फकीरी अलबेला रो खेल भजन लिरिक्स | fakiri albela ro khel lyrics

784

फकीरी अलबेला रो खेल भजन लिरिक्स

फकीरी अलबेला रो खेल भजन fakiri albela ro khel lyrics, fakiri bhajan lyrics,फकीरी भजन, sanwarmal saini ke bhajan, सांवरमल सैनी भजन

 ~ अलबेलां रो खेल फकीरी ~

मस्त फकीर फिरे इण जुग में ,
ज्यूं मदछकिया छैल ,
फकीरी , अलबेलां रो खेल ॥


तन की घाणी लाट लगन री ,
मन रा जोतर बैल ।
तमो गुणी तिल पेली रे ओरो ,
परो कडावो तेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥


कर्म काठ री चिता जलावो ,
ज्ञान अगन बिच मेल ।
पाँचों ने मार पच्चीस वश कर ,
एक – एक ने तू ठेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥


बंधी पड़िया बन्दी जन रोवे ,
कुण छुड़ावे गेल ।
फकड़ अकड़ कर आगे बढ़िया ,
तोड़ी जुगत री जेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥


मद पीवे मस्ताना जोगी ,
माल अडाणे मेल ।
भवानीनाथ ‘ पीवे सो जाणे ,
इण गुटकी रो खेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥


जरूर पढ़ें :- सूती होती सात सेज में

जरूर पढ़ें :- संगत करो निर्मल सादरी

fakiri bhajan lyrics in English

!! fakiri albela ro khel !!

mast phakeer phire in jug mein ,
jyoon madachhakiya chhail ,
phakeeree , alabelaan ro khel .


tan kee ghaanee laat lagan ree ,
man ra jotar bail .
tamo gunee til pelee re oro ,
paro kadaavo tel .
alabelaan ro khel phakeeree .


karm kaath ree chita jalaavo ,
gyaan agan bich mel .
paacho ne mar pachchis vash kar ,
ek – ek ne too thel .
alabelaan ro khel phakeeree .


bandhee padiya bandee jan rove ,
kun chhudaave gel .
phakad akad kar aage badhiya ,
todee jugat ree jel .
alabelaan ro khel phakeeree .


mad peeve mastaana jogee ,
maal adaane mel .
bhavaaneenaath peeve so jaane ,
in gutakee ro khel .
alabelaan ro khel phakeeree .


जरूर पढ़ें :- अब कैसे होवे जग में जीवन

जरूर पढ़ें :- हेली मारी बाहर भटके कई

फकीरी भजन lyrics in Hindi

!! फकीरी अलबेला रो खेल !!

मस्त फकीर फिरे इण जुग में , ज्यूं मदछकिया छैल ,
फकीरी , अलबेलां रो खेल ॥

तन की घाणी लाट लगन री , मन रा जोतर बैल ।
तमो गुणी तिल पेली रे ओरो , परो कडावो तेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥

कर्म काठ री चिता जलावो , ज्ञान अगन बिच मेल ।
पाँचों ने मार पच्चीस वश कर , एक – एक ने तू ठेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥

बंधी पड़िया बन्दी जन रोवे , कुण छुड़ावे गेल ।
फकड़ अकड़ कर आगे बढ़िया , तोड़ी जुगत री जेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥

मद पीवे मस्ताना जोगी , माल अडाणे मेल ।
भवानीनाथ ‘ पीवे सो जाणे , इण गुटकी रो खेल ॥
अलबेलां रो खेल फकीरी ॥

सांवरमल सैनी भजन video

भजन :-  अलबेलां रो खेल फकीरी
गायक :- श्याम वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- मेरे घर के आगे साईनाथ

जरूर पढ़ें :- कमर कसी तलवार धारवी

पिछला लेखसूती होती सात सेज में म्हारी हेली भजन लिरिक्स | suti hoti sat sej me mari heli bhajan lyrics
अगला लेखउभी मैं सरवर तीर भजन लिरिक्स | ubi me sarvar teer bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

4 + nineteen =