बैठी बैठी घटा में भजन लिरिक्स, bethi bethi re gata me bhajan lyrics

801

बैठी बैठी घटा में भजन लिरिक्स

बैठी बैठी घटा में भजन लिरिक्स, bethi bethi re gata me, माता जी का भजन, mata ke bhajan with lyrics,mata ji ke bhajan lyrics

 ।। दोहा।।
भरका भ्रम ने मैटदै , माँ जोगण जोश भराय ।
दुर्गा दुःख ने दुर करे , माँ मरमी पार लगाय ।।


।। बैठी – बैठी घाटा मैं ।।

बैठी – बैठी घाटा मैं ,
जोगण्या लागै प्यारी ।
दूर – दूर आवे जातरी ,
नर ओर नारी ! ओ मैया ।।
दरशण कर सब दुखड़ा कटजा ,
आनंद आवे भारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..


घेर घुमालों पैर घाघरो ,
औड़ कशुमल साड़ी ।
हाथो में त्रिशुल बिराजे ,
खड़ग खरपर धारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..


ढोल नगांरा नोपत बाजे ,
माँदल थाली ।
झालर शंख घडियाला बाजे ,
टोकरां बाजे प्यारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..


निर्धन ने धन देवे ,
दुखड़ा मेटे भारी ।
रोशन लाल थारी महीमा गावें ,
लाज रखज्यों मारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..


जरूर पढ़ें :- राम राम रे भैया राम राम

जरूर पढ़ें :- बिगड़ी कौन सुधारे नाथ बिना

mata ke bhajan with lyrics in English

!! bethi bethi re gata me !!

baithee – baithee ghaata main ,
joganya laagai pyaaree .
door – door aave jaataree ,
nar or naaree ! o maiya ..
darashan kar sab dukhada kataja ,
aanand aave bhaaree ..
baithee – baithee ghaata …..


gher ghumalo pair ghagharo ,
aud kashumal sari .
haatho mein trishul biraaje ,
khadag kharapar dhaaree ..
baithee – baithee ghaata …..


dhol nagaanra nopat baaje ,
maandal thaalee .
jhalar shankh ghadiyala baje ,
tokaraan baaje pyaaree ..
baithee – baithee ghaata …..


nirdhan ne dhan deve ,
dukhada mete bhaaree .
roshan laal thari mahima gave ,
laaj rakhajyon maaree ..
baithee – baithee ghaata …..


जरूर पढ़ें :- मत कर भोली आत्मा

जरूर पढ़ें :- जीव तू मत करना फिकरी

माता जी का भजन lyrics in Hindi

!! बैठी बैठी घटा में !!

बैठी – बैठी घाटा मैं ,जोगण्या लागै प्यारी ।
दूर – दूर आवे जातरी ,नर ओर नारी ! ओ मैया ।।
दरशण कर सब दुखड़ा कटजा ,आनंद आवे भारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..

घेर घुमालों पैर घाघरो ,औड़ कशुमल साड़ी ।
हाथो में त्रिशुल बिराजे ,खड़ग खरपर धारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..

ढोल नगांरा नोपत बाजे ,माँदल थाली ।
झालर शंख घडियाला बाजे ,टोकरां बाजे प्यारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..

निर्धन ने धन देवे ,दुखड़ा मेटे भारी ।
रोशन लाल थारी महीमा गावें ,लाज रखज्यों मारी ।।
बैठी – बैठी घाटा …..

जगदीश वैष्णव के भजन video

 भजन :- बैठी बैठी घाटा में जोगणिया
गायक :- जगदीश वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- ओ पवन वेग से ,उड़ने वाले

जरूर पढ़ें :- मात पिता गुरु प्रभु चरणों में

पिछला लेखराम राम रे भैया राम राम भजन लिरिक्स | ram ram re bhaiya ram ram re aarti lyrics
अगला लेखपवन सुत अंजनी के लाला भजन लिरिक्स | pawan sut anjani ke lala hanuman ji bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

thirteen + 7 =