राण।
फकीरी जीवत …..


अगम निगम दो वाणी जुग में ,
ऊबी करे बखाण।
राजा प्रजा दर्शन को आवे ,
धिन जोगी थारो भाव।
फकीरी जीवत …..


ब्रह्म मिलन का पट्टा लिखाया ,
दिन बिच उग्यो भान।
हरिराम बैरागी बोले ,
सतगरु मिलिया सुजान।
फकीरी जीवत …..


जरूर पढ़ें :- हेली मारी रंग में रंग मिल जा

जरूर पढ़ें :- शिवजी रम रया पहाड़ा मे

fakiri bhajan rajasthani lyrics in English

!! fakiri jivat dhuke re masan !!

fakiri jivat dhuke re masan,
kar levo nij saay.
jivat dhuke re masan,
fakiri jivat dhuke re masan.


chhe darshan chatiso pakhand,
machrahi khecha tan.
ulat pade aa yudhdh ke mahi,
jad padeli jan.
fakiri jivat……


shish kat lade koi sura,
dhad se jujhe aan.
aatho pahar sohlava gave,
jad puche paryan.
fakiri jivat……


anant kot sadhu jan tape,
no nadha kar jan.
sura tap sahe in jap ko,
kayar taj deve pran.
fakiri jivat……


agam nigam do vani jug me,
ubi kare bakhan.
raja praja darshan ko aave,
dhin jogi tharo bhav.
fakiri jivat……


braham nikan ka patta likhaya,
din bich ugyo bhan.
hariram bairagi bole,
satguru miliya sujan.
fakiri jivat……


जरूर पढ़ें :- कालो भेरू कला में खेले

जरूर पढ़ें :- मोर मुकुट मुरली वाले ने

फकीरी भजन मारवाड़ी lyrics in Hindi

!! फकीरी जीवत धुके रे मसाण !!

फकीरी जीवत धुके रे मसाण ,कर लेवो निज साय।
जीवत धुके रे मसाण ,फकीरी जीवत धुके रे मसाण।

छ दर्शन छतीसो पाखंड ,मचरही खेचा ताण।
उलट पड़े आ युद्ध के माहि ,जद पडेली जाण।
फकीरी जीवत …..

शीश काट लड़े कोई सूरा ,धड़ से जूझे आण।
आठो पहर सोहलवा गावे ,जद पूछे परयाण।
फकीरी जीवत …..

अनंत कोट साधु जन तापे ,नो नाधा कर जाण।
सूरा तप सहे इण जप को ,कायर तज देवे प्राण।
फकीरी जीवत …..

अगम निगम दो वाणी जुग में ,ऊबी करे बखाण।
राजा प्रजा दर्शन को आवे ,धिन जोगी थारो भाव।
फकीरी जीवत …..

ब्रह्म मिलन का पट्टा लिखाया ,दिन बिच उग्यो भान।
हरिराम बैरागी बोले ,सतगरु मिलिया सुजान।
फकीरी जीवत …..

madan puri ka bhajan video

भजन :- फकीरी जीवत धुके रे मसाण
गायक :- मदन पुरी
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- जाग मुसाफिर देख जरा 

जरूर पढ़ें :- सत री संगत गंगा गोमती

पिछला लेखहेली मारी रंग में रंग मिल जाए भजन लिरिक्स | heli mari rang mein rang mil jaye bhajan lyrics
अगला लेखचाल सखी सत्संग में चला भजन लिरिक्स | chal sakhi satsang me chala bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

4 × one =