देवनारायण भगवान की आरती लिरिक्स | devnarayan ji ki aarti lyrics

4751

देवनारायण भगवान की आरती लिरिक्स | devnarayan ji ki aarti lyrics

देवनारायण भगवान की आरती, devnarayan ji ki aarti, श्री देवनारायण की आरती, devnarayan bhajan lyrics, hira lal gurjar bhajan

 ~ देवनारायण जी की आरती ~

जय श्री देव हरे ,
स्वामी जय श्री देव हरे ।
जनम जनम के पातक ,
क्षण में दूर करे ।


उत्पत्ति पालन संहार से ,
प्रभु क्रीड़ा करता ।
देव अर्थ का निशदिन ,
जो हृदये धरता ।।
जय श्री देव ….


सब प्रपंच का सुन लो ,
ईश्वर आधारा ।
नारायण शब्दार्थ लख ,
हरि उर धारा ॥
जय श्री देव ….


देव है ब्रह्मा विष्णु ,
और शंकर देवा ।
देव है गुरु पितृ माता ,
जान करो सेवा ।
जय श्री देव ….


जब जब धर्म नशावे ,
पाप बढ़े भारी ।
तब तब प्रगटो स्वामी ,
भक्तन हितकारी ॥
जय श्री देव ….


धन विद्या तुम देते ,
तुम सब कुछ दाता ।
तुम बिन और नाँहि ,
कोई नहीं आता ।
जय श्री देव ….


इष्ट देव सब जग के ,
हो अन्तर्यामी ।
प्राणी मात्र की रक्षा ,
करते तुम स्वामी ।
जय श्री देव ….


देवनारायण की आरती ,
हित चित से जो गावे ।
भैरा राम मन वांछित ,
फल निश्चित पावे ॥
जय श्री देव ….


जरूर पढ़ें :- विश्वकर्मा जी की आरती

जरूर पढ़ें :- ओम जय गुरुदेव हरे आरती

devnarayan bhajan lyrics in English

!! devnarayan ji ki aarti !!

jay shree dev hare ,
svaamee jay shree dev hare .
janam janam ke paatak ,
kshan mein door kare .


utpatti paalan sanhaar se ,
prabhu kreeda karata .
dev arth ka nishadin ,
jo hrdaye dharata ..
jay shree dev ….


sab prapanch ka sun lo ,
eeshvar aadhaara .
naaraayan shabdaarth lakh ,
hari ur dhaara .
jay shree dev ….


dev hai brahma vishnu ,
aur shankar deva .
dev hai guru pitr maata ,
jaan karo seva .
jay shree dev ….


jab jab dharm nashaave ,
paap badhe bhaaree .
tab tab pragato svaamee ,
bhaktan hitakaaree .
jay shree dev ….


dhan vidya tum dete ,
tum sab kuchh daata .
tum bin aur naanhi ,
koee nahin aata .
jay shree dev ….


isht dev sab jag ke ,
ho antaryaamee .
praanee maatr kee raksha ,
karate tum svaamee .
jay shree dev ….


devanaaraayan kee aaratee ,
hit chit se jo gaave .
bhaira raam man vaanchhit ,
phal nishchit paave .
jay shree dev ….


जरूर पढ़ें :- पीपा जी की आरती

जरूर पढ़ें :- संत लिखमीदास जी की आरती

देवनारायण भजन हिंदी lyrics

!! श्री देवनारायण की आरती !!

जय श्री देव हरे , स्वामी जय श्री देव हरे ।
जनम जनम के पातक , क्षण में दूर करे ।

उत्पत्ति पालन संहार से , प्रभु क्रीड़ा करता ।
देव अर्थ का निशदिन , जो हृदये धरता ।।
जय श्री देव ….

सब प्रपंच का सुन लो , ईश्वर आधारा ।
नारायण शब्दार्थ लख , हरि उर धारा ॥
जय श्री देव ….

देव है ब्रह्मा विष्णु , और शंकर देवा ।
देव है गुरु पितृ माता , जान करो सेवा ।
जय श्री देव ….

जब जब धर्म नशावे , पाप बढ़े भारी ।
तब तब प्रगटो स्वामी , भक्तन हितकारी ॥
जय श्री देव ….

धन विद्या तुम देते , तुम सब कुछ दाता ।
तुम बिन और नाँहि , कोई नहीं आता ।
जय श्री देव ….

इष्ट देव सब जग के , हो अन्तर्यामी ।
प्राणी मात्र की रक्षा , करते तुम स्वामी ।
जय श्री देव ….

देवनारायण की आरती , हित चित से जो गावे ।
भैरा राम मन वांछित , फल निश्चित पावे ॥
जय श्री देव ….

hira lal gurjar bhajan video

आरती :- देवनारायण जी की
सिंगर :- हीरालाल गुर्जर
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- बिगड़ी कौन सुधारे नाथ बिना 

जरूर पढ़ें :- जाग रे नर जाग दीवाना

पिछला लेखविश्वकर्मा जी की आरती लिरिक्स | shri vishwakarma ji ki aarti lyrics
अगला लेखसुंधा माता की आरती लिरिक्स | sundha mata ki aarti lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

two × two =